International Women's Day: महिलाएं खरीदें सस्ते रेट पर घर, इस तरह कर सकती हैं 4 लाख रुपये तक की बचत..

Women Home buyers

Women Home buyers

women Home buyer's: भारत में घर खरीदने में महिलाओं की दिलचस्पी बढ़ी है. पहले के मुकाबले अब महिला खरीदार बढ़ रहे हैं. एनारॉक द्वारा जारी हालिया सर्वेक्षण के अनुसार, करीब 62 प्रतिशत भारतीय महिलाएं प्रोपर्टी में निवेश करना पसंद करती हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में घर खरीदने में महिलाओं की दिलचस्पी बढ़ी है. पहले के मुकाबले अब महिला खरीदार बढ़ रहे हैं. एनारॉक द्वारा जारी हालिया सर्वेक्षण के अनुसार, करीब 62 प्रतिशत भारतीय महिलाएं प्रोपर्टी में निवेश करना पसंद करती हैं. कम से कम 82 प्रतिशत महिला अपने इस्तेमाल के लिए घर खरीदती हैं, जबकि 18 प्रतिशत महिलाएं प्रोपर्टी में निवेश करने को उचित मानती हैं. वहीं, 70 प्रतिशत से अधिक महिलाएं प्रोपर्टी खरीदने के लिए इस समय को बेस्ट मान रही हैं. बता दें कि इस सर्वेक्षण में 3,900 प्रतिभागी शामिल थे, जिनमें 36 प्रतिशत महिलाएं थीं. अब बात करते हैं कि जब महिलाओं की दिलचस्पी इतनी बढ़ी है तो कैसे वे घर खरीदने पर सस्ते होम लोन और स्टैम्प ड्यूटी का लाभ उठा सकती हैं.

होम लोन पर ब्याज दरें
1 मार्च से भारतीय स्टेट बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक ने होम लोन की दरें घटा दी हैं. कोटक महिंद्रा बैंक ने अपनी होम लोन की ब्याज दरों को घटाकर 6.65 प्रतिशत कर दिया है. इसके बाद एसबीआई में होम लोन की ब्याज दर में कमी कर इसे 6.70 प्रतिशत कर दिया है. 75 लाख रुपये तक और 75 लाख रुपये से अधिन लोन के लिए 6.75 प्रतिशत ब्याज देना पड़ेगा. इसमें महिला उधारकर्ताओं के लिए यह डील और भी शानदार हो सकता है. SBI ने महिला कस्टमर को 5bps की अतिरिक्त रियायत देने का भी ऐलान किया है. यदि महिलाएं मोबाइल ऐप योनो के जरिये आवेदन करेंगी तो उन्हें अतिरिक्त 0.05 फीसद की छूट दी जाएगी. वहीं, होम लोन पर ICICI बैंक का ब्याज दर घटाकर 6.70 प्रतिशत पर आ गया है जो कि 10 साल के सबसे नीचले स्तर पर है.

ये भी पढ़ें- International Women's Day: SBI कस्टमर के लिए अच्छी खबर! महिलाओं को मिलेगी अब ये बड़ी छूट, जानें बैंक ने क्या कहा?
उठाएं कम ब्याज दर का लाभ..


टाटा कैपिटल हाउसिंग फाइनेंस के एमडी अनिल कौल कहते हैं कि अधिकांश फाइनेंशियल संस्थानों में महिलाओं के लिए होम लोन सस्ता है. वे कहते हैं, 'ब्याज दरों में छूट महिलाओं के घर खरीदारों के लिए होम लोन को अधिक किफायती बनाने के लिए है.' MyMoneyMantra.com के एमडी राज खोसला कहते हैं, 'यह रियायत छोटी लग सकती है, लेकिन होम लोन एक लंबी अवधि के दौरान यह काफी मददगार हो सकता है. यहां तक ​​कि एक छोटे से अंतर से 15-20 साल के लोन की अवधि में भी बड़ी रकम जुड़ जाएगी.

उठाएं कम स्टाम्प शुल्क का लाभ..
यदि महिला के नाम पर संपत्ति का रजिस्ट्रेशन होता है, तो स्टाम्प शुल्क कम होता है. हालांकि ये शुल्क अलग-अलग होते हैं. उदाहरण के लिए दिल्ली में, पुरुषों के लिए स्टाम्प ड्यूटी संपत्ति के मूल्य का 6 प्रतिशत है, लेकिन महिलाओं के मामले में स्टैंप ड्यूटी केवल 4 प्रतिशत है. खोसला का कहना है कि 2 करोड़ रुपये की संपत्ति पर 4 लाख रुपये की सीधी बचत है. बिहार, हरियाणा, पंजाब, महाराष्ट्र, उड़ीसा, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश सहित कई अन्य राज्य महिलाओं के घर खरीदारों (या तो एकमात्र मालिक या संयुक्त मालिक के रूप में) को स्टांप ड्यूटी पर 0.5 से 3 प्रतिशत की समान रियायतें देते हैं.

ये भी पढ़ें- Petrol-Diesel Rate: क्या 100 रुपये के पार पहुंच जाएगा पेट्रोल? ये है बड़ी वजह

सरकारी योजनाओं का मिलता है लाभ
बता दें कि महिला घर खरीदारों के लिए कई तरह की सरकारी पाॅलिसीज भी उपलब्ध हैं. इसके लिए 2015 में प्रधानमंत्री आवास योजना को लॉन्च किया था, जिसके तहत महिला को को-ओनर बनाना अनिवार्य है. एक्सपर्ट के मुताबिक, यह योजना आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग और निम्न आय वर्ग की श्रेणी में महिलाओं को प्राथमिकता देती है. जानकार बताते हैं कि इस योजना के तहत 2.30 लाख रुपये से 2.67 लाख रुपये के बीच सब्सिडी की उम्मीद की जा सकती है.

पुरुषों के मुकाबले महिलाएं लेती हैं ज्यादा होम लोन
क्रेडिट सूचना कंपनी CRIF हाई मार्क के आंकड़ों के अनुसार, महिलाओं द्वारा उधार लिया गया औसत होम लोन का आकार पुरुषों द्वारा लिए गए लोन से 13 प्रतिशत ज्यादा है. इसमें इस साल पिछले साल की तुलना में 2 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है. महामारी के दौरान वित्त वर्ष 2020-21 की तीन तिमाहियों में वितरित किए गए होम लोन की संख्या महिला उधारकर्ताओं के लिए 31-32 प्रतिशत के आसपास थी.
CRIF हाई मार्क के एमडी और सीईओ नवीन चंदानी कहते हैं कि हम महिलाओं की ओर से लोन खपत में लगातार वृद्धि देख रहे हैं. यह अधिक महिलाओं को स्वतंत्र रूप से लोन का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित करने वाला है. अधिक महिलाएं स्मार्ट फाइनेंशियली विकल्पों का चयन करती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज