Home /News /business /

काम की बात : जानें किस राशन कार्ड पर कितना मिलता है अनाज

काम की बात : जानें किस राशन कार्ड पर कितना मिलता है अनाज

हर वर्ग के हिसाब से सरकारें अलग अलग राशन कार्ड बनाती हैं.

हर वर्ग के हिसाब से सरकारें अलग अलग राशन कार्ड बनाती हैं.

अलग अलग राशन कार्ड पर हर महीने 10 से 35 किलोग्राम अनाज प्रति परिवार दिया जाता है. इसकी कीमत बाजार भाव से कई गुना कम रहती है. योजना का मकसद समाज के अति पिछड़े और गरीब व्‍यक्तियों को खाद्य सुरक्ष मुहैया कराना और उन्‍हें समाज की मूल धारा में वापस लाना है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. राज्‍य और केंद्र सरकारें गरीबों और जरूरतमंदों को बेहद मामूली कीमत पर जरूरी अनाज मुहैया कराती हैं. लाभार्थियों की पहचान के लिए अलग-अलग राशन कार्ड भी जारी किए जाते हैं. हर राशन पर मिलने वाले अनाज की मात्रा भी तय रहती है.

कोरोना महामारी के दौर में वैसे तो मोदी सरकार सरकार ने 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज बांटने का ऐलान किया था, जिसका लाभ मार्च, 2022 तक दिया जाना है. इसके अलावा भी विभिन्‍न योजनाओं के तहत राशन बांटे जाते हैं. हालांकि, इसमें मुफ्त राशन तो नहीं मिलता है लेकिन बाजार भाव से बेहद कम कीमत पर जरूरतमंदों को अनाज मुहैया कराया जाता है. हम आपको बता रहे हैं कि किस राशन कार्ड पर किसे और कितना अनाज दिया जाता है.

ये भी पढ़ें – अमेजन-फ्लिपकार्ट से करनी है शॉपिंग, इन एप पर मिलेगा बंपर कैशबैक

अंत्‍योदय अन्‍न योजना राशन कार्ड
इस योजना के लाभार्थियों को हर महीने प्रति परिवार 35 किलो राशन मिलता है, जिसमें 20 किलो गेहूं और 15 किलो चावल शामिल है। लाभार्थी 2 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव से गेहूं और 3 रुपये किलो के भाव से चावल खरीद सकते हैं. यह कार्ड केंद्र सरकार द्वारा उन भारतीय नागरिकों को दिया जाता है, जो गृहस्थी श्रेणी से बाहर हों अर्थात बहुत ही गरीब श्रेणी में आते हैं। इस कार्ड मे अन्य कार्डो की तुलना मे ज्यादा राशन मिलता है.

बीपीएल राशन कार्ड
सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत Below Poverty Line (BPL) राशन कार्ड जारी किए जाते हैं। इस राशन कार्ड पर 10 से 20 किलोग्राम राशन प्रतिमाह प्रति परिवार दिया जाता है। राशन की ये मात्रा हर राज्‍य में अलग हो सकती है। साथ ही अनाज की कीमत भी राज्य सरकारों पर निर्भर करती है। हालांकि, यह बाजार भाव से कई गुना कम रहेगी.

ये भी पढ़ें – नौकरीपेशा पर मेहरबान होगी सरकार, बढ़ा सकती है पीएफ पर टैक्‍स छूट

एपीएल राशन कार्ड
गरीबी रेखा से ऊपर रहने वाले लोगों को Above Poverty Line (APL) राशन कार्ड जारी किए जाते हैं. एपीएल राशन कार्ड पर हर महीने 10 से 20 किलोग्राम राशन प्रति परिवार दिया जाता है. राशन की कीमत राज्य सरकारें तय करती है, इसलिए यह अलग अलग राज्यों में बदल सकती है.

प्राथमिकता राशन कार्ड
राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा एक्‍ट (NFSA)के तहत प्राथमिक राशन कार्ड (PHH) जारी किए जाते हैं. राज्य सरकारें लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली (टीपीडीएस) के तहत प्राथमिकता वाले घरेलू परिवारों की पहचान करती हैं। प्राथमिकता राशन कार्ड पर हर महीने 5 किलो राशन प्रति व्‍यक्ति मिलता है। इसमें चावल 3 रुपये प्रति किलो और गेहूं 2 रुपये प्रति किलो के भाव दिया जाता है.

ये भी पढ़ें – हेल्‍थ इंश्‍योरेंस : अस्‍पताल में भर्ती होने पर भी रिजेक्‍ट हो सकता है कोविड क्‍लेम, जानें क्‍यों

अन्‍नपूर्णा राशन कार्ड
अन्‍नपूर्णा योजना के तहत ये राशन कार्ड मिलते हैं, जो गरीबों और 65 साल से ऊपर के बुजुर्ग को दिया जाता है. इस पर हर महीने 10 किलो राशन मिल सकता है। राज्य सरकारें ये कार्ड उन वृद्ध लोगों को जारी करती हैं, जो उनके तय मानक में आते हैं. राज्‍य के अनुसार अनाज की मात्रा और कीमत अलग हो सकती है.

Tags: APL ration card, BPL ration card

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर