Home /News /business /

which one is beneficial to choose from bank post office or nbfc for fixed deposit pmgkp

Bank, Post Office या NBFC में से फिक्स डिपोजिट के लिए किसको चुनना फायदेमंद, समझिए निवेश रणनीति

भारत में, FD ब्याज दरें RBI के नियमों द्वारा नियंत्रित होती हैं.

भारत में, FD ब्याज दरें RBI के नियमों द्वारा नियंत्रित होती हैं.

ज्यादातर निवेश के मामलों में जोखिम और रिटर्न विपरीत रूप से जुड़े होते हैं. हालांकि, सावधि जमा यानी फिक्स्ड डिपोजिट कम जोखिम वाले होते हैं और अच्छे रिटर्न की पेशकश करते हैं.

मुंबई . प्रत्येक निवेश माध्यम के अपने फायदे और नुकसान होते हैं, जिन्हें निवेश करने से पहले ध्यान में रखने की आवश्यकता होती है. अधिकतम रिटर्न के लिए सबसे अधिक ब्याजदर वाले माध्यम में निवेश सही रहता है. इसके साथ ही किस निवेश में कितना जोखिम है यह भी महत्वपूर्ण प्वाइंट होता है.  ज्यादातर परिस्थितियों में, जोखिम और रिटर्न विपरीत रूप से जुड़े होते हैं. हालांकि, सावधि जमा यानी फिक्स्ड डिपोजिट कम जोखिम वाले होते हैं और अच्छे रिटर्न की पेशकश करते हैं.

बैंक
निवेशकों के बीच बैंक एफडी खाता सबसे आम और पारंपरिक निवेश विकल्प है. साथ ही, यह NBFC और पोस्ट ऑफिस की तुलना में भारत में FD का सबसे अधिक सब्सक्राइब्ड माध्यम है. एफडी पर कॉमर्शियल बैंकों द्वारा दी जाने वाली ब्याज दर की निगरानी भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) करता है. रेपो दरों में आरबीआई की कटौती से बैंकों द्वारा दी जाने वाली ब्याज दरों में कमी आई है. नतीजतन, पैसा मेच्योर होने पर मिलने वाला रिटर्न कम हो जाता है.

यह भी पढ़ें- Gautam Adani के 60 साल पूरे होने पर अडानी ग्रुप के टॉप-5 मल्टीबैगर स्टॉक, निवेशकों को दिया सैकड़ों गुना रिटर्न

NBFC
भारत में, FD ब्याज दरें RBI के नियमों द्वारा नियंत्रित होती हैं.  NBFC के मामले में, RBI की NBFC पर सीधी नजर नहीं होती. आम तौर पर नीतिगत दरों में कमी के कारण होने वाले परिवर्तनों का इन पर सीधा असर कम होता है. परिणामस्वरूप, बैंकों और डाकघरों दोनों द्वारा पेश किए जाने वाले FD प्लान की तुलना में एनबीएफसी का FD अधिक आकर्षक होता है. NBFC FD अपनी उच्च FD दरों के कारण सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है, हालांकि इसमें खतरा भी ज्यादा है.

डाकघर
बैंकिंग संस्थाओं के अलावा, डाकघर सावधि जमा एक अन्य विकल्प है. डाकघर भी भारत सरकार के अधीन आता है. पोस्ट ऑफिस इंडिया एक साल से पांच साल तक की उत्कृष्ट ब्याज दरों और शर्तों के साथ फिक्स डिपोजिट की सुविधा देता है. ब्याज का भुगतान वार्षिक रूप से किया जाता है, जिसमें न्यूनतम जमा राशि 1,000 रुपये होती है. सरकार के अधीन आने के कारण यह सुरक्षित है. एनआरआई को छोड़कर, कोई भी इन एफडी में निवेश कर सकता है.

यह भी पढ़ें- अडाणी समूह देंगे अब तक का सबसे बड़ा दान, 60 हजार करोड़ रुपये स्वास्थ्य और शिक्षा में खर्च करने का वादा

किसी भी तरह का निवेश, चाहे वह एफडी में हो या बैंक, एनबीएफसी, या डाकघर में नियमित जमा हो, विभिन्न कारकों जैसे ब्याज दर, जोखिम, लॉक-इन अवधि और अन्य चीजों पर विचार करने के बाद किया जाना चाहिए. बिना किसी शोध के निवेश करना आपकी पूंजी को नुकसान पहुंचा सकता है.

Tags: Bank FD, Investment and return, Post Office, Post office MIS

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर