Home /News /business /

what is emergency fund and how to make it investment money making tips ssnd

अचानक पैसों की जरूरत को पूरा करता है 'इमरजेंसी फंड', जानें कैसे करें तैयार

अपनी जरूरत और बाजार की स्थिति के आधार पर मार्केट एक्सपर्ट की सलाह लेकर इमरजेंसी फंड तैयार करना चाहिए.

अपनी जरूरत और बाजार की स्थिति के आधार पर मार्केट एक्सपर्ट की सलाह लेकर इमरजेंसी फंड तैयार करना चाहिए.

इमरजेंसी फंड आपका इकट्ठा किया हुआ वह पैसा होता है जो अचानक आ पड़ने वाले आर्थिक संकट से निपटने के काम आता है. इमरजेंसी फंड होने से आपको अपने निवेश से छेड़छाड़ नहीं करनी पड़ेगी, आपको किसी के आगे हाथ फैलाना नहीं पड़ेगा और घर-परिवार पर कोई विपरीत असर नहीं पड़ेगा.

अधिक पढ़ें ...

Personal Finance: जीवन जोखिमों से भरा होता है. अच्छी खासी जीवन की गाड़ी कब एकदम से गड्डे में गिर जाए, कब हिचकोले खाने लगे, कहा नहीं जा सकता. और ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं है जिसके जीवन में ऊंच-नीच का दौर ना आता हो. इसलिए बुर वक्त का डटकर मुकाबला करने के लिए आपात कोष यानी इमरजेंसी फंड बनाकर जरूर रखना चाहिए. क्योंकि, बाजार होती दुनिया में किसी भी परिस्थिति में केवल पैसा ही काम आता है.

कोरोना महामारी के बाद से तो लोग और ज्यादा सचेत हो गए हैं. जीवन के प्रति लोगों का नजरिया बदल गया है. इसलिए ज्यादातर लोग बचत पर फोकस कर रहे हैं. आने वाले समय के लिए हम-आप में से ज्यादातर लोग पाई-पाई जोड़कर निवेश करते हैं लेकिन इमरजेंसी पड़ने पर हम भविष्य के लिए जोड़कर रखे पैसे का ही इस्तेमाल करते हैं. इससे कुछ समय के लिए आया आर्थिक समस्या तो हल हो जाती है लेकिन भविष्य अंधकारमय हो जाता है. इसलिए तत्काल आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के लिए इमरजेंसी फंड जरूर बनाना चाहिए.

क्या होता है इमरजेंसी फंड
इमरजेंसी फंड आपका इकट्ठा किया हुआ वह पैसा होता है जो अचानक आ पड़ने वाले आर्थिक संकट से निपटने के काम आता है. इमरजेंसी फंड होने से आपको अपने निवेश से छेड़छाड़ नहीं करनी पड़ेगी, आपको किसी के आगे हाथ फैलाना नहीं पड़ेगा और घर-परिवार पर कोई विपरीत असर नहीं पड़ेगा. इमरजेंसी फंड का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसके होने से आपके अंदर आत्मविश्वास बना रहता है. आप चिंता मुक्त होकर आगे की प्लानिंग कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें- सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से 7 कंपनियों का मार्केट कैप 1.16 लाख करोड़ रुपये बढ़ा

एक्सपर्ट कहते हैं कि इमरजेंसी फंड आपकी कम से कम छह महीने के कमाई के बराबर होना चाहिए. अगर आप 50,000 रुपये महीने कमाते हैं तो आपके पास 3 लाख रुपये का इमरजेंसी फंड होना चाहिए. इस पैसे को ऐसी जगह निवेश करना चाहिए, जहां यह लंबे समय के लिए ब्लॉक न हो. जरूरत पड़ने पर फौरन इस फंड का इस्तेमाल किया जा सके.

कैसे करें तैयार
अपनी जरूरत और बाजार की स्थिति के आधार पर मार्केट एक्सपर्ट की सलाह लेकर इमरजेंसी फंड तैयार करना चाहिए. इमरजेंसी फंड के लिए पैसे को सुरक्षित जगहों पर निवेश करना चाहिए, जहां बाजार का जोखिम कम हो. इसके लिए सरकारी स्कीम अच्छा माध्यम हैं.

बैंक में एफडी और आरडी
मार्केट एक्सपर्ट कहते हैं कि इमरजेंसी फंड को बैंक में एफडी करके सुरक्षित रखना चाहिए. कुछ बैंक 1 साल या इससे भी कम समय के लिए एफडी करवाते हैं. अलग-अलग समय की एफडी पर बैंक अलग-अलग ब्याज देते हैं.

इमरजेंसी फंड के कुछ पैसे को पोस्ट ऑफिस या बैंक में आरडी के रूप में भी जमा कर सकते हैं. पोस्ट ऑफिस में आरडी पर 5.8 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है. बैंकों में 4 से 6 फीसदी के बीच ब्याज मिल रहा है.

बॉन्ड से बचें
किसी भी आपात फंड को स्‍टॉक या बॉन्‍ड में कभी नहीं रखना चाहिए, क्‍योंकि इमरजेंसी फंड्स ज्यादातर मंदी के दौर में उपयोग किया जाता है और इस समय स्टॉक और बॉन्ड शायद कम कीमतों पर कारोबार कर रहें होंगे, जिससे आपको अपने कॉर्पस को निचले स्तर पर बेचने के लिए मजबूर होना पड़ेगा. इस कदम से आपके कॉर्पस का मूल्य घट जाएगा, जो आपके खर्चों को कवर करने के लिए शायद पर्याप्‍त न हो.

Tags: Business news, Emergency, Investment tips, Personal finance

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर