• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • सबकी चर्चा में जोमैटो और टेस्ला, फिर भी झुनझुनवाला को इनमें कोई दिलचस्पी नहीं! जानिए वजह

सबकी चर्चा में जोमैटो और टेस्ला, फिर भी झुनझुनवाला को इनमें कोई दिलचस्पी नहीं! जानिए वजह

एक इवेंट में इन दोनों कंपनियों को लेकर अपनी बात रखी थी झुनझुनवाला ने

एक इवेंट में इन दोनों कंपनियों को लेकर अपनी बात रखी थी झुनझुनवाला ने

एक इवेंट में उन्होंने जारा और वॉलमार्ट से सीखने की सलाह देते हुए कहा, मुझे वैल्यूएशन पर जोर देने के बजाय कैश फ्लो से जुड़ा बिजनेस मॉडल पसंद है. उनका कहना था कि वैल्यूएशन का महत्व मजबूत बिजनेस मॉडल से अधिक नहीं हो सकता.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ये कहा जाए कि शेयर बाजार में जोमैटो और टेस्ला के आने की ख़बर के बाद जहां कई लोगों की दिलचस्पी इन दोनों को लेकर बढ़ गई है. और दोनों के ही मामलों में चर्चाओं का दौर भी चल रहा है. हालांकि शेयर मार्केट के बिग बुल कहलाए जाने वाले राकेश झुनझुनवाला की दिलचस्पी इन सब के बाद भी नहीं है. जबकि स्टॉक मार्केट के मशहूर इनवेस्टर राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो में म्यूचुअल फंड मैनेजर्स के साथ ही रिटेल इनवेस्टर्स की भी दिलचस्पी रहती है. उन्हें फाइनेंस, टेक, रिटेल और फार्मा स्टॉक्स में इनवेस्टमेंट के लिए जाना जाता है.

    इस बार, झुनझुनवाला फूड डिलीवरी कंपनी Zomato की लिस्टिंग पर अच्छा रिटर्न मिलने और अमेरिका की इलेक्ट्रिक कार मेकर Tesla की देश के मार्केट में उतरने की योजना को लेकर उत्साहित नहीं दिखते. यहां तक की झुनझुनवाला ने एक इवेंट में स्पष्ट कर दिया कि वह जोमैटो या टेस्ला में इनवेस्टमेंट नहीं करेंगे. उनका कहना था कि वह जो खरीदते हैं वह महत्वपूर्ण है और जिस प्राइस पर खरीदते हैं वह सबसे महत्वपूर्ण है.

    ये बताई दिलचस्पी नहीं होने की वजह
    इस इवेंट में टॉप सॉफ्टवेयर कंपनियों में शामिल इंफोसिस के पूर्व डायरेक्टर और मणिपाल यूनिवर्सिटी के चेयरमैन मोहनदास पाई भी मौजूद थे. झुनझुनवाला ने कहा कि एक आंत्रप्रेन्योर का फंड "ऑक्सिजन" की तरह होता है लेकिन "कैपिटल का महत्व बिजनेस मॉडल जितना नहीं होता." उन्होंने जारा और वॉलमार्ट से सीखने की सलाह देते हुए कहा, "मुझे वैल्यूएशन पर जोर देने के बजाय कैश फ्लो से जुड़ा बिजनेस मॉडल पसंद है. उनका कहना था कि वैल्यूएशन का महत्व मजबूत बिजनेस मॉडल से अधिक नहीं हो सकता.

    ये भी पढ़ें - कैबिनेट में पेश होगा इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल- 2021, मोबाइल पोर्टेब्लिटी की तरह बदल पाएंगे बिजली कनेक्शन

    मौजूदा ऑटोमोबाइल मार्केट 2 लाख करोड़ डॉलर का है
    अगर झुनझुनवाला जोमैटो या टेस्ला में निवेश नहीं कर रहे तो यह मतलब नहीं है कि इन स्टॉक्स को खरीदने से बचना चाहिए. टेस्ला को मौजूदा मार्केट के साथ ही आगामी वर्षों के लिए एक महत्वपूर्ण ऑटोमोबाइल कंपनी बताते हुए पाई ने कहा, "मौजूदा ऑटोमोबाइल मार्केट 2 लाख करोड़ डॉलर का है और 2030 तक इसका 30 से 35 प्रतिशत इलेक्ट्रिक व्हीकल्स का होगा. इस वजह से टेस्ला इस सेक्टर की एक महत्वपूर्ण कंपनी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज