यमुना अथॉरिटी को 7 जून तक मिलेगी Film City की डीपीआर, जल्द मिलेगा बिजनेस करने का मौका

यमुना अथॉरिटी को 7 जून तक मिलेगी Film City की डीपीआर

यमुना अथॉरिटी को 7 जून तक मिलेगी Film City की डीपीआर

एक हजार एकड़ में तैयार होने वाली फिल्म सिटी पर करीब 6 हजार करोड़ रुपये की लागत आएगी. पीपीपी मॉडल (PPP Model) पर तैयार होने वाली फिल्म सिटी से अथॉरिटी को कैसे कमाई होगी, इसके लिए तीन में से कोई एक मॉडल चुना जाएगा.

  • Share this:

नई दिल्ली: यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) के सेक्टर-21 में बनने वाली फिल्म सिटी (Film City) का काम अब ज़ोर पकड़ने वाला है. आने वाले तीन दिन बाद अथॉरिटी को फिल्म सिटी की डीपीआर तैयार होकर मिल जाएगी. डीपीआर (DPR) बनाने का काम विदेशी कंपनी ने किया है. इसके बाद आगे की मंजूरी के लिए डीपीआर को यूपी सरकार (UP Government) के पास भेज दिया जाएगा. पीपीपी मॉडल (PPP Model) पर तैयार होने वाली फिल्म सिटी से अथॉरिटी को कैसे कमाई होगी, इसके लिए तीन में से कोई एक मॉडल चुना जाएगा. एक हजार एकड़ में तैयार होने वाली फिल्म सिटी पर करीब 6 हजार करोड़ रुपये की लागत आएगी.

जानिए फिल्म सिटी के अंदर कितने एरिया में क्या बनेगा

फिल्म सिटी की डीपीआर विदेशी कंपनी कोल्डवेल बैंकर्स रिचर्ड एलिस साउथ एशिया प्रा. लिमिटेड (सीबीआरआई) ने तैयार की है. जानकारों की मानें तो सीबीआरआई ने ने यमुना अथॉरिटी को अपने जो सुझाव दिए थे उसके तहत फिल्म सिटी में स्टेट ऑफ आर्ट स्टूडियो, आउटडोर सेट और शूटिंग विलेज बनाने होंगे. पोस्ट प्रोडक्शन के क्षेत्र में वीएफएक्स स्टूडियो बनाए जाएंगे. एडिटिंग स्टूडियो, म्यूजिक डबिंग स्टूडियो बनेंगे.

फिल्म प्रीमियर और फिल्म फेस्टीवल के लिए खास आयोजन स्थल होगा. फिल्म एकेडमी बनाने की भी जरूरत होगी. इसके साथ ही पंचतारा होटल, डारमेट्री, रिटेल शॉप, रेस्टोरेंट और मनोरंजन पार्क भी बनेंगे. साथ ही लोगों को फिल्मों का इतिहास बताने और दिखाने के लिए एक म्यूजियम बनाने की भी जरूरत होगी. इसकी डीपीआर हॉलीवुड की तर्ज पर तैयार की जा रही है.
अस्पतालों की बेजा वसूली के खिलाफ चश्मा कारोबारी की याचिका हाईकोर्ट ने की मंजूर

जानकारों की मानें तो फिल्म सिटी में स्टूडियो 1513 एकड़ में, रिटेल मॉल 989, फिल्म इंस्टीट्यूट 914, इंफ्रास्ट्रक्चर विकास 842, होटल रेस्टोरेंट 532, बैकलॉट सेट 393, एम्यूजमेंट पार्क 378, आवासीय मकान 307, ऑफिस 227, बैकलॉट वर्कशॉप 214 और बैकलॉट ओपन एरिया 149 एकड़ में होगा.

यमुना अथॉरिटी को फिल्म सिटी से ऐसे होगी इनकम



जानकार बताते हैं कि अभी तक इस प्रस्ताव पर मुहर नहीं लगी है कि यमुना अथॉरिटी को फिल्म सिटी से किस तरह इनकम होगी या फायदा मिलेगा. लेकिन अथॉरिटी को इनकम का हिस्सा कैसे मिलेगा इसके लिए तीन मॉडल तैयार कर लिए गए हैं. पहला मॉडल है प्रीमियम बेस्ड. इस मॉडल के तहत फिल्म सिटी तैयार करने वाली कंपनी हर साल एक तय किराया अथॉरिटी को देगी. लेकिन शुरुआत के चार साल कंपनी की तरफ से अथॉरिटी को किसी भी तरह का पैसा नहीं दिया जाएगा.


दूसरा मॉडल है दूसरा रेवेन्यू शेयरिग. इस मॉडल के तहत जो भी इनकम फिल्म सिटी से होगी उसमे कंपनी और अथॉरिटी की हिस्सेदारी तय कर दी जाएगी. तीसरा और आखिरी मॉडल है हाइब्रिड मॉडल.

इस मॉडल में फिल्म सिटी से होने वाले वार्षिक किराए और आमदनी में कंपनी और अथॉरिटी की हिस्सेदारी रखी गई है. लेकिन इसमे शर्त यह रहेगी कि कंपनी अथॉरिटी को 10 साल बाद किराया देना शुरु करेगी. लेकिन मुनाफे में से हिस्सेदारी जल्द ही शुरु हो जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज