यस बैंक ने दूर की ग्राहकों की दुविधा, कहा- हमारे लिए आप पहली प्राथमिकता

यस बैंक ने दूर की ग्राहकों की दुविधा, कहा- हमारे लिए आप पहली प्राथमिकता
यस बैंक

यस बैंक प्रशासन ने CNBC आवाज़ से एक्सक्लुसिव बातचीत में कई जानकारियां दी है. इस दौरान बैंक प्रशासन ने कहा कि हमारे लिए ग्राहक ही पहली प्राथमिकता हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. यस बैंक संकट (YES Bank Crisis) मामला सामने आने के बाद आत पहली बार यस बैंक ने अपने ग्राहकों की दुविधा को लेकर कई जवाब दिए हैं. यस बैंक प्रशासन ने सोमवार को कहा कि हमारे लिए खाताधारकत पहली प्राथ​मिकता हैं. इसके अलावा भी CNBC आवाज़ से एक्सक्लुसिव बातचीत में यस बैंक ने कई बातों को जानकारी दी है.

यस बैंक और SBI का विलय नहीं होगा
अधिकतर ग्राहकों के बीच इस बात की चर्चा हो रही थी कि यस बैंक का भारतीय स्टेट बैंक (SBI) में विलय हो जाएगा. इसको लेकर यस बैंक ने साफ किया कि यस बैंक और SBI का विलय नहीं होगा. बल्कि, यस बैंक में SBI 49 फीसदी तक हिस्सेदारी खरीद सकती है. इसको लेकर प्रस्तावित प्लान में यह कहा गया है कि यस बैंक में एसबीआई 10 रुपये की दर से शेयर खरीदेगी. इसके लिए यस बैंक की फेस वैल्यू 2 रुपये प्रति शेयर और 8 रुपये प्रति शेयर प्रीमियम दर की बात कही गई है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, यस बैंक में एसबीआई 2,450 करोड़ रुपये का निवेश कर सकती है.





यह भी पढ़ें: 8 दिन में कर लें ये काम, वरना बंद हो जाएगी डेबिट-क्रेडिट कार्ड की यह सुविधा

शुरू हो चुकी है ATM सेवा
वहीं, यस बैंक प्रशासन यह भी जानकारी दी कि ग्राहकों के लिए ATM सेवा शनिवार से ही शुरू कर दी गई. बैंक के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी इस बारे में जानकारी दी है. हालांकि, कुछ ग्राहकों को इसके बाद भी परेशानी हो रही थी. बैंक ने इसको लेकर कहा है क वो तकनीकी समस्याओं का समाधान कर रहा है.

RBI ने लगाया था प्रतिबंध
यस बैंक ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को भी धन्यवाद दिया है. बता दें कि बीते 5 मार्च को RBI ने केंद्र सरकार से विचार विमर्श करने के बाद यस बैंक पर प्रतिबंध लगा दिया है. इसके बाद यस बैंक डिपॉजिटर्स (YES Bank Depositors) एक महीने के भीतर अपने खाते से 50,000 रुपये से अधिक रकम की निकासी नहीं कर सकते हैं. RBI ने यह प्रतिबंध 3 अप्रैल 2020 तक के लिए लगाया है. इस प्रतिबंध के बाद से ही यस बैंक के ग्राहक अगले दिन से ATM और बैंक ब्रांच में घंटों खड़े दिखाई दिए.

यह भी पढ़ें: बेहद खास है पोस्ट ऑफिस की ये स्कीम, 100 रुपये की बचत से भी होगा मोटा मुनाफा

हट सकती है पैसे निकालने पर लगी रोक
यस बैंक का नियंत्रण स्टेट बैंक के हाथ में आने के साथ ही यस बैंक से जुड़ी लिक्विडिटी और वॉयबिलिटी की चिंता कम हो गई है. ऐसी स्थिति में पैसे की निकासी पर नियंत्रण से नकारात्मक असर पड़ सकता है. लिहाजा पैसे निकालने की लिमिट को 3 अप्रैल के पहले ही RBI खत्म कर सकता है. RBI पहले 16 मार्च को पैसे निकालने की लिमिट खत्म करने का विचार कर रही थी, लेकिन बैंक के AT1 बॉन्ड होल्डर्स सुप्रीम कोर्ट जा रहे हैं. ऐसे में इस बात की पूरी संभावना जताई जा रही है कि यह मामला एक हफ्ते तक खिंच सकता है. लिहाजा एक हफ्ते तक आगे की तारीख बढ़ा दी गई.

यह भी पढ़ें: राणा कपूर को नहीं थी 'No' कहने की आदत, सी-फेसिंग घर में होती थी 'पार्टी'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading