Lockdown में भी इस सरकारी संस्था ने कमाए हजारों करोड़ रुपए, अपनाया था यह तरीका

यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रीयल डवलपमेंट अथॉरिटी

यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रीयल डवलपमेंट अथॉरिटी

यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रीयल डवलपमेंट अथॉरिटी (YEIDA) ने लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान रेवेन्यू की रिकॉर्ड कमाई की है. रेवेन्यू के मामले में अथॉरिटी ने बीते वित्त वर्ष के अपने ही सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं.

  • Share this:
नोएडा. वित्त वर्ष 2020-21 शुरू होने से पहले ही कोरोना (Corona) के चलते लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया था. तीन से चार महीने तक सभी तरह की गतिविधियां रुक सी गईं थी. लॉकडाउन हटने के बाद भी हालात एकदम से सामान्य नहीं हो पाए. बावजूद इसके यूपी की संस्था यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रीयल डवलपमेंट अथॉरिटी (YEIDA) ने लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान रेवेन्यू की रिकॉर्ड कमाई की है. रेवेन्यू के मामले में अथॉरिटी ने बीते वित्त वर्ष के अपने ही सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. और यह सब मुमकिन हुआ ऑनलाइन से. जब लोग कोरोना के डर से कहीं आना-जाना तो दूर अपने घर से बाहर निकलने में भी डर रहे थे तो अथॉरिटी ऐसे में ऑनलाइन (Online) अपनी जमीन बेच रहा था.

यीडा के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह के मुताबिक मौजूदा वित्त वर्ष 2020-21 में अब तक अथॉरिटी 2 हजार करोड़ रुपये का रेवेन्यू कमा चुकी है. अभी 31 मार्च में वक्त है तो हमे उम्मीद है कि बाकी बचे 20 से 22 दिन में हम 500 करोड़ रुपये और कमा लेंगे. इस तरह से इस वित्त वर्ष में हम 2500 करोड़ रुपये का रेवेन्यू कमाने में कामयाब हो जाएंगे. अथॉरिटी के लिए यह अभी तक का सबसे ज्यादा रेवेन्यू है.

लॉकडाउन में अथॉरिटी ने कहां-कितने प्लाट बेचे



अथॉरिटी के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान करीब 566 एकड़ जमीन पर प्लाट बेचे गए. इन सभी प्लाट की संख्या 871 थी. यह बड़ी योजनाओं के प्लाट हैं. जिसमे सेक्टर-29 और सेक्टर-33 में अपैरल (रेडीमेट गॉरमेंट) पार्क को (124 प्लाट), हैंडीक्राफ्ट पार्क (76 प्लाट), एमएसएमई पार्क (516 प्लाट) और खिलौना (टॉय) पार्क (111 प्लाट) के आवंटन किए गए. इतना ही नहीं इस दौरान अथॉरिटी ने अलग-अलग तरह की 10 प्लाट आवंटन की योजनाएं भी लॉन्च की हैं. खास बात यह है कि इस सब से अथॉरिटी को तो रेवेन्यू मिला ही साथ में 7500 करोड़ के निवेश से 2 लाख लोगों को रोजगार भी मिलेगा.
Delhi-NCR में गर्मियों के दौरान ऐसे होगी दूध की सप्लाई, जानिए इमरजेंसी प्लान के बारे में सबकुछ

अथॉरिटी ने लॉकडाउन में उतार दिया एक हजार करोड़ का कर्ज

यीडा के लिए यह एक बड़ी कामयाबी है कि जब लॉकडाउन के दौरान बहुत सारी इंडस्ट्री पर ताला लगा हुआ था तो वो ऑनलाइन अपनी प्रॉपर्टी को बेच रही थी. प्रॉपर्टी बेचकर रिकॉर्ड तोड़ रेवेन्यू भी कमा रही थी. और खास बात यह है कि इसी रेवेन्यू से यीडा ने अपना एक हज़ार करोड़ रुपये का कर्ज भी कम किया है. सूत्रों की मानें तो एक साल पहले तक यीडा पर 2.5 हजार करोड़ रुपए का कर्ज था.

लेकिन चालू वित्त वर्ष के दौरान बैंक और नोएडा अथॉरिटी को यीडा ने एक हजार  करोड़ रुपए लौटाकर अपने कर्ज को कम किया है. अब यीडा के ऊपर करीब डेढ़ हजार करोड़ रुपए का कर्ज बचा है. यीडा के सीईओ का मानना है कि अगले दो साल में यीडा कर्ज मुक्त हो जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज