होम /न्यूज /व्यवसाय /1 रुपये का सिक्का लेने से मना करे दुकानदार तो क्या करेंगे आप? क्या है RBI की गाइडलाइन

1 रुपये का सिक्का लेने से मना करे दुकानदार तो क्या करेंगे आप? क्या है RBI की गाइडलाइन

आरबीआई के दिशा-निर्देशों के अनुसार, डाकघर सभी प्रकार के नोट और सिक्के स्वीकार करते हैं.

आरबीआई के दिशा-निर्देशों के अनुसार, डाकघर सभी प्रकार के नोट और सिक्के स्वीकार करते हैं.

आरबीआई के दिशा-निर्देशों के अनुसार, डाकघर सभी प्रकार के नोट और सिक्के स्वीकार करते हैं. तो आप 1 रुपये का सिक्का डाकघर म ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. आपके पास 1 रुपये का सिक्का तो जरूर होगा. क्या हो अगर आप किसी दुकान पर जाएं और दुकानदार सिक्का लेने से इनकार कर दे? बहुत से लोगों को 10 रुपये से सिक्के में तो ये समस्या आई थी, लेकिन इन दिनों लोग 1 रुपये को लेकर भी ऐसी ही शिकायतें कर रहे हैं. यदि आपके साथ भी ऐसा होता है तो आप क्या कर सकते हैं?

आरबीआई के दिशा-निर्देशों के अनुसार, डाकघर सभी प्रकार के नोट और सिक्के स्वीकार करते हैं. तो आप 1 रुपये का सिक्का डाकघर में जमा कर सकते हैं या अपने पास के डाकघर से कुछ खरीद भी सकते हैं. मतलब डाकघर को आपका सिक्का स्वीकार करना ही होगा.

ये भी पढ़ें – मनी की बात: अस्थिर बाजार में अच्छा प्रॉफिट चाहिए तो इन 2 स्टॉक्स पर लगा सकते हैं दांव

व्यक्ति ने की ट्विटर पर शिकायत

दरअसल, एक व्यक्ति ने ट्विटर पर आरबीआई, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, और उनके ऑफिस को टैग करते हुए शिकायत की थी. सुधांशु दुबे नाम के ट्विटर अकाउंट से 1 रुपये के सिक्के की तस्वीर शेयर करते हुए पूछा गया था कि क्या इस प्रकार के सिक्के भारत में बंद हो गए हैं? अगर हां, तो वह सिक्के कहां जमा होंगे, जो लोगों के पास हैं और यदि नहीं दुकान के अवाला भारतीय डाक के ऑफिस में ये सिक्के लेने से मना कैसे किया जा सकता है?

News18 Hindi

इंडिया पोस्ट ने दिया जवाब

इसके जवाब में इंडिया पोस्ट (भारतीय डाक) ने लिखा कि महोदय, आर.बी.आई द्वारा जारी सभी प्रकार के सिक्के एवं नोट डाकघर द्वारा लिए जाते हैं. आपकी शिकायत का सन्दर्भ ग्रहण करते हुए सम्बंधित डाकघर को निर्देशित किया जाता है कि वह आर.बी.आई द्वारा जारी सभी प्रकार के सिक्के एवं नोट स्वीकार करें. आपको हुई असुविधा के लिए खेद है.

क्या कहा है रिजर्ब बैंक ऑफ इंडिया

26 जून 2019 को एक आधिकारिक अधिसूचना के माध्यम से भारतीय रिजर्व बैंक ने लोगों से अफवाहों पर विश्वास न करने और सभी सिक्कों को लेन-देन के लिए कानूनी निविदा के रूप में स्वीकार करने की अपील की थी. मतलब ये कि RBI द्वारा जारी किए गए सभी सिक्के वैध हैं और स्वीकार्य हैं.

ये भी पढ़ें – LIC IPO : अधिकारियों ने मंत्री समूह को दी आईपीओ इसी महीने लॉन्च करने की सलाह

RBI ने कहा था, “भारत सरकार द्वारा ढाले गए सिक्कों को भारतीय रिजर्व बैंक प्रचलन में रखता है. इन सिक्कों में विशिष्ट विशेषताएं हैं. जनता की लेन-देन की जरूरतों को पूरा करने के लिए नए मूल्यवर्ग के सिक्के और विभिन्न विषयों -आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक- को प्रतिबिंबित करने के लिए नए डिजाइन में सिक्के समय-समय पर पेश किए जाते हैं. चूंकि सिक्के लंबी अवधि के लिए प्रचलन में रहते हैं, विभिन्न डिजाइनों और आकारों के सिक्के एक ही समय में सर्कुलेट होते हैं. वर्तमान में, 50 पैसे, ₹ 1/-, 2/-, 5/- और 10/- के विभिन्न आकार, थीम और डिज़ाइन के सिक्के प्रचलन में हैं.”

Tags: India post, Indian currency, RBI

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें