लाइव टीवी

पैन को आधार कार्ड से लिंक करना क्यों है जरूरी, सरकार ने दी इससे जुड़ी सभी जानकारी

News18Hindi
Updated: December 20, 2019, 9:25 AM IST
पैन को आधार कार्ड से लिंक करना क्यों है जरूरी, सरकार ने दी इससे जुड़ी सभी जानकारी
कैसे लिंक करें आधार को पैन के साथ?

पैन कार्ड (PAN Card) को आधार (Aadhaar Card) से लिंक करना क्यों जरूरी है. इस सवाल पर सरकार ने कहा कि पैन (PAN Card-Aadhaar Card Link) के दुरुपयोग और संभावित टैक्स जालसाजी को रोकने में मदद मिलेगी. आपको बता दें कि पैन कार्ड को आधार से लिंक करने की आखिरी तारीख 31 दिसंबर 2019 है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 20, 2019, 9:25 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पैन (Permanent Account Number) कार्ड और आधार कार्ड (PAN-Aadhaar link) को लिंक कराने की अंतिम तारीख बढ़ाकर 31 दिसंबर 2019 कर दी गई है. इससे पहले यह 30 सितंबर थी. ऐसे में यह जानना बेहद जरूरी है कि आधार (Aadhaar) को PAN कार्ड से लिंक करना क्यों जरूरी है? दरअसल, इससे पैन कार्ड के दुरुपयोग और संभावित टैक्स जालसाजी को रोकने में मदद मिलेगी. इसलिए मोदी सरकार चाहती है कि सभी लोग ऐसा जरूर कर ले. ऐसा न करने पर 1 जनवरी 2020 से आपका पैन ऑपरेटिव नहीं माना जाएगा. आप इनकम टैक्स (Income Tax), निवेश या लोन आदि से जुड़ा कोई भी काम नहीं कर सकेंगे.

कितने कार्ड लिंक हुए
मोदी सरकार ने 11 नवंबर तक 29 करोड़, 30 लाख 74 हजार 520 लोगों का पैनकार्ड आधार के साथ लिंक करवा लिया है. केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर (Anurag Thakur) ने बीते संसद सत्र में पांच सांसदों के सवाल के जवाब में इस बात की जानकारी दी.

क्या है मकसद?



ठाकुर ने बताया कि पैन को आधार से जोड़ने का मकसद डुप्लीकेट पैन (Duplicate PAN Card) को छांटकर असली की पहचान करना है. इससे मल्टीपल पैन कार्ड बनना भी बंद हो जाएगा. लिंक करवाने की प्रक्रिया पैन के दुरुपयोग और संभावित टैक्स जालसाजी को रोकने के लिए जरूरी है. आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 139 की उपधारा (1) के मुताबिक हर उस व्यक्ति को, जो 01 जुलाई, 2017 से आधार संख्या प्राप्त करने के लिए पात्र था, को आधार का उल्लेख करना है. ये भी पढ़ें: अगले हफ्ते से सस्ती हो सकती है प्याज! इस वजह से आएगी कीमतों में गिरावट



PAN Card Aadhaar Card Linking

कैसे लिंक करें आधार को पैन के साथ?
अगर आप इनकम टैक्स विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर रजिस्टर्ड हैं. अगर आप इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फाइल करते हैं तो संभावना यह है कि आपका पैन आधार से लिंक होगा. पिछले साल का आईटीआर फाइल करते वक्त आपने इसे लिंक किया होगा. अगर दोनों जानकारी आयकर विभाग के पास उपलब्ध हैं तो वह खुद भी उसे लिंक कर देता है.

आप इनकम टैक्स विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर जाकर इसे चेक कर सकते हैं. सबसे पहले आप इस वेबसाइट पर जाएं- www.incometaxindiaefiling.gov.in. इस वेबसाइट पर आपको लॉग इन करना होगा. आपका पैन नंबर यूजर आईडी है, पासवर्ड डालें और अपना जन्मदिन एंटर करें. एक बार साइट पर लॉग इन होने के बाद प्रोफाइल सेटिंग टैब खोलें और उसमें लिंक आधार बटन पर क्लिक करें.अगर आपका पैन और आधार लिंक है तो आपको यह संदेश मिलेगा. आपका पैन पहले ही आधार नंबर XXXXXX से लिंक्ड है. अगर आपका पैन आधार से लिंक्ड नहीं है तो आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा. यहां आपको अपने पैन नंबर के हिसाब से सभी जानकारी डालनी है.

इसमें नाम, जन्म दिन और लिंग की जानकारी देनी है. इसके बाद आपको आधार नंबर डालना है. इसके बाद स्क्रीन पर दिख रहे कैप्चा कोड को डालने के बाद एंटर बटन पर क्लिक करना है. अगर आप रजिस्टर्ड यूजर नहीं हैं. अगर आप आयकर विभाग की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर रजिस्टर करना नहीं चाहते तो आपके पास पैन और आधार को लिंक करने का एक और विकल्प है. इनकम टैक्स विभाग के होम पेज पर ही एक हाइपर लिंक है जिस पर क्लिक कर आप पैन आधार को लिंक कर सकते हैं. यह लिंक इनकम टैक्स विभाग की इस वेबसाइट पर भी उपलब्ध है: http://incometaxindia.gov.in/Pages/default.aspx.

ये भी पढ़ें: दूध, न्यूज पेपर, चिकन समेत इन चीजों पर नहीं लगता है GST, यहां देखें पूरी लिस्ट

इसके बाद लिंक आधार टैब पर क्लिक करें. इसके बाद एक नया फॉर्म खुलेगा. यहां आपको पैन, आधार नंबर आदि एंटर करना पड़ेगा. यहां आपको सभी जानकारी आधार कार्ड के हिसाब से डालनी पड़ेगी. अगर आधार पर आपके जन्म का साल ही लिखा हुआ है तो आपको इस टैब पर क्लिक करना होगा- मेरे पास आधार में सिर्फ जन्म का साल है.

इसके बाद कैप्चा कोड डालने के बाद आप सबमिट बटन पर क्लिक कर दें. एक बार सफलतापूर्वक सबमिट होने के बाद आपके स्क्रीन पर एक मैसेज आएगा-आपका आधार सफलतापूर्वक पैन से लिंक हो गया है.

आधार-पैन लिंक करने के और भी हैं तरीके
पैन सर्विस प्रोवाइडर को मैसेज भेजना- अगर आप आयकर विभाग की वेबसाइट से आधार-पैन को लिंक नहीं कर पा रहे हैं तो इसके और भी तरीके हैं. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने 29 जून 2017 को एक नोटिफिकेशन में कहा है कि आप अन्य तरीके से भी पैन-आधार को लिंक कर सकते हैं.

आप सिर्फ एक SMS भेजकर भी अपने आधार पैन को लिंक कर सकते हैं. आपको यह एसएमएस 567678 या 56161 पर भेजना है. आपको SMS इस तरह भेजना है:
UIDPAN<स्पेस><12 अंक का आधार नंबर><स्पेस><10 अंक का पैन नंबर> मसलन अगर आपका आधार नंबर 111122223333 है और पैन नंबर AAAPA9999Q तो आपको SMS में यह लिखना होगा: UIDPAN 111122223333 AAAPA9999Q

ये भी पढ़ें: प्रॉपर्टी खरीदने-बेचने के नए नियम ला रही है सरकार, इन लोगों पर होगा सीधा असर
First published: December 18, 2019, 2:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading