थोक महंगाई 9.1% पर जा सकती है, औद्योगिक उत्पादन दर में भी तेज उछाल आने का अनुमान : मॉर्गन स्टैनली

मार्च में लो बेस के चलते थोक महंगाई दर 7.4% रही थी, खुदरा महंगाई की दर सालाना आधार पर 5.5% थी

मार्च में लो बेस के चलते थोक महंगाई दर 7.4% रही थी, खुदरा महंगाई की दर सालाना आधार पर 5.5% थी

कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों के बीच महंगाई में उछाल अर्थव्यवस्था पर दबाव बढ़ा सकता है.

  • Share this:

नई दिल्ली. अप्रैल में थोक महंगाई 9.1% रह सकती है, जबकि खुदरा महंगाई घटकर 3.9% पर रहने का अनुमान है. मॉर्गन स्टैनली की रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है. उसका कहना है कि कोविड के बढ़ते मामलों के बीच महंगाई में उछाल अर्थव्यवस्था पर दबाव बढ़ा सकता है.

मॉर्गन स्टैनली ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है, 'अप्रैल में पिछले साल के मुकाबले थोक महंगाई 9.1% रह सकती है. मार्च में लो बेस के चलते थोक महंगाई दर 7.4% रही थी. खाने पीने के दाम में महंगाई की रफ्तार घटने का अनुमान है. लेकिन कम बेस इफेक्ट के चलते दूसरे सामान में महंगाई में तेज उछाल आने का अनुमान है.'

यह भी पढ़ें : दवा, दूध व सब्जी की तरह इस स्टेट में शराब आवश्यक वस्तु, लॉकडाउन में खुली रहेंगी लिकर शॉप्स


हाई बेस इफेक्ट के चलते कोर सीपीआई में भी कमी आने का अनुमान

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल के हाई बेस इफेक्ट के चलते कोर CPI (कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स) में भी कमी आने का अनुमान है. जबकि खुदरा महंगाई अप्रैल में घटकर 3.9% के लेवल पर आ सकती है. मार्च में खुदरा महंगाई की दर 5.5% थी. इसकी वजह बेस इफेक्ट के अलावा खाने-पीने के सामान के दाम में आई कमी थी.

यह भी पढ़ें : कोरोना की वजह से इस शेयर से निवेशक हुए मालामाल, एक साल की कमाई जानकार हैरान रह जाएंगे आप



औद्योगिक उत्पादन की दर 20.1% पर आ सकता है

मॉर्गन स्टैनली ने रिपोर्ट में औद्योगिक उत्पादन दर में भी तेज उछाल आने का अनुमान दिया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि मार्च में औद्योगिक उत्पादन की दर 20.1% पर आ सकता है. पिछले फरवरी में लो बेस के चलते इस साल इस महीने सालाना आधार पर 3.6% की नेगेटिव ग्रोथ हुई थी. औद्योगिक उत्पादन दर में बढ़ोतरी कोर सेक्टर के डेटा में उछाल के अनुसार आ सकती है. औद्योगिक उत्पादन दर के डेटा में 40% कंट्रिब्यूशन कोर सेक्टर का होता है.

यह भी पढ़ें : Success Story : माता-पिता की देखभाल के लिए नौकरी छोड़ टीपीए बिजनेस किया, अब 3000 करोड़ का पोर्टफोलियो

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज