Home /News /business /

4 मई से फिर से पटरियों पर दौड़ेगी ट्रेन? पहले 12 अगस्त तक बुक हुए थे 45 लाख रेल टिकट

4 मई से फिर से पटरियों पर दौड़ेगी ट्रेन? पहले 12 अगस्त तक बुक हुए थे 45 लाख रेल टिकट

स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों के मुताबिक, एसी ट्रेनों में सफर करने से कोरोना वायरस के फैलने का जोखिम में वृद्धि हो जाती है.

स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों के मुताबिक, एसी ट्रेनों में सफर करने से कोरोना वायरस के फैलने का जोखिम में वृद्धि हो जाती है.

देशभर में कोरोना संक्रमित मरीज़ों की संख्या क़रीब 30,000 हो चुकी है. ऐसे में इसकी उम्मीद बहुत कम है कि 3 मई के बाद ट्रेन सेवाएं (Train Services to Resume) शुरू की जाएंगी.

नई दिल्ली. रेलवे (Indian Railway) में दूसरे लॉकडाउन (Lockdown) के ऐलान के दिन यानी 14 अप्रैल से टिकटों की बुकिंग रोक दी है. उस समय 12 अगस्त तक के लिए करीब 45 लाख रिजर्वेशन टिकट बुक हुए थे. रेलवे में 120 दिनों का एडवांस रिजर्वेशन पीरियड यानी ARP होता है. सूत्रों के मुताबिक़ जिस तरह हर रोज़ कोरोना के 1500 के आसपास नए मामले आ रहे हैं और देशभर में कोरोना संक्रमित मरीज़ों की संख्या क़रीब 30,000 हो चुकी है. ऐसे में इसकी उम्मीद बहुत कम है कि 3 मई के बाद ट्रेन सेवाएं शुरू की जाएंगी.

22 मार्च को जब रेलवे ने जनता कर्फ्यू के दिन 31 मार्च तक के लिए सारी ट्रेनें रद्द कर दी थीं, उस वक़्त पूरे देश में कोरोना के महज़ 400 के आसपास मामले थे. उसके बाद से ही लगातार रेलवे की पैसेंजर ट्रेनें बंद हैं. हालांकि कुछ राज्य लगातार इसकी मांग कर रहे हैं कि दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों के लिए ट्रेनें चलाई जाएं. लेकिन इस संबंध में कोई भी फैसला केंद्र सरकार करेगी और रेलवे उसके निर्देशों के बाद ही कोई कदम उठाएगा.

ये भी पढ़ें: आने वाली है जेब में पेंशन! लाखों पेंशनर्स को मई से मिलेगा सरकार के बदले Pension नियम का फायदा

आंकड़ों के मुताबिक रेलवे के एक टिकट पर औसतन 1.8 मुसाफिरों की बुकिंग होती है. यानी 12 अगस्त तक के लिए 80 लाख से ज़्यादा लोग रिजर्वेशन टिकट लेकर यात्रा का इंतज़ार कर रहे हैं. हालांकि रेलवे में 10 फीसदी की आसपास मुसाफ़िर ही रिजर्वेशन टिकट पर यात्रा करते हैं. इस तरह से एक अनुमाम के मुताबिक 12 मई तक कुल क़रीब 10 करोड़ मुसाफ़िर यात्रा के इंतज़ार में हैं. हालांकि ये आंकड़ा रेलवे के औसत से बहुत कम है.

रेलवे में औसतन हर रोज़ 2.5 करोड़ से मुसाफ़िर यात्रा करते हैं जिनमें 25 लाख के आसपास रिजर्वेशन टिकट लेकर यात्रा करते हैं. लेकिन रेलवे के लिहाज से ये मौसम लीन पीरियड होता है जिसमें होली, दीवाली, छठ, सर्दी की छुट्टियों के मुकाबले कम मुसाफ़िर सफर करते हैं. दूसरी तरफ कोरोना के खौफ़ की वजह से भी ज़्यादातर लोग इस समय यात्रा के पक्ष में नहीं दिख रहे हैं.

ये भी पढ़ें :- आधार अपडेट कराने के लिए UIDAI ने दी नई जानकारी, नहीं होगी बैंक जाने की जरूरत

PM-Kisan योजना लिस्ट में ऐसे रजिस्टर कराएं अपना नाम, 2000 पाने का सुनहरा मौका

Tags: Business news in hindi, Indian railway, Indian Railway Catering and Tourism Corporation, Railway, Train, Train ticket

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर