अपना शहर चुनें

States

प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर भारत सरकार की सख्ती पर WhatsApp ने दी सफाई

हाल ही में फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट किया है.
हाल ही में फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को अपडेट किया है.

केंद्र सरकार ने मंगलवार को व्हाट्सऐप (WhatsApp) को प्राइवेसी पॉलिसी में किए गए हालिया बदलाव वापस लेने के लिए कहा था.

  • Last Updated: January 20, 2021, 5:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत सरकार द्वारा प्राइवेसी पॉलिसी में बदलावों को वापस लेने के लिए कहने के एक दिन बाद इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप (WhatsApp) ने बुधवार को कहा कि प्रस्तावित बदलावों से फेसबुक (Facebook) के साथ डेटा शेयर करने की उसकी क्षमता में वृद्धि नहीं होगी और वह इस मुद्दे पर किसी भी सवाल का जवाब देने को तैयार है. दरअसल, भारत सरकार ने मंगलवार को व्हाट्सऐप द्वारा सर्विस और प्राइवेसी पॉलिसी की शर्तों (Terms of Service and Privacy Policy) में बदलावों पर 14 सवाल पूछे थे.

व्हाट्सऐप के एक प्रवक्ता ने कहा, ''हम इस बात की पुष्टि करना चाहते हैं कि यह बदलाव फेसबुक के साथ डेटा शेयर करने की हमारी क्षमता को बढ़ाता नहीं है. हमारा उद्देश्य पारदर्शिता लाना और व्यवसायों को जुड़ने के नए विकल्प उपलब्ध कराना है, ताकि वे अपने ग्राहकों की सेवा कर सकें और वृद्धि हासिल कर सकें.''

इंड टू इंड इनक्रिप्टेड हैं मैसेज
प्रवक्ता ने कहा कि व्हाट्सऐप हमेशा इंड-टू-इंड एन्क्रिप्शन (End-to-End Encryption) के साथ पर्सनल मैसेज की रक्षा करेगा, ताकि न तो व्हाट्सऐप और न ही फेसबुक उन्हें देख सके. प्रवक्ता ने आगे कहा, ''हम गलत सूचनाओं का समाधान करने और किसी भी सवाल का जवाब देने के लिए उपलब्ध हैं.''
ये भी पढ़ें- जानिए क्या होता है मैसेज Message 'Encryption' जिसे लेकर आजकल हंगामा हो रहा है



व्हाट्सऐप को भारत की दो टूक, प्राइवेसी पॉलिसी वापस लें
भारत सरकार ने मंगलवार को व्हाट्सऐप को प्राइवेसी पॉलिसी में किए गए हालिया बदलाव वापस लेने के लिए कहा था. इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने व्हाट्सऐप के सीईओ विल कैथकार्ट (Will Cathcart) को कठोर शब्दों में लिखे एक पत्र में कहा कि भारत में व्हाट्सऐप के सबसे अधिक यूजर्स हैं और भारत व्हाट्सऐप के लिए सबसे बड़ा बाजार है.

ये भी पढ़ें- WhatsApp Privacy Policy: लोगों की नाराजगी से डरा WhatsApp! पहली बार खुद का स्टेटस लगाकर दी सफाई

पत्र में कहा गया, व्हाट्सऐप की सर्विस और प्राइवेसी पॉलिसी की शर्तों में प्रस्तावित बदलावों में इसके यूजर्स को इससे बाहर रहने का विकल्प नहीं दिया गया है. यह भारतीय नागरिकों की स्वायत्तता और उनकी पसंद के संबंध में गंभीर चिंताएं पैदा करता है. मंत्रालय ने व्हाट्सऐप को प्रस्तावित बदलावों को वापस लेने तथा सूचना की प्राइवेसी, पसंद की स्वतंत्रता और डेटा सुरक्षा पर रवैये पर पुन: विचार करने को कहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज