लाइव टीवी
Elec-widget

आंध्र प्रदेश में वाटरशेड प्रोजेक्ट के लिए वर्ल्ड बैंक देगा 500 करोड़ रुपये

News18Hindi
Updated: November 28, 2019, 10:21 AM IST
आंध्र प्रदेश में वाटरशेड प्रोजेक्ट के लिए वर्ल्ड बैंक देगा 500 करोड़ रुपये
आंध्र के पिछड़े इलाकों में सुधार कार्यक्रम से वर्ल्ड बैंक जुड़ना चाहता है.

वर्ल्ड बैंक (World Bank) की टीम ने आने वाले पांच साल के समय में आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) को 500 करोड़ की आर्थिक मदद करने की इच्छा जाहिर की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 10:21 AM IST
  • Share this:
अमरावती. आंध्र प्रदेश राज्य में चल रहे वाटरशेड प्रोजेक्ट ( Watershed Project) को वर्ल्ड बैंक (World Bank) के द्वारा एक बड़ा प्रोत्साहन मिला है. आंध्र के प्रकाशम जिले के अलावा, वर्ल्ड बैंक रायलसीमा के चार जिलों में फैले इस प्रोजेक्ट को आर्थिक मदद देने के लिए सहमत हो गया है. बुधवार को आंध्र के पंचायती राज और ग्रामीण विकास मंत्री रामनचंद्र रेड्डी से वर्ल्ड बैंक की सात सदस्यी टीम ने मुलाकात की और पहले चरण में रायलसीमा और प्रकाशम जिले के पिछड़े क्षेत्रों के विकास के लिए फंड देने पर सहमति दी. वर्ल्ड बैंक की टीम ने आने वाले पांच साल के समय में आंध्र प्रदेश को 500 करोड़ की आर्थिक मदद करने की इच्छा जाहिर की.

वाटरशेड प्रोजेक्ट में 70% फंड वर्ल्ड बैंक देगा-राज्य के वाटरशेड प्रोजेक्ट के बारे में मंत्री ने वर्ल्ड बैंक की टीम के साथ विस्तार में बातचीत की और जल प्रबंधन के कार्यान्वयन, भूमि की उर्वरता बढ़ाने, मानक कृषि सम्बन्धी प्रक्रियाओं और ग्रामीण क्षेत्रों में खेती के सुधार की समीक्षा की. राज्य के वाटरशेड प्रोजेक्ट में 70 % फंड वर्ल्ड बैंक का होगा और 30% फंड राज्य सरकार का होगा, यह पहले ही निर्धारित हो चुका था.

ये भी पढ़ें-स्टोरेज में सड़ गया 32 हजार टन प्याज, यहां 120 रुपये/किलो के पार पहुंचा भाव

>> राज्य ग्रामीण विकास एजेंसी, कृषि विभाग, आंध्र प्रदेश स्पेस एप्लीकेबल सेंटर और कृषि विश्वविद्यालय को मिलाकर बनाये हुए एक संघ के द्वारा राज्य सरकार इस प्रोजेक्ट को लागू करेगी और इसकी देखरेख करेगी.

>> वर्ल्ड बैंक की टीम ने कहा कि वाटरशेड कार्यक्रम के द्वारा जिन जगहों पर पानी कमी है, वहां जल के स्रोतों का संरक्षण किया जाएगा और उचित प्रबंधन तकनीक के द्वारा जल स्रोतों का प्रयोग किया जाएगा.

>> इसी प्रकार से आधुनिक कृषि तकनीकों के बारे में किसानों में जागरूकता फैलाई जायेगी और APSAT के द्वारा मिट्टी की उर्वरता की जांच की जाएगी.

>> इस मौके पर पंचायती राज कमिश्नर गिरिजा शंकर, वाटरशेड प्रोजेक्ट निदेशक वेंकट रेड्डी, वर्ल्ड बैंक अधिकारी ग्रांट मिले, एससी राजशेखर, जेवीआर मूर्ति, कस्तूरी बासु, रंजन बी वर्मा और अन्य अधिकारी भी मौजूद थे.
Loading...

ये भी पढ़ें-PMC बैंक मामला: HDIL मालिक के दो विमान और एक यॉट नीलाम करने का आदेश

सईद अहमद, न्यूज़ 18

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 10:14 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...