Home /News /business /

Indian Railway- विश्‍व के सबसे ऊंचे पुल पर अगले साल दौड़ेगी ट्रेन, जानें कुतुबमीनार से कितना ऊंचा है पुल

Indian Railway- विश्‍व के सबसे ऊंचे पुल पर अगले साल दौड़ेगी ट्रेन, जानें कुतुबमीनार से कितना ऊंचा है पुल

 अभी यूरोप में 137 मीटर ऊंचा पिलर वाला रेलवे पुल है.

अभी यूरोप में 137 मीटर ऊंचा पिलर वाला रेलवे पुल है.

World's Highest railways Bridge: विश्‍व के सबसे ऊंचे पिलर वाले Bridge पर अगले साल से train दौड़नी शुरू हो जाएगी. Northeast के इंफाल में बन रहे पुल के ज्‍यादातर पिलर तैयार हो गए हैं. इसके बाद पुल से ट्रेन का संचालन शुरू हो जाएगा. पिलरों पर बनने वाला पुल 703 मीटर लंबा होगा. यह पुल इंफाल के नोने पर बन रहा है. PM Narendra Modi पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में रेल कनेक्‍टीविटी पर खास फोकस कर रहे हैं, इसलिए पुल निर्माण का काम काफी तेजी से चल रहा है.

अधिक पढ़ें ...

इंफाल. विश्‍व के सबसे ऊंचे पिलर वाले पुल (World’s Highest railways Bridge) से अगले साल से ट्रेन दौड़नी शुरू हो जाएगी. पूर्वोतर ( Northeast) के इंफाल में बन रहे पुल के लिए ज्‍यादातर पिलर तैयार हो गए हैं और बचे हुए दो पिलरों का काम जल्‍द पूरा हो जाएगा. इसके बाद पुल से ट्रेन का संचालन शुरू हो जाएगा. पिलरों पर बनने वाला पुल 703 मीटर लंबा होगा. यह पुल इंफाल के नोने पर बन रहा है. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी (PM Narendra Modi) पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में रेल कनेक्‍टीविटी पर खास फोकस कर रहे हैं, इसलिए पुल का काम काफी तेजी से किया जा रहा है.

पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में नेशनल कैपिटल कनेक्‍टीविटी के तहत कई प्रोजेक्‍ट चल रहे हैं. इसके तहत  मिजोरम की राजधानी इंफाल को भी गुवाहाटी से रेल मार्ग से जोड़ा जा रहा है.  जिरीबाम से इंफाल तक 111 किमी. लंबी रेलवे लाइन का निर्माण किया जा रहा है. इस प्रोजेक्‍ट में 14322 करोड़ रुपये कुल लागत का अनुमान है और अब तक करीब 11000 रुपये खर्च हो चुके हैं.

प्रोजेक्‍ट के चीफ इंजीनियर संदीप शर्मा ने बताया कि विश्‍व के सबसे ऊंचे पिलर वाले रेलवे पुल में कुल 7 पिलर बनाए जाने हैं. इन पिलरों के जरिए जिरीबाम और इंफाल को रेल लाइन से जोड़ा जाएगा. इसके लिए 7 पिलर की जरूरत है और पांच पिलर बनकर तैयार हो चुके हैं. जल्‍द ही बचे हुए दो पिलर तैयार हो जाएंगे. इसके बाद पुल पर ट्रैक बिछाने समेत अन्‍य काम पूरा कर अगले सात अंत तक ट्रेन चला दी जाएगी.

चीफ इंजीनियर के अनुसार पिलर की ऊंचाई 141 मीटर है, जो कुतुबमीनार से दो दोगुना से भी अधिक है. यह विश्‍व का सबसे ऊंचा पिलर पर बनने वाला पुल है. अभी तक यूरोप में 137 मीटर ऊंचे पिलर पर पुल बना है, लेकिन जिरीबाम का पुल बनने के बाद विश्‍व का सबसे ऊंचा रेलवे का पुल होगा. उन्‍होंने बताया कि इस पुल के निर्माण में कई चैलेंज थे. इसके बावजूद ज्‍यादातर काम पूरा किया जा चुका है.

अभी इंफाल से जिरीबाम की दूरी 220 किमी है, जिसे सड़क मार्ग से पूरा करने में 12 घंटे के करीब लग जाते हैं, लेकिन रेलवे लाइन चालू होने के बाद यह दूरी 111  किमी रह जाएगी, जिसे दो से ढाई  घंटे में पूरा किया जा सकता है. यानी लोगों का 10 घंटे के करीब समय बचेगा.

Tags: Indian railway, Indian Railway news, Pm narendra modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर