देश की बड़ी IT कंपनी के चेयरमैन ने कहा- फिलहाल कर्मचारियों को निकालने की योजना नहीं

देश की बड़ी IT कंपनी के चेयरमैन ने कहा- फिलहाल कर्मचारियों को निकालने की योजना नहीं
विप्रो की फिलहाल कर्मचारियों को निकालने की योजना नहीं

विप्रो लिमिटेड (Wipro Ltd) के चेयरमैन रिशद प्रेमजी ने कहा कि कोविड-19 महामारी (COVID-19 Pandemic) के प्रभाव के बावजूद एक भी कर्मचारी को नहीं निकाला है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 13, 2020, 12:15 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. देश की बड़ी आईटी कंपनी विप्रो लिमिटेड (Wipro Ltd) के चेयरमैन रिशद प्रेमजी ने कहा कि कोविड-19 महामारी (COVID-19 Pandemic) के प्रभाव के बावजूद एक भी कर्मचारी को नहीं निकाला है. विप्रो चेयरमैन ने यह बात सोमवार को कंपनी के 74वें वार्षिक आम बैठक (AGM) में कही. प्रेमजी ने कहा,  इसके अलावा फिलहाल हमारे पास किसी को नौकरी से निकालने की कोई योजना नहीं है. हालांकि, विप्रो ने निवेशकों के सवालों को संबोधित करते हुए कहा, चुनौतीपूर्ण समय में विभिन्न परिचालन साधनों के माध्यम से लागत में कटौती जारी है.

वर्तमान में, विप्रो के 95% से अधिक कर्मचारी घर से काम कर रहे हैं और भविष्य में एक हाइब्रिड मॉडल होने की उम्मीद है. प्रेमजी ने कहा, हम घर से काम और कार्यालय से काम के बीच एक संतुलन के लिए कदम हो सकता है.यह मॉडल अगले 12-18 महीनों में विकसित होगा.

यह भी पढ़ें- 50 हजार लगाकर करें 6 लाख रुपए तक कमाई, शुरू करें इसकी खेती



एच1-बी वीजा (H1-B visa) पर अमेरिकी सरकार के प्रतिबंध पर निवेशकों की चिंताओं को दूर करते हुए प्रेमजी ने इस कदम को 'दुर्भाग्यपूर्ण' करार दिया. उन्होंने कहा, हालांकि, विप्रो ने अपनी स्थानीयकरण यात्रा के साथ डी-रिस्क किया है, जिसमें लगभग 70% अमेरिकी कर्मचारी स्थानीय रूप से काम पर रखे जा रहे हैं.
बेंगलुरु स्थित आईटी कंपनी के लिए अमेरिका सबसे बड़ा बाजार है और वित्त वर्ष 2020 में कंपनी के कुल राजस्व में 59.1% का योगदान अमेरिका से रहा. कंपनी ने भारत के बाहर स्थित 41,000 से अधिक कर्मचारियों को नियोजित किया, जो वित्त वर्ष 2020 में कंपनी के कुल वर्कफोर्स 1,88,270 में से है.

वैश्विक महामारी के चलते क्लाइंट्स के खर्च का पैटर्न बदल गया है और बहुत सारे खर्चे में कमी आई है. उन्होंने कहा, हालांकि इंफ्रास्ट्रक्चर, क्लाउड और वर्चुअल रिमोट एसेस के क्षेत्र में बहुत कुछ करने को है. हमारे पास एक बड़ा साइबर सुरक्षा प्रैक्टिस है जो लगातार बढ़ रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading