REPORT: भारत में बढ़ेगी सोने की स्‍मगलिंग

News18Hindi
Updated: August 3, 2017, 11:37 AM IST
REPORT: भारत में बढ़ेगी सोने की स्‍मगलिंग
देश में घटेगा सोने का इंपोर्ट, बढ़ेगी स्‍मगलिंग: वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल
News18Hindi
Updated: August 3, 2017, 11:37 AM IST
वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (डब्ल्यूजीसी) की गुरुवार को जारी हुई रिपोर्ट में कहा गया है कि जीएसटी लागू होने के बाद पहले छह महीने में इंडिया की ओर से सोने के इंपोर्ट में गिरावट आने का अनुमान है. साथ ही, टैक्स ज्यादा होने के चलते देश में इस साल सोने की स्‍मगलिंग बढ़ सकती है. आपको बता दें कि दुनियाभर में अप्रैल-जून तिमाही के दौरान सोने की डिमांड 10 फीसदी गिरकर 953 टन रह गई है. सोने की डिमांड गिरने के पीछे मुख्य वजह सेफ हेवन इन्वेस्टमेंट (सुरक्षित निवेश) में आई कमी है.

भारत में सोने की डिमांड 30 फीसदी बढ़कर 298.4 टन 
भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा गोल्ड कंज्यूमर देश है. डब्ल्यूजीसी की रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल-जून तिमाही) के दौरान भारत में सोने की डिमांड 30 फीसदी बढ़कर 298.4 टन पर पहुंच गई है. वहीं, इंपोर्ट दोगुना होकर 518.6 टन रहा है.

भारत में क्यों बढ़ी डिमांड

डब्ल्यूजीसी के इंडिया ऑपरेशंस के एमडी सोमसुंदरम पीआर कहते हैं कि जीएसटी में सोने पर टैक्स रेट बढ़ने की आशंका के चलते अप्रैल-जून तिमाही में सोने की डिमांड भारत में बढ़ती हुई दिखी है.

डब्ल्यूजीसी का मानना है कि भारत की ओर से अगले छह महीने में सोने की डिमांड बढ़ने की संभावना नजर नहीं आ रही है. आपको बता दें कि अक्सर दीवाली और दशहरे के चलते इस छमाही में सोने की डिमांड काफी बेहतर रहती है.

बढ़ेगी स्‍मगलिंग
सोमसुंदरम पीआर कहते हैं कि पिछले साल के मुकाबले इस साल स्‍मगलिंग बढ़ने की आशंका है. दरअसल ज्यादा टैक्स के चलते ग्रे मार्केट में कारोबार करने वालों को ज्यादा मार्जिन्स मिल रहे हैं. पिछले साल करीब 120 टन सोने की स्‍मगलिंग हुई थी.

डिमांड बढ़ने के बावजूद नहीं बढ़ाया अनुमान
मौजूदा वित्त वर्ष में सोने की जबरदस्त डिमांड के बावजूद डब्ल्यूजीसी ने आगे के छह महीनों के लिए भारत में सोने के डिमांड अनुमान को नहीं बढ़ाया है. आपको बता दें कि इस साल के लिए डब्ल्यूजीसी ने भारत में सोने की डिमांड 650 से 750 टन रहने का अनुमान दिया है. यह पिछले 10 साल के औसत अनुमान 845 टन से काफी नीचे है.
First published: August 3, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर