लाइव टीवी

कोरोना से लड़ने के लिए अमेरिका ने दिया 150 लाख करोड़ रुपये का राहत पैकेज, शेयर बाजारों में लौटी तेजी

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 8:33 PM IST
कोरोना से लड़ने के लिए अमेरिका ने दिया 150 लाख करोड़ रुपये का राहत पैकेज, शेयर बाजारों में लौटी तेजी
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

कोरोना संकट (Coronavirus) से अर्थव्यवस्था (US Economy) को बचाने के लिए अमेरिका ने 2 लाख करोड़ डॉलर (करीब 150 लाख करोड़ रुपये) के राहत पैकेज का ऐलान किया है

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 8:33 PM IST
  • Share this:
मुंबई. कोरोना के संकट से अर्थव्यवस्था (US Economy) को बचाने के लिए अमेरिका ने 2 लाख करोड़ डॉलर (करीब 150 लाख करोड़ रुपये) के राहत पैकेज का ऐलान किया है. CNBC के मुताबिक, अमेरिकी संसद सीनेट ने इसे पास कर दिया है. इस खबर के बाद दुनियाभर के शेयर बाजारों (Stock Market Surge) में रौनक लौट आई है. भारतीय शेयर बाजार के प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स सेंसेक्स में जोरदार तेजी देखने को मिल रही है.

क्या होगा राहत पैकेज से- अमेरिका में व्हाइट हाउस और संसद के दोनों दलों के नेताओं के बीच अर्थव्यवस्था को 2 लााख करोड़ डॉलर के राहत पैकेज देने पर सहमति बन गई है. इस पैकेज का मकसद कर्मचारियों, कारोबारियों और स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूती देना है.

ये भी पढ़ें-कोरोना से निपटने के लिए केंद्र ने दिए 15 हजार करोड़ रुपये: पीएम मोदी



व्हाइट हाउस के सहायक एरिक उलैंड की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि हम कामयाब रहे. समझौता हो गया है. इस अभूतपूर्व आर्थिक राहत पैकेज से ज्यादातर अमेरिकियों को प्रत्यक्ष भुगतान किया जाएगा.

बेरोजगारी लाभ का विस्तार होगा और छोटे कारोबारियों के 367 अरब डॉलर का सहायता कार्यक्रम शुरू किया जाएगा, ताकि घर में रहने के दौरान श्रमिकों को वेतन का भुगतान किया जा सके. इसके अलावा विमानन और स्वास्थ्य सेवा जैसे बड़े क्षेत्रों के लिए भी विशेष पैकेज का प्रावधान किया जाएगा.

कच्चे तेल की कीमतों में भी आया बड़ा उछाल-कोरोना वायरस से तबाह अमेरिकी अर्थव्यवस्था की मदद करने के लिए एक बड़े राहत पैकेज पर अमेरिकी कांग्रेस में बनी की खबरों के चलते एशियाई बाजारों में बुधवार को तेल की कीमतों में तेजी आई है.

ये भी पढ़ें :-14 अप्रैल तक नहीं चलेगी कोई ट्रेन, ऑनलाइन बुकिंग का पैसा मिलेगा वापस

अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 2.9 फीसदी बढ़कर लगभग 28 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था, जबकि अमेरिकी बेंचमार्क वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट 3.5 फीसदी बढ़कर करीब 25 डॉलर प्रति बैरल हो गया.

दोनों कॉन्ट्रेक्ट हाल के हफ्तों के दौरान लॉकडाउन और यात्रा प्रतिबंधों के चलते बुरी तरह गिरे. इसके अलावा शीर्ष तेल उत्पादकों सऊदी अरब और रूस के बीच कीमत युद्ध के चलते भी कीमतों में गिरावट हुई.

अमेरिकी शेयर बाजार में आई 87 साल की सबसे बड़ी तेजी- राहत पैकेज की उम्मीद में अमेरिकी शेयर बाजार जोरदार तेजी के साथ बंद हुए. प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स डाओ जोंस 11.4 फीसदी उछला. यह 1933 के बाद से एक दिन में हुई सबसे बड़ी तेजी है.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 11:56 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर