YES बैंक मामले में राणा कपूर को राहत नहीं, हिरासत अवधि 20 मार्च तक बढ़ी

YES बैंक मामले में राणा कपूर को राहत नहीं, हिरासत अवधि 20 मार्च तक बढ़ी
राणा कपूर की फाइल फोटो

मनी लॉन्ड्रिंग केस में यस बैंक (YES Bank) के को-फाउंडर राणा कपूर की प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) की हिरासत की अवधि 20 मार्च तक बढ़ी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 16, 2020, 6:49 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मुंबई की विशेष अदालत ने सोमवार को मनी लॉन्ड्रिंग केस में यस बैंक (YES Bank) के को-फाउंडर राणा कपूर की प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) की हिरासत की अवधि 20 मार्च तक बढ़ा दी है. 62 वर्षीय बैंक शुरुआत में 11 मार्च तक ED की हिरासत में थे, जिसे बाद में बढ़ाकर 16 मार्च कर दी गई थी. राणा कपूर पर आरोप है कि उन्होंने अपने कार्यकाल में विभिन्न निकायों को 30 हजार करोड़ रुपये के कर्ज आवंटित किए. ईडी के अनुसार, इनमें से 20 हजार करोड़ रुपए के कर्ज एनपीए बन गए. प्रवर्तन निदेशालय यह जांच कर रही है कि इन पैसों का किस तरह हेर-फेर हुआ.

बुधवार से शुरू हो जाएंगी सारी बैंकिंग सेवाएं
यस बैंक (Yes Bank) को पटरी पर लाने के लिए लागू हुए नए प्लान के बाद अब यस बैंक खाताधारकों के लिए एक राहत की खबर है. बैंक ने आज यानी सोमवार को ट्वीट कर ये जानकारी दी है कि खाताधारकों के ऊपर से बैंक ने सारे प्रतिबंध हटा लिए हैं. यानी 18 मार्च शाम 6 बजे के बाद ग्राहक अपने खाते से सामान्य लेन-देन कर सकेंगे. खाताधारक बैंक की सभी 1,132 शाखाओं से लेनदेन कर सकेंगे.

ये भी पढ़ें: कोरोना पर RBI ने उठाए ये दो बड़े कदम, अगली बैठक में ब्याज दरों में कटौती संभव
यस बैंक को 18,564 करोड़ रुपये का घाटा


संकटग्रस्त यस बैंक ने दिसंबर, 2019 में समाप्त हुई तिमाही में उसे 18,564 करोड़ रुपये का घाटा होने की शनिवार को जानकारी दी. निजी क्षेत्र के इस बैंक का संचालन फिलहाल भारतीय रिजर्व बैंक के आदेश पर प्रशांत कुमार कर रहे हैं. बैंक ने पिछले साल इसी अवधि में 1,000 करोड़ रुपये का लाभ दर्ज किया था और सितंबर में समाप्त हुई तिमाही में 629 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. यस बैंक की गैर-निस्पादित परिसंपत्तियां (एनपीए) दिसंबर तिमाही में 18.87 प्रतिशत हो गयी हैं जो पिछली तिमाही (सितंबर) में 7.39 प्रतिशत थीं. साथ ही बैंक के पास अनिवार्य रूप से रखी जाने वाली नकदी में भी गिरावट आयी है.

ये भी पढ़ें: PMFBY: किसान या कंपनी कौन काट रहा फसल बीमा स्कीम की असली ‘फसल’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading