Home /News /business /

Stock Market: तीन दिनों में 1800 अंक क्यों गिरा शेयर बाजार, जानिए कब रहेगी ये मंदी

Stock Market: तीन दिनों में 1800 अंक क्यों गिरा शेयर बाजार, जानिए कब रहेगी ये मंदी

BSE सेंसेक्स पिछले तीन दिनों में 1835 अंक गिर चुका है. Nifty 50 की बात करें तो 550 अंक टूट गया है.

BSE सेंसेक्स पिछले तीन दिनों में 1835 अंक गिर चुका है. Nifty 50 की बात करें तो 550 अंक टूट गया है.

Why Share Market Is Falling : भारतीय शेयर बाजारों में लगातार तीसरे दिन बड़ी गिरावट आई है. BSE सेंसेक्स पिछले तीन दिनों में 1835 अंक गिर चुका है. Nifty 50 की बात करें तो 550 अंक टूट गया है.

नई दिल्ली. Why Share Market Is Falling: भारतीय शेयर बाजारों में लगातार तीसरे दिन बड़ी गिरावट आई है. गुरुवार को वीकली एक्सपायरी थी और निफ्टी 50 और बैंक निफ्टी दोनों में एकतरफा गिरावट देखी गई. BSE सेंसेक्स पिछले तीन दिनों में 1835 अंक गिर चुका है. Nifty 50 की बात करें तो 550 अंक टूट गया है. इसी तरह बाकी इंडेक्स भी लाल रंग में ही चल रहे हैं. इसकी वजह मुनाफावसूली के साथ-साथ मिडल ईस्ट में राजनीतिक तनाव के चलते ऑयल मार्केट्स में भय और FIIs द्वारा पैसा निकालना बताया जा रहा है.

विदेशी बाजारों में भी गिरावट देखी जा रही है. अब देखने वाली बात ये है कि क्या ये सब फैक्टर भारतीय बाजार को भी बुरी तरह से प्रभावित करेंगे या नहीं. उधर, अमेरिकी बेंचमार्क का 10-वर्षीय नोट यील्ड बुधवार को बंद होने से पहले 1.902 फीसदी बढ़कर दो साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया.

ये भी पढ़ें – न सोना, न शेयर बाजार, इस धातु में निवेश करेंगे तो हो जाएगी पौ-बारह!

अलग तरह की मंदी

इकॉनोमिक्स टाइम्स के अनुसार, जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज (Geojit Financial Services) के वी के विजयकुमार (V K Vijayakumar) ने अमेरिकी बाजार में एक अलग तरह की मंदी की प्रवृत्ति देखी है. इसमें नैस्डैक कंपोजिट (Nasdaq Composite) नवंबर 2021 के उच्चतम स्तर से 10.7 प्रतिशत नीचे चल रहा है, जबकि इसका ब्रॉडर बाजार Russel 2000 52-सप्ताह के निचले स्तर पर खड़ा है.

ये भी पढ़ें – Vijay Kedia ने इन दो शेयरों में बुक किया प्रॉफिट, उससे पहले कमाया तगड़ा मुनाफा

दूसरे हाफ में आसान होगी राह

विजयकुमार ने हालांकि कहा कि जरूरी नहीं कि भारत में भी ऐसा ही देखने को मिले, लेकिन निवेशकों को सावधान रहना होगा. सावधान इसलिए, क्योंकि वैश्विक मुद्रास्फीति बढ़ रही है और मौद्रिक स्तर पर सरकारों की सख्ताई की हवा निवेशकों के सामने उसी तरह का काम करेगी, जैसे सामने से चल रही तेज हवा. ये स्थिति साल के दूसरे हाफ (Second Half) में थोड़ी ठीक हो सकेगी, वह भी तब जबकि सल्पाई के व्यवधान (Supply Disruptions) कम होते हैं और मुद्रास्फीति की दर में कमी आती है.

Tags: Share market, Stock market

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर