Home /News /business /

बिल्डर हो गया दिवालिया तो ऐसे डूबने से बचाएं अपना पैसा और पाएं घर

बिल्डर हो गया दिवालिया तो ऐसे डूबने से बचाएं अपना पैसा और पाएं घर

हम आपको बता रहे हैं कि अगर आपका बिल्डर दिवालिया हो गया तो आपको क्या करना चाहिए, जिससे आपकी रकम भी ना डूबे और आपको अपना घर भी मिल जाए...

हम आपको बता रहे हैं कि अगर आपका बिल्डर दिवालिया हो गया तो आपको क्या करना चाहिए, जिससे आपकी रकम भी ना डूबे और आपको अपना घर भी मिल जाए...

हम आपको बता रहे हैं कि अगर आपका बिल्डर दिवालिया हो गया तो आपको क्या करना चाहिए, जिससे आपकी रकम भी ना डूबे और आपको अपना घर भी मिल जाए...

    अपना घर हर किसी का सपना होता है. लोग अपने रोजमर्रा के खर्च से पैसे जुटाकर घर खरीदने के लिए जमा करते हैं और उनसे अपने सपने के घर को पूरा करते हैं. घर बुक करने के बाद आपको पता चला कि जिस बिल्डर के पास आपने फ्लैट बुक कराई है, वह दिवालिया हो गया है, तो आपके पैरों तले से जमीन ही खिसक जाएगी. लेकिन ऐसी स्थिति में आपको घबराने की जरूरत नहीं. हम आपको बता रहे हैं कि अगर आपका बिल्डर दिवालिया हो गया तो आपको क्या करना चाहिए, जिससे आपकी रकम भी ना डूबे और आपको अपना घर भी मिल जाए...

    सिक्का बिल्डर भी दिवालिया होने की कतार में
    आम्रपाली और जेपी के बाद अब एक और बिल्डर पर दिवालिया प्रक्रिया शुरू हो गई है. इस बिल्डर का नाम है सिक्का बिल्डर. इसके लिए आईआरपी नियुक्त कर दिया गया है.

    ये भी पढ़ें: PM आवास योजना में ठगी पर लगेगी लगाम, 24 से 48 घंटे में होगी गिरफ्तारी

    ग्राहकों के पास क्या हैं ऑप्शन- अगर आपका बिल्डर दिवालिया हो गया है तो ग्राहकों के पास कई ऑप्शन हैं. ग्राहक अपना क्लेम लेने के लिए दावा फॉर्म भर सकते हैं. इसके लिए जितनी राशि बिल्डर को दी गई है वह डिटेल भरें. कंपनी अगर दिवालिया हुई और प्रोजेक्ट पूरा नहीं हुआ तो रकम वापसी की मांग की जा सकती है, लेकिन यह कंपनी की रीस्ट्रक्चरिंग पूरी होने तक संभव नहीं है. रकम रिकवरी की प्रक्रिया रिवाइवल प्लान फेल होने पर ही हो सकती है. खरीदार अथॉरिटी पर रिकवरी के लिए दबाव बना सकते हैं या ग्राहक घर बनवाने के लिए भी मांग रख सकते हैं. घर खरीदारों को इंसाफ मिले, यह संबंधित अथॉरिटी की जिम्मेदारी है.

    ये भी पढ़ें: घर खरीदने वालों को मिलेगा बड़ा तोहफा! मोदी सरकार अगले महीने कर सकती है ऐलान

    पूरी करें प्रक्रिया-
    >> दिवालियापन की प्रक्रिया शुरू होने के बाद उस कंपनी के लिए नियुक्त अधिकारी के निर्देशों का पालन करें.
    >> आपको कई बार फॉर्म भरने के लिए बोला जा सकता है, साथ ही कंपनी को चुकाए गए रकम के सबूत और बिल्डर-बायर एग्रीमेंट आदि की कॉपी देनी पड़ सकती है.
    >> अगर आपने होम लोन लिया है तो उसकी किस्त चुकाना जारी रखें.
    >> अगर किसी प्रोजेक्ट के बायर का ग्रुप कोर्ट जा रहा हो तो उसमें शामिल हो जाएं. कोर्ट का कोई भी फैसला सभी बायर और इंडस्ट्री के लिए नजीर साबित होता है.
    >> संबंधित अथॉरिटी से संपर्क में रहें और बिल्डर पर कोई भी कार्रवाई से अपडेट रहें.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Business news in hindi, Buying a home, Home loan EMI, Indian real estate sector, Real estate, Real estate market, RERA

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर