होम /न्यूज /व्यवसाय /गिरते बाजार में भी 7 फीसदी से अधिक क्यों उछले इस गैस कंपनी के शेयर, क्या अब भी है खरीदारी का मौका?

गिरते बाजार में भी 7 फीसदी से अधिक क्यों उछले इस गैस कंपनी के शेयर, क्या अब भी है खरीदारी का मौका?

आईजीएल अपने शेयरधारकों को 5.50 रुपये का डिविडेंड दे रही है.

आईजीएल अपने शेयरधारकों को 5.50 रुपये का डिविडेंड दे रही है.

कंपनी वित्त वर्ष 2021-22 के लिए डिविडेंड दे रही है. इसकी एक्स-डिविडेंड डेट 15 सितंबर थी. इसके शेयरों की कीमत की बात करे ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

आईजीएल के शेयर आज दिन के कारोबार में 424 रुपये तक पहुंचे थे.
कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने डिविडेंड को मंजूरी दे दी है.
आईजीएल के शेयरों के लिए एक्स-डिविडेंड डेट 15 सितंबर थी.

नई दिल्ली. नैचुरल गैस सप्लाई करने वाली शीर्ष कंपनी इंद्रप्रस्थ गैस (आईजीएल) के शेयरों में मंगलवार को जबरदस्त खरीदारी देखने को मिली. शेयरों में तेजी का कारण कंपनी की एजीएम में डिविडेंड को मिली अनुमति रही. कंपनी अपने शेयरधारकों को शेयरों की फेस वैल्यु पर 275 फीसदी (5.50 रुपये प्रति शेयर) का लाभांश देगी. इसके लिए एक्स-डिविडेंड डेट 15 सितंबर थी. अब बोर्ड ऑफ डॉयरेक्टर्स की अनुमति मिलने के बाद कंपनी की लाभांश बांट देगी.

बता दें कि कंपनी वित्त वर्ष 2021-22 के लिए डिविडेंड दे रही है. शेयरों की कीमत की बात करें तो दिन के कारोबार में ये 7.33 फीसदी की बढ़त के साथ 424 रुपये के पार चली गई थी. बाजार बंद होने तक यह शेयर 6.81 फीसदी की बढ़त के साथ 422.75 रुपये पर थी. एमके ग्लोबल ने कंपनी के शेयरों को बाय रेटिंग देते हुए इसे 465 रुपये का टारगेट प्राइस दिया है.

" isDesktop="true" id="4658427" >

क्यों दिया है यह टारगेट प्राइस?
एमके के एनालिस्ट सबरी हजारिका और हर्ष मारू की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में 90 फीसदी सीएनजी और घरेलू पीएनजी की डिमांड स्थानीय स्तर पर ही पूरी हो रही है इसलिए आईजीएल की स्थिति मजबूत है. एनालिस्ट के अनुसार, वित्त वर्ष 22 में आईजीएल की सहयोगी कंपनी सीयूजीएल ने पीएनजी के वॉल्यूम में 37 फीसदी और महा नेचुरल गैल (एमएनजीएल) ने 18 फीसदी की वृद्धि देखी है. एमएनजीएल के कर्ज में कुछ खास बदलाव नहीं हुआ है और ये 3 अरब रुपये पर बना हुआ. वहीं, सीयूजीएल का नेट कैश बढ़कर 610 करोड़ रुपये हो गया है. एनालिस्ट्स का कहना है कि सीयूजीएल ने अपना कस्टमर बेस और नेटवर्क काफी बढ़ाया है. वहीं, एमएनजीएल ने 1.50 लाख नए पीएनएजी कनेक्शन जोड़े हैं. इन्हीं सब बातों को आधार बनाते हुए ब्रोकरेज ने आईजीएल को 465 रुपये का टारगेट प्राइस दिया है. उन्होंने कमजोर कीमत, मार्जिन, गैस की कीमत, करेंसी और ईवी के बढ़ने को कंपनी के बिजनेस के लिए खतरा बताया है.

कंपनी का वित्तीय आंकड़ा
वित्त वर्ष 23 की पहली तिमाही (अप्रैल-जून) में कंपनी ने कुल 481.24 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया था. जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 277.95 करोड़ रुपये था. कंपनी का कंसोलिडेटेड रेवेन्यू 2.5 गुना बढ़कर 3530 करोड़ रुपये हो गया. इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में कंपनी का कंसोलिडेटेड रेवेन्यू 1380 करोड़ रुपये था.

Tags: Business news in hindi, Investment tips, Share market, Stock market

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें