लाइव टीवी

नहीं मिल रहे नाम और जन्मतिथि तो भी लिंक करा सकते हैं पैन-आधार, जानिए कैसे

News18Hindi
Updated: March 1, 2020, 5:13 PM IST
नहीं मिल रहे नाम और जन्मतिथि तो भी लिंक करा सकते हैं पैन-आधार, जानिए कैसे
पैन—आधार में डेटा मिसमैच होने पर भी दोनो डाक्युमेंट्स कर सकते हैं लिंक

कई बार ऐसा होता है कि आधार कार्ड और पैन कार्ड में दिया गया डेटा एक समान नहीं होता है. ऐसी स्थिति में अगर पैन-आधार लिंक (PAN-Aadhaar Link) करने के रिक्वेस्ट को​ रिजेक्ट हो जाता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप भी चाहते हैं कि 31 मार्च के बाद आपका पैन कार्ड (PAN Card) इनऑपरेटिव न हो तो आपको ये सुनिश्चित करना होगा कि आपका पैन कार्ड और आधार कार्ड एक दूसरे लिंक जरूर हो. आधार-पैन को लिंक करने की प्रक्रिया बेहद ही आसान है. इसे आम महज कुछ मिनट में ही घर बैठे पूरा कर सकते हैं. लेकिन उन लोगों के लिए परेशानी बढ़ गई है, जिनके आधार और पैन में दी गई जानकारी एक दूसरे से मैच नहीं करती है.

लिंकिंग से पहले UIDAI मैच करता है डेटा
ऐसे हजारों टैक्सपेयर्स हैं जिनकी नाम, जन्मतिथि, जेंडर समेत कई जरूरी जानकारी पैन कार्ड और आधार कार्ड में मैच नहीं करती है. इसके कई कारण हो सकते हैं. आधार और पैन को लिंक करने की प्रक्रिया में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Department of Income Tax) UIDAI से डेटा को मैच करता है. अगर दोनों डॉक्युमेंट्स में दी गई जानकारी मैच नहीं करती है तो लिंकिंग रिक्वेस्ट रिजेक्ट हो जाता है.

गलत आइडेंटिफिकेशन या किसी अन्य गड़बडझाले से निपटने के ​लिए UIDAI ने दिसंबर 2017 में ही जरूरी जानकारियों की पार्शियल मैचिंग प्रोसेस बंद कर दिया है.



यह भी पढ़ें: पीएम किसान स्कीम में बड़ा बदलाव- करोड़ों किसानों को मिलेगा सीधा फायदा



मिसमैच होता है डेटा तो क्या करें?
अगर आपका भी पैन-आधार लिंकिंग प्रक्रिया डेटा मिसमैच होने की वजह से रिजेक्ट हो जाती है तो आपके पास बायोमेट्रिक आधार ऑथेन्टिकेशन (Biometric Aadhaar Authentication) का विकल्प होता है. इसके लिए आपको NSDL के पोर्टल से आधार सीडिंग रिक्वेस्ट (Aadhaar Seeding Request) डाउनलोड करना होगा. इसके बाद आपको अपने नजदीकी पैन सेंटर जाकर ऑफलाइन ही बायोमेट्रिक आधार ऑथेन्टिकेशन प्रक्रिया पूरी करानी होगी. आप NSDL या UTITSL की वेबसाइट की मदद से अपने नजदीकी पैन सेंटर के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं..

 

 

आपके पास क्या है दूसरा विकल्प
यह 1 पन्ने का बेहद ही आसानी फॉर्म है, जिसमें आपको अपना पैन नंबर, आधार नंबर और दोनों डॉक्युमेंट्स में दिए गए नाम को भरना होगा. इसके लिए अलावा आपके पास एक और विकल्प है, जिसकी मदद से आपका काम बन सकता है. आधार-पैन लिंक करने की प्रक्रिया से पहले आपको किसी एक डॉक्युमेंट में जरूरी जानकारी को अपडेट कराना होगा. इसे पूरा होने के बाद आप खुद ही ऑनलाइन पैन-आधार लिंक कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: आपके घर के पानी का भी स्टैंडर्ड होगा तय, सरकार जल्द लाने वाली है नया नियम

नहीं किया पैन-आधार लिंक तो क्या होगा?
हाल ही में वित्त मंत्रालय (Ministry of Finance) ने संसद में जानकारी दी है कि देश में कुल 48 करोड़ पैन कार्ड जारी किए गए हैं. इसमें से 17 करोड़ पैन कार्ड को आधार से लिंक किया जाना है. मंत्रालय ने यह आंकड़ा 31 जनवरी 2020 तक के लिए दिया था. बता दें कि सरकार ने एक नोटिफिकेशन जारी कर कहा है कि जिस पैन कार्ड को डेडलाइन से पहले लिंक नहीं जाता है तो इसे इनऑपरेटिव करार दिया जाएगा. इसका सीधा मतलब है कि अगर कोई पैन कार्ड आधार कार्ड से लिंक नहीं किया जाता है तो ये माना जाएगा कि उस शख्स के पास पैन कार्ड है ही नहीं. इसके बाद अगर वो शख्स अपना पैन कार्ड जरूरी जगहों पर उपलब्ध नहीं कराता है तो इसे नियमों का उल्लंघन माना जाएगा.

यह भी पढ़ें: इंश्योरेंस प्रीमियम पर चुकाए GST पर भी ले सकते हैं टैक्स छूट, जानें कैसे?
First published: March 1, 2020, 4:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading