लाइव टीवी

यस बैंक के निवेशक एक झटके में हुए मालामाल, एक घंटे में कमाएं 4500 करोड़ रुपये

News18Hindi
Updated: October 31, 2019, 6:03 PM IST
यस बैंक के निवेशक एक झटके में हुए मालामाल, एक घंटे में कमाएं 4500 करोड़ रुपये
Yes Bank को हांगकांग की कंपनी से करीब 8,520 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट ऑफर मिला है.

प्राइवेट सेक्टर के बैंक Yes Bank के शेयर में अचानक 30 फीसदी से ज्यादा की तेजी आई है. इस तेजी में निवेशकों को कुछ ही मिनटों में 4500 करोड़ रुपये का फायदा हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2019, 6:03 PM IST
  • Share this:
मुंबई. प्राइवेट सेक्टर के बैंक Yes Bank को लेकर बड़ी खबर आई है. बैंक को हांगकांग की कंपनी से करीब 8,520 करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट (Yes Bank gets binding offer) ऑफर मिला है. इस खबर के बाद बैंक (Yes Bank Share Price) के शेयर में 30 फीसदी का उछाल आया है. इससे कुछ ही मिनटों में बैंक का मार्केट कैप 4,500 करोड़ रुपये बढ़ गया. यह एक घंटे मेंं 14,455 करोड़ रुपये से बढ़कर 19 हजार करोड़ रुपये के करीब पहुंच गया है. हालांकि, कारोबार के अंत में बैंक शेयर (23.77%) चढ़कर 70.30 के स्तर पर बंद हुआ. इस पर एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर किसी के पास यस बैंक का शेयर है तो उसे कुछ शेयरों में मुनाफावसूली कर लेनी चाहिए. मौजूदा स्तर से नया निवेश भी किया जा सकता है.

क्यों आई शेयर में तेजी- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हांगकांग की कंपनी SPGP की ओर से 120 करोड़ डॉलर (करीब 8,520 करोड़ रुपये) का इन्वेस्टमेंट ऑफर मिला है. BSE (Bombay Stock Exchange) को दी गई जानकारी में बताया गया है कि यस बैंक में निवेश को लेकर कई कंपनियों ने अपना रुझान दिखाया है. वहीं, एक बड़ी कंपनी से यस बैंक को बाइंंडिंग ऑफर भी मिला है. इस खबर के बाद कंपनी के शेयर में तेजी आई है. बैंक की मार्केट कैप बढ़कर 18 हजार करोड़ रुपये हो गई है.

ये भी पढ़ें-भारत को सऊदी अरब ने दिया दिवाली गिफ्ट, नहीं महंगा होगा भारत में पेट्रोल-डीजल

 

अब क्या होगा- एक्सपर्ट्स का कहना है कि इस ऑफर के बाद यस बैंक को शेयरधारकों और निवेशकों की मंजूरी लेनी होगी. साथ ही सभी रेग्युलेटरी यानी SEBI और RBI की मंजूरी भी जरूरी है.



वीएम पोर्टफोलियो के रिसर्च हेड विवेक मित्तल ने न्यूज18 हिंदी को बताया कि यस बैंक के साथ सबसे बड़ी परेशानी पैसों को लेकर थी. अब अगर बैंक को 8,520 करोड़ रुपये की रकम मिल जाती है तो बैंक की सबसे बड़ी टेंशन दूर हो जाएगी. ऐसे में बैंक के शेयर में और तेजी आने की उम्मीद है.

आपको बता दें कि करीब 15 साल पहले शुरू हुआ यस बैंक संकट के दौर से गुजर रहा है. सिर्फ एक साल में यस बैंक के निवेशकों को 90 फीसदी से अधिक का नुकसान हो गया है. वहीं, शेयर भी 400 रुपये से लुढ़क कर 40 रुपये के स्‍तर पर आ गया था. इस दौरान बैंक के मार्केट कैप में भी 70 हजार करोड़ रुपये से अधिक की गिरावट आई है.

Yes Bank की सबसे बड़ी टेंशन-यस बैंक के खराब दिनों की शुरुआत उन दिनों से मानी जाती है जब बैंक के चेयरमैन राणा कपूर को आरबीआई की ओर से जबरन हटाया गया. तभी बैंक के कामकाज को लेकर भी कई निगेटिव खबरें आईं.

इसके बाद RBI ने स्विफ्ट कम्प्लाइंसेस में अनदेखी के कारण बैंक पर एक करोड़ रुपए की पेनल्टी भी लगाई. लेकिन बैंक के सामाने सबसे बड़ी परेशानी क्यूआइपी को भी खरीदार नहीं मिलना थी. इससे निवेशकों का भरोसा बैंक से उठ गया. राणा कपूर बैंक को छोड़ चुके है. वहीं, अब वह अपनी हिस्सेदारी बेच रहे है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पैसा बनाओ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 1:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...