अंतरिक्ष में बनने जा रहा 400 लोगों के लिए होटल, मिलेंगी कई सुविधाएं, पढ़ें इसकी पूरी जानकारी

इस होटल को Orbital Assembly तैयार करेगी. सांकेतिक तस्वीर

इस होटल को Orbital Assembly तैयार करेगी. सांकेतिक तस्वीर

Orbital Assembly नाम की एक कंपनी ने अंतरिक्ष में होटल बनाने का ऐलान किया है. इस होटल में 400 लोगों के रहने के लिए व्यवस्था होगी. साथ ही, सिनेमाहॉल से लेकर जिम और लाइब्रेरी तक की सुविधा उपलब्ध होगी. 2027 तक इसका ऑपरेशन शुरू होने की उम्मीद है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आपसे कहा जाए कि पृथ्वी के बाहर किसी होटल में रहने का मौका मिले तो आपका रिएक्शन कैसा होगा? चौंकिए मत! कुछ सालों में यह बात हकीकत साबित होने वाली है. अब धरती के बाहर स्पेस में भी होटल खुलने जा रहा है. दरअसल, Orbital Assembly इस पर काम कर रही है. 3 साल पुरानी यह कंपनी पृथ्वी की निचली कक्षा में 2025 तक इसपर काम शुरू कर देगी. डेली मेल की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2027 तक इस होटल को पूरा भी कर लिया जाएगा.

इस होटल में व्यक्तिगत पॉड्स को एक घूमनवाले पहिये से जोड़ दिया जाएगा. अलग-अलग एरिया से ट्यूब्स को X के फॉर्म में कनेक्ट किया जाएगा. यह कुछ इस प्रकार जोड़ा जाएगा कि पहिये की धुरी इसी एक्सल पर होगी. इस होटल में ​थीम वाले रेस्टोरेंट, हेल्थ स्पा, सिनेमाहॉल, जिम, लाइब्रेरी, कॉन्सर्ट वेन्यू, पृथ्वी को देखने के लिए एक लाउंज, बार और कमरे होंगे. इसमें 400 लोगों के लिए व्यवस्था होगी. इस होटल में क्रू मेंबर्स के लिए अलग क्वॉर्टर्स से लेकर हवा, पानी और बिजली की उपलब्धता होगी.

यह भी पढ़ें: भगोड़े विजय माल्या और नीरव मोदी को भारत लाने में क्यों हो रही है देर, एक्सपर्ट से जानिए वजह



पर्सनल मॉड्यूल खरीदने का भी होगा मौका
Orbital Assembly इसके लिए सरकारी एजेंसियों को परर्मानेन्ट स्टेकहोल्डर्स के तौर पर खोज रही है ताकि वे वहां अपनी ​ट्रेनिंग सेंटर खोल सकें. यह होटल हर 90 मिनट में ग्लोब का एक चक्कर पूरा कर लेगा. अगर कोई व्यक्ति चाहता है तो वो 20×12 मीटर के एक मॉड्यूल को खरीद भी सकता है. यह एक तरह से उनके लिए प्राइवेट विला जैसा होगा.

खर्च के बारे में अभी कोई जानकारी नहीं
यह स्पेस स्टेशन एक बहुत बड़े सर्कल के आकार में होगा और यह कृत्रिम गुरुत्वाकर्षण (Artificial Gravity) जेनरेट करने के लिए रोटेट भी करेगा. यह करीब चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण जैसा ही होगा. हालांकि, डेलीमेल की इस रिपोर्ट में इस होटल पर होने वाले खर्च के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है.

गेटवे फाउंडेशन के संस्थापक जॉन ब्लिन्कोव ने इस पर अपनी टिप्पणी देते हुए कहा, 'यही अगला इंडस्ट्रियल रिवॉलुशन होगा.' इस वायेजर के कुछ हिस्से को गेटवे फाउंडेशन ही चलाने वाला है.

यह भी पढ़ें: IRDAI ने हेल्थ इंश्योरेंस को लेकर कंपनियों को दिया ये निर्देश, आपको भी जानना है जरूरी

रोबोट की मदद से होगा तैयार
STAR (Structure Trust Assembly Robot) नाम का एक रोबोट इसके शुरुआती आकार को तैयार करेगा. हालांकि, इसके लिए सबसे पहले कंपनी को गुरुत्वाकर्षण से जुड़ी टेस्टिंग पूरी करनी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज