• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • BPCL के बिकने के बाद क्या जारी रहेगी आपकी गैस सब्सिडी? जानें सभी सवालों के जवाब

BPCL के बिकने के बाद क्या जारी रहेगी आपकी गैस सब्सिडी? जानें सभी सवालों के जवाब

भारत पेट्रोलियम के बिकने के बाद जारी रहेगी सब्सिडी.

भारत पेट्रोलियम के बिकने के बाद जारी रहेगी सब्सिडी.

केंद्र सरकार (center Govt) प्रत्येक परिवार को एक साल में 14.2 किलोग्राम के 12 सिलेंडर पर सब्सिडी (Subsidy) देती है. ये सब्सिडी सीधे आपके खाते में आती है. जिसमें किसी कंपनी का हस्तक्षेप नहीं होता.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत पेट्रोलिय कॉर्पोरेशन लिमिटेड के बिकने की चर्चा आपने सुनी ही होगी. ऐसे में जिन लोगों के पास BPCL के गैस सिलेंडर हैं. उन्हें अपनी सब्सिडी की चिंता सता रही होगी. कहीं BPCL के बिकने के बाद उन्हें गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी बंद न हो जाए. इसलिए हम आपके लिए ऐसे ही कुछ अहम सवालों का जवाब लेकर आए है. जिनको जानने के बाद आपकी सारी परेशानी दूर हो जाएंगी. आइए जानते है BPCL के बिकने के बाद क्या कुछ नहीं बदलेगा.

    गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी जारी रहेगी- पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से साफ कर दिया है कि BPCL के बिकने के बाद भी गैस उपभोक्ताओं को मिलने वाली सब्सिडी जारी रहेगी. आपको बता दें सभी गैस एजेंसियों पर मिलने वाली सब्सिडी भारत सरकार की ओर से दी जाती है. ऐसे में BPCL के बिकने से इस पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

    यह भी पढ़ें: इंडियन ऑयल ने शुरू किया खास ऑफर, इतने का तेल भरवाकर जीतें एसयूवी कार और बाइक्स

    गैस सिलेंडर पर कितनी मिलती है सब्सिडी- केंद्र सरकार प्रत्येक परिवार को एक साल में 14.2 किलोग्राम के 12 सिलेंडर पर सब्सिडी देती है. ये सब्सिडी सीधे आपके खाते में आती है. जिसमें किसी कंपनी का हस्तक्षेप नहीं होता. आपको बता दें सरकार की ओर से दिसबंर महीने के लिए 50 रुपये की सब्सिडी निर्धारित की गई हैं.

    यह भी पढ़ें: PM सुरक्षा बीमा योजना में आप भी कर सकते हैं आवेदन? जानिए यहां हर छोटी बात

    अधिग्रहण के 3 साल तक नहीं बदलेंगे नियम- इस समय भारत पेट्रोलियम के करीब 7.3 करोड़ उपभोक्ता है. BPCL के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार अधिग्रहण के तीन साल बाद ही नए मालिक को सब्सिडी जारी रखने या बंद करने का निर्णय लेने का अधिकार होगा. उन्होंने कहा कि सरकारी सब्सिडी को जारी रखने के लिए इस अवधि में बीपीसीएल के एलपीजी उपभोक्ताओं को एक नई यूनिट में ट्रांसफर किया जाएगा.

    कितनी कंपनियों ने लगाई है बोली- बीपीसीएल देश की दूसरी सबसे बड़ी ईंधन कंपनी है, जिसमें सरकार अपनी पूरी 52.98 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है. जिसके लिए सरकार को बीपीसीएल में हिस्सेदारी खरीदने के लिए 3 आरंभिक बोलियां मिली हैं. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने हाल में बताया कि इसके लिए वेदांता सहित 3 कंपनियों ने प्रारंभिक अभिरुचि पत्र (EoI) दाखिल किया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज