होम /न्यूज /व्यवसाय /Doorstep Banking: क्या होती है डोरस्टेप बैंकिंग, कौन उठा सकते हैं इसका लाभ?

Doorstep Banking: क्या होती है डोरस्टेप बैंकिंग, कौन उठा सकते हैं इसका लाभ?

कुछ बैंक अपने सभी ग्राहकों को डोरस्टेप बैंकिंग फैसिलिटी देते हैं. (फ़ोटो: न्यूज18)

कुछ बैंक अपने सभी ग्राहकों को डोरस्टेप बैंकिंग फैसिलिटी देते हैं. (फ़ोटो: न्यूज18)

बैंकिंग से जुड़े जो काम ऑनलाइन कर पाना संभव नहीं है, उनके लिए कई बैंकों ने अब डोरस्टेप बैंकिंग फैसिलिटी शुरू की है. अब ग ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

डोरस्टेप बैंकिंग फैसिलिटी सीनियर सिटीजन और विकलांगों के लिए शुरू की गई थीं.
बैंकों की ओर से इन सर्विसेज की एवज में कुछ चार्ज भी लिया जाता है.
कुछ बैंक के एक निश्चित दायरे में ही ये सर्विसेज उपलब्ध कराते हैं.

नई दिल्ली. आजकल बैंकिंग से जुड़े ज्यादातर काम हम घर बैठे ही ऑनलाइन कर सकते हैं. लेकिन कैश निकालने, चेक जमा करने, पैसे जमा करने जैसे कामों के लिए आपको अब भी बैंक जाना पड़ता है. हालांकि अब ये सर्विसेज भी अब बैंकों की ओर से डोरस्टेप पर मुहैया कराई जाती है लेकिन इनके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं. आज हम आपको यही बताने जा रहे हैं कि डोरस्टेप बैंकिंग क्या होती है और कौन इसका लाभ उठा सकता है?

बैंकों की ओर से डोरस्टेप फैसिलिटी सीनियर सिटीजन और विकलांगों के लिए शुरू की गई थीं लेकिन कुछ बैंक अपने सभी ग्राहकों के लिए ये सर्विसेज उपलब्ध कराते हैं. इन सर्विसेज में कैश जमा करवाने के लिए कैश पिकअप, कैश निकालने के लिए कैश डिलीवरी और चेक डिपॉजिट और वित्तीय लेनदेन की फैसिलिटीज शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- FD पर मिल रहा 8 फीसदी का जोरदार ब्याज, इस बैंक की स्पेशल स्कीम

कौन से बैंक दे रहे हैं डोर-स्टेप फैसिलिटी?
वर्तमान में देश के कई बैंक अपने ग्राहकों को डोर-स्टेप फैसिलिटी मुहैया करा रहे हैं. इनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक आदि शामिल हैं. हालांकि बैंकों की ओर से इन सर्विसेज की एवज में कुछ चार्ज भी लिया जाता है जो सभी बैंकों में अलग-अलग होता है.

कैसे उठाएं डोर-स्टेप बैंकिंग सर्विसेज का फायदा?
बैंक की डोर-स्टेप बैंकिंग सर्विसेज के लिए आप बैंकों के कस्टमर केयर से बात करके या बैंकों की वेबसाइट पर जाकर दिए निर्देशों का पालन करके डोरस्टेप फैसिलिटी का फायदा उठा सकते हैं. हाल में कई बैंकों ने अपने सीनियर सिटीजन ग्राहकों को लाइफ सर्टिफिकेट जमा करवाने के लिए भी ये सर्विस मुहैया कराई थी.

डोरस्टेप बैंकिंग में कितना लगता है चार्ज?
डोरस्टेप बैंकिंग सर्विसेज के लिए बैंकों में चार्ज अलग-अलग होता है. जैसे एचडीएफसी बैंक कैश पिकअप और डिलीवरी के लिए 200 रुपये और टैक्स का चार्ज ले रहा है. हालांकि एचडीएफसी बैंक फिलहाल ये सर्विसेज सिर्फ सीनियर सिटीजंस को ही दे रहा है. बैंक कम से कम 5 हजार रुपये और अधिकतम 25 हजार रुपये की कैश डिलीवरी करता है. वहीं ये बैंक बाकी फाइनेंशियल ट्रांजैक्शनल सर्विस के लिए 100 रुपये और टैक्स के चार्ज के साथ डोरस्टेप बैंकिंग फैसिलिटी दे रहा है.

डोरस्टेप सर्विसेज लेते समय इन बातों का रखें ध्यान
बैंक से डोरस्टेप सर्विस रिक्वेस्ट करते समय इस बात का ध्यान रखें कि ये सर्विस फ्री नहीं होती हैं. आपको इनका चार्ज देना होता है. पूरी तरह से केवाईसी वैरिफाइड अकाउंटहोल्डर्स को ही ये सर्विस मिलती है. वहीं कुछ बैंक के एक निश्चित दायरे में ही ये सर्विसेज देते हैं. जैसे बैंक की ब्रांच के 3-5 किलोमीटर के दायरे में रहने वाले लोग ही डोरस्टेप बैंकिंग सर्विसेज का फायदा उठा सकते हैं.

Tags: Banking, Business news, Business news in hindi, Hdfc bank, Net banking, Online banking

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें