Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    चीन से निकलने वाली कंपनियों पर सीएम योगी की नजर, वैश्विक स्तर की सुविधा का वादा

    पुलिस कस्टडी में व्यक्ति की मौत पर सख्त CM योगी (फाइल फोटो)
    पुलिस कस्टडी में व्यक्ति की मौत पर सख्त CM योगी (फाइल फोटो)

    चीन से कोरोना वायरस के शुरुआती मामले निकलने के बाद अब कई बहुराष्ट्रीय कंपनियां (MNC's) अपने प्रोडक्शन को यहां से निकालना चाहती है. इसी को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) इन कंपनियों से संपर्क कर अपने यहां निवेश का प्रस्ताव दे रही है.

    • Share this:
    लखनऊ. कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर की कई कंपनियां अब चीन से बाहर निकलने की योजना पर काम कर रही हैं. इसको देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार (UP Government) अब इन कंपनियों से सीधे तौर पर संपर्क कर उन्हें अपने यहां निवेश के लिए तैयार करने में जुटी है. यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की बनाई हुई टास्क फोर्स (UP Investment Task Force) अपने प्रस्ताव में इन कंपनियों को कई तरह की सुविधाएं प्रदान करने की गारंटी दे रही है, ताकि अधिक से अधिक कंपनियों को उत्तर प्रदेश लाया जा सके.

    इन कंपनियों के लिए भारत बड़ा बाजार
    उत्तर प्रदेश सरकार की नजर जापान, अमेरिकी और यूरोपिय कंपनियों पर है, जो अब चीन से बाहर निकलने की सोच रही हैं. महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक ये कंपनियां चीन की तर्ज पर दूसरे देशों में कारोबार स्थापित करने की सोच रही हैं और बड़ा बाजार होने के नाते इसका विकल्प उन्हें भारत में नजर आता है.

    आगरा आ रही जर्मनी की फुटवियर कंपनी
    इसको देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने विदेशों कंपनियों को अपने यहां निवेश करने और उद्योग लगाने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया है. ये टास्क फोर्स विदेशी कंपनियों के प्रदेश में रेड कारपेट बिछा रही हैं जिसके फलस्वरूप हाल ही में एक दिग्गज जर्मन फुटवेयर कंपनी ने अपना प्लांट आगरा में शिफ्ट करने का फैसला किया है.



    यह भी पढ़ें: 3 महीने तक PF कंट्रीब्यूशन घटाने से क्या होगा सैलरी पर असर? EPFO ने दिए जवाब

    यूरोपियन कंपनियों के उद्योग समूह से चर्चा
    विदेशी कंपनियों को अपने यहां लाने की मुहिम के अंतगर्त हाल ही में उत्तर प्रदेश के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने यूरोपियन कंपनियों के उद्योग समूह के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग पर चर्चा की. इस समूह में 74 सदस्य शामिल थे. यूपी सरकार ने जिस उद्योग समूह से चर्चा की उसमें इटली, बेल्जियम, डेनमार्क आदि देशों के राजदूत भी शामिल रहे. यूपी सरकार की ओर से इनको उद्योग लगाने के लिए पूरा सहयोग देने की बात कही गई.

    कंपनियों को वैश्विक स्तर की सुविधा देने का वादा
    मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह के अनुसार, चीन से शिफ्ट होने वाली कंपनियों को राज्य सरकार वैश्विक स्तर की बुनियादी सुविधा उपलब्ध करायेगी. ग्रेटर नोएडा के नजदीक हवाई अड्डा तैयार हो रहा है. इसकी वजह से हवाई यातायात आसान होगी. इसके अलावा राज्य में 11 हवाई अड्डे और तैयार हो रहे हैं. रोड मार्ग की सुचारू और तेज आवाजाही के लिए एक्सप्रेस हाइवे तैयार किये जा रहे हैं. इसके साथ औद्योकीकरण के लिए सरकार बिजली, वेयरहाउसिंग, लॉजिस्टिक्स, फार्मा, औद्योगिक पार्क, फूड प्रोसेसिंग में बडे सुधार कर रही है.

    यह भी पढ़ें: 15 साल पुराने कार, बस, ट्रक हो जाएंगे कबाड़, सरकार जल्द ला सकती है ये पॉलिसी
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज