Home /News /business /

work continues to stop sharp fluctuations in rupee our currency fell the least rbi pmgkp

रुपये में तेज उतार-चढ़ाव को रोकने के लिए काम जारी, हमारी करेंसी सबसे कम गिरी: आरबीआई डिप्टी गवर्नर

 अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया शुक्रवार को एक पैसे की मामूली गिरावट के साथ 78.33 रुपये प्रति डॉलर के रिकॉर्ड निचले स्तर पर बंद हुआ.

अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया शुक्रवार को एक पैसे की मामूली गिरावट के साथ 78.33 रुपये प्रति डॉलर के रिकॉर्ड निचले स्तर पर बंद हुआ.

उद्योग मंडल पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (पीएचडीसीसीआई) के एक कार्यक्रम में आरबीआई के डिप्टी गवर्नर माइकल डी पात्रा कहा, ‘‘हम रुपये में अव्यवस्थित उतार-चढ़ाव नहीं होने देंगे. हम रुपये में स्थिरता के लिए कदम उठाएंगे और इस दिशा में निरंतर काम जारी है.’’

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली . भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के डिप्टी गवर्नर माइकल डी पात्रा ने एक कार्यक्रम में कहा कि आरबीआई रुपये को स्थिर रखने के लिये कदम उठा रहा है और इसमें तेज उतार-चढ़ाव नहीं आने देगा. मौद्रिक नीति विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे पात्रा ने यह भी कहा कि हाल के समय में अन्य मुद्राओं की तुलना में रुपये की विनिमय दर में सबसे कम गिरावट आई है.

पात्रा ने कहा, ‘‘हमें नहीं पता कि रुपया कहां तक जाएगा. यहां तक ​​कि अमेरिकी फेडरल बैंक को भी नहीं पता कि डॉलर कहां तक जाएगा. लेकिन एक चीज तय है, हम रुपये में स्थिरता के लिए कदम उठाएंगे और इस दिशा में निरंतर काम जारी है.’’

“अस्थिरता के खिलाफ कदम उठा रहे”
उन्होंने उद्योग मंडल पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (पीएचडीसीसीआई) के एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘हम बाजार में हैं और रुपये में अव्यवस्थित उतार-चढ़ाव नहीं होने देंगे. हमारे मन या दिमाग में रुपये का कोई स्तर नहीं है लेकिन हम घरेलू मुद्रा में तेज उतार-चढ़ाव नहीं होने देंगे.’’ आरबीआई के डिप्टी गवर्नर ने कहा कि हम निश्चित रूप से बाजार में रुपये की अस्थिरता के खिलाफ कदम उठा रहे और उसे बचा रहे हैं.

यह भी पढ़ें- Card Tokenization: आरबीआई का बड़ा फैसला, कार्ड टोकेनाइजेशन की डेडलाइन 30 सितंबर, 2022 तक बढ़ाई

“हमारी करेंसी सबसे कम गिरी”
पात्रा ने कहा कि यदि रुपये की विनिमय दर में कमी को देखेंगे तो पाएंगे कि यह उन मुद्राओं में शामिल है जिनमें दुनिया में मूल्य ह्रास सबसे कम हुआ है. इसका कारण इसके पीछे 600 अरब डॉलर के विदेशी मुद्रा भंडार की ताकत है. इस बीच, अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया शुक्रवार को एक पैसे की मामूली गिरावट के साथ रिकॉर्ड निचले स्तर 78.33 प्रति डॉलर (अस्थायी) पर बंद हुआ. इस दौरान उन्होंने रुपया-रूबल भुगतान व्यवस्था को लेकर एक सवाल के जवाब में कहा कहा कि सरकार जो भी निर्णय करेगी, रिजर्व बैंक उसका पालन करेगा.

विदेशी पूंजी की निकासी को लेकर बढ़ती चिंताएं
अमेरिकी मुद्रा के मुकाबले रुपया शुक्रवार को एक पैसे की मामूली गिरावट के साथ 78.33 रुपये प्रति डॉलर के रिकॉर्ड निचले स्तर पर बंद हुआ. गिरावट का कारण केंद्रीय बैंकों द्वारा सख्त मौद्रिक नीति अपनाना और लगातार विदेशी पूंजी की निकासी को लेकर बढ़ती चिंताएं हैं.

यह भी पढ़ें – Market Update: अमेरिकी शेयर बाजारों में भी हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन जोरदार तेजी, मार्केट में सुधार के संकेत

रिलायंस सिक्योरिटीज के वरिष्ठ अनुसंधान विश्लेषक श्रीराम अय्यर के अनुसार, शुक्रवार को भारतीय रुपये के मूल्य में गिरावट आई. मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने के लिए केंद्रीय बैंकों द्वारा आक्रामक मौद्रिक नीति अपनाने से वैश्विक आर्थिक मंदी को लेकर जोखिम बढ़ने की चिंताओं के बीच रुपया लगातार आठवें सप्ताह कमजोर बना रहा. इस बीच, छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति को दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.25 प्रतिशत की गिरावट के साथ 104.17 रह गया.

Tags: Dollar, RBI, Rbi policy, Rupee weakness

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर