WPI Data: अप्रैल में चरम पर पहुंची महंगाई, दालों के साथ-साथ अंडा-मांस भी हुआ महंगा

WPI 10.49 प्रतिशत पर पहुंची

WPI 10.49 प्रतिशत पर पहुंची

थोक कीमतों पर आधारित मुद्रास्फीति (WPI Inflation) अप्रैल में अब तक के उच्चतम स्तर 10.49 प्रतिशत पर पहुंच गई. सरकार की ओर से जारी किए गए आंकड़ों से इस बारे में जानकारी मिली है.

  • Share this:

नई दिल्ली: कोरोना काल में महंगाई (wholesale price inflation) से आम जनता परेशान है. गैस सिलेंडर से लेकर पेट्रोल-डीजल तक सभी के दामों में तेजी देखने को मिल रही है. कच्चे तेल और विनिर्मित वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के कारण थोक कीमतों पर आधारित मुद्रास्फीति (WPI Inflation) अप्रैल में अब तक के उच्चतम स्तर 10.49 प्रतिशत पर पहुंच गई. सरकार की ओर से जारी किए गए आंकड़ों से इस बारे में जानकारी मिली है. वहीं, मार्च 2021 में डब्ल्यूपीआई मुद्रास्फीति 7.39 प्रतिशत और अप्रैल 2020 में ऋणात्मक 1.57 प्रतिशत थी.

थोक मूल्य सूचकांक (WPI) पर आधारित मुद्रास्फीति में लगातार चौथे महीने तेजी हुई है. वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने कहा, ‘‘अप्रैल 2021 (अप्रैल 2020 के मुकाबले ) में मासिक डब्ल्यूपीआई पर आधारित मुद्रास्फीति की वार्षिक दर 10.49 प्रतिशत थी.’’

यह भी पढ़ें: RBI ने करोड़ों ग्राहकों को अलर्ट किया! 23 मई को ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने से पहले जान लें ये बात

मंत्रालय ने दी जानकारी
मंत्रालय ने कहा, ‘‘मुख्य रूप से कच्चे तेल, पेट्रोल और डीजल जैसे खनिज तेलों और विनिर्मित उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी के चलते अप्रैल 2021 में मुद्रास्फीति की वार्षिक दर पिछले साल के इसी महीने की तुलना में अधिक है.’’

अंडा-मांस की कीमतों में तेजी

आपको बता दें इस दौरान अंडा, मांस और मछली जैसी प्रोटीन युक्त खाद्य उत्पादों की कीमतों में भारी बढ़ोतरी के चलते खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति 4.92 प्रतिशत रही. हालांकि, सब्जियों की कीमतों में 9.03 प्रतिशत की कमी हुई है. दूसरी ओर अंडा, मांस और मछली की कीमतें 10.88 फीसदी बढ़ीं.



यह भी पढ़ें: PM Kisan: 7 करोड़ से ज्यादा किसानों के अटक गए हैं पैसे, अगर आपके खाते में भी नहीं आई किस्त, तो फटाफट करें ये काम

दालें भी हुई महंगी

अप्रैल में दालों की महंगाई दर 10.74 फीसदी थी, जबकि फलों में यह 27.43 फीसदी रही. इसी तरह ईंधन और बिजली की मुद्रास्फीति अप्रैल में 20.94 प्रतिशत रही, जबकि विनिर्मित उत्पादों में यह 9.01 प्रतिशत थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज