होम /न्यूज /व्यवसाय /

ITR Update : समय बीतने के बाद भी नहीं मिला रिफंड तो कहां करें शिकायत, कैसे आयकर विभाग से वापस पाएं अपना पैसा?

ITR Update : समय बीतने के बाद भी नहीं मिला रिफंड तो कहां करें शिकायत, कैसे आयकर विभाग से वापस पाएं अपना पैसा?

आईटीआर भरने की अंतिम तिथि 31 जुलाई, 2022 थी.

आईटीआर भरने की अंतिम तिथि 31 जुलाई, 2022 थी.

आयकर विभाग अपने करदाताओं के आईटीआर का मूल्‍यांकन करने के बाद अब रिफंड भेजना शुरू कर रहा है. ज्‍यादातर करदाताओं को अपने रिफंड का बेसब्री से इंतजार होगा लेकिन समय बीतने के बावजूद आपको रिफंड नहीं मिला या विभाग ने इसे रिजेक्‍ट कर दिया है तो आप दोबारा इसकी रिक्‍वेस्‍ट डाल सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

आयकर विभाग अमूमन 25 दिन से लेकर 60 दिन के भीतर आपका रिफंड प्रोसेस कर देता है.
आप चाहें तो अपना रिफंड दोबारा प्रोसेस करने की रिक्‍वेस्‍ट आयकर विभाग को भेज सकते हैं.
रिफंड पाने से पहले यह जरूर चेक कर लें कि आपका बैंक खाता पहले से वैलिडेट है या नहीं.

नई दिल्‍ली. आयकर विभाग ने आकलन वर्ष 2022-23 का रिफंड भेजना शुरू कर दिया है. जिन करदाताओं ने जुलाई की शुरुआत में ही अपना आयकर रिटर्न भर दिया था, उन्‍हें विभाग की ओर से रिफंड मिलने लगा है.

आयकर विभाग अमूमन 25 दिन से लेकर 60 दिन के भीतर आपका रिफंड प्रोसेस कर देता है. अगर समय बीतने के बावजूद आपका रिफंड नहीं आया है तो घबराने की जरूरत नहीं. आप चाहें तो अपना रिफंड दोबारा प्रोसेस करने की रिक्‍वेस्‍ट आयकर विभाग को भेज सकते हैं. रिफंड पाने से पहले यह जरूर चेक कर लें कि आपका बैंक खाता पहले से वैलिडेट है या नहीं. अगर सबकुछ सही है तो आप ई-फाइलिंग पोर्टल पर जाकर सर्विस रिक्‍वेस्‍ट का आवदेन कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें – 31 जुलाई के बाद भरा है ITR तो ई-वेरिफिकेशन को मिलेंगे बस 30 दिन, जल्‍द करें यह काम, ऑनलाइन ऐसे करें वेरिफाई

सर्विस रिक्‍वेस्‍ट से पहले यह चेक करना न भूलें
आगर आपको अपना रिफंड री-इश्‍यू कराने के लिए अनुरोध करना है तो पहले यह जरूर देखें कि टिन-एनएसडीएल की वेबसाइट पर आपका रिफंड रिजेक्‍ट दिखा रहा है या नहीं. इसके लिए आप अपने रिफंड को ट्रैक भी कर सकते हैं. अगर आपका रिफंड स्‍टेटस नहीं दिखा रहा या ई-फाइलिंग वेबसाइट पर रिफंड को रिजेक्‍ट करने का कारण नहीं बताया गया है तो आप अपने रिफंड को री-इश्‍यू करने की रिक्‍वेस्‍ट नहीं डाल पाएंगे. ऐसी स्थिति में आप ई-फाइलिंग पोर्टल ई-निवारण टैब के जरिये अपना शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

कैसे डालें रिफंड री-इश्‍यू करने की रिक्‍वेस्‍ट
-सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट www.incometaxindiaefiling.gov.in पर जाएं.
-‘माई अकाउंट’ मेनू पर क्लिक करने के बाद फिर ‘सर्विस रिक्वेस्ट’ लिंक पर क्लिक करें.
– ‘न्यू रिक्वेस्ट’ के तौर पर रिक्वेस्ट टाइप को सेलेक्ट करें. ‘रिफंड रीइश्यू’ के तौर पर ‘रिक्वेस्ट कैटेगरी’ को सेलेक्ट करें और फिर सबमिट बटन दबाएं.
-इसके बाद पेज पर पैन, रिटर्न का प्रकार, एसेसमेंट ईयर, एकनॉलेजमेंट नंबर, कम्यूनिकेशन रेफरेंस नंबर, रिफंड रिजेक्‍ट होने का कारण और रेस्पॉन्स दिखाई देगा.
-अब आप ‘रेस्पॉन्स’ कॉलम में ‘सबमिट हाइपरलिंक पर क्लिक करें. इससे प्री वैलिडेट बैंक खाते दिखने लगेगे, जहां इनेबल किया गया ईवीसी भी दिखाई देगा.
-आप जिस खाते में रिफंड चाहते हैं उसे सेलेक्‍ट कर कंटीन्‍यू पर क्लिक करें.
-सभी डिटेल सही होने पर ‘ओके’ पर क्लिक करें. इसके बाद डायलॉग बॉक्स में ई-वेरिफिकेशन के लिए विकल्प दिखेंगे. ई-वेरिफिकेशन के उचित मोड को चुनें. रिक्‍वेस्‍ट जमा करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन कोड (EVC)/आधार ओटीपी को जेनरेट कर उसे डालें.
-आपके स्‍क्रीन पर रिफंड री-इश्यू सब्मिशन की पुष्टि करते हुए ‘सक्सेस’ का मैसेज दिखेगा.

रिफंड री-इश्‍यू का स्‍टेटस कैसे चेक करें
-सबसे पहले ऑफिशियल पोर्टल www.incometaxindiaefiling.gov.in पर जाएं.
-यहां माई अकाउंट पर जाकर सर्विस रिक्‍वेस्‍ट सेलेक्‍ट करें और व्‍यू रिक्‍वेस्‍ट के तौर पर रिक्‍वेस्‍ट टाइप को चुनें. इसके बाद रिफंड री-इश्‍यू के तौर पर रिक्‍वेस्‍ट कैटेगरी का चुनाव करें.
-आखिर में सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आपका स्‍टेटस मिल जाएगा.

Tags: Business news in hindi, IT refund, ITR, ITR filing

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर