Home /News /business /

you cannot invest in mutual funds with the amount kept in zerodhas trading account know the reason jst

जेरोधा के ट्रेडिंग अकाउंट में रखी राशि से म्यूचुअल फंड में नहीं कर पाएंगे निवेश, जानिए क्या है इसकी वजह

किसी भी ट्रेडिंग अकाउंट में रखी राशि का इस्तेमाल अब म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए नहीं हो सकेगा.

किसी भी ट्रेडिंग अकाउंट में रखी राशि का इस्तेमाल अब म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए नहीं हो सकेगा.

जेरोधा के ट्रेडिंग अकाउंट में रखे पैसों का इस्तेमाल अब निवेशक म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए नहीं कर पाएंगे. सेबी ने इस प्रैक्टिस पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है. अब निवेशकों को सीधे बैंक अकाउंट से म्यूचुअल फंड में निवेश करना होगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. बाजार नियामक सेबी ने 1 जुलाई से ट्रेडिंग अकाउंट में रखे पैसों से म्यूचुअल फंड में निवेश पर रोक लगा दी है. इसके बाद शुक्रवार जेरोधा के कॉइन ऐप पर यूर्जस ट्रेडिंग अकाउंट में रखे पैसों से म्यूचुअल फंड में निवेश करने में परेशानियों का सामना करना पड़ा. अब निवेशक का पैसा उसके बैंक से सीधे फंड कंपनी के पास पहुंचेगा.

अभी तक निवेशकों को पहले ब्रोकर या अन्य इंटरमीडियरीज के पास पैसा जमा करते थे. वे इस पैसे को अपने पास पूल करते थे और फिर फंड्स को भेजा जाता था. लेकिन सेबी ने अब इस पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है.

ये भी पढ़ें- Investment Tips : रिटायरमेंट करीब है और नहीं कर सके बचत तो कहां लगाएं पैसा? कम समय में बनेगा मोटा फंड

जेरोधा ने क्या कहा?
जेरोधा ने कहा है कि कॉइन ऐप पर ट्रांजेक्शन के लिए कंपनी बीएसई स्टार एमएफ का सहारा लेती है लेकिन इसमें कुछ खामी आने के कारण ट्रांजेक्शन प्रोसेस होने में परेशानी आ रही है. कंपनी ने कहा है कि वह इस मुद्दे को लेकर बीएसई से संपर्क में है और इसे जल्द सुलझा लिया जाएगा. जेरोधा ने यह भी बताया है कि जिन लोगों ने म्यूचुअल फंड की एसआईपी के लिए बीएसई द्वारा जारी लिंक से पेमेंट किया है उन्हें दोबारा पेमेंट करने की जरूरत नहीं है. बकौल जेरोधा, लेकिन यूजर्स को सलाह दी जाती है कि वह आगे से कॉइन ऐप के जरिए ही पेमेंट करें और बीएसई के भेजे लिंक को नजरअंदाज करें.

ट्रेडिंग अकाउंट के पैसों से म्यूचुअल फंड में निवेश नहीं
जेरोधा ने बताया है कि अब उसके अकाउंट में रखे पैसों का इस्तेमाल लोग म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए नहीं कर पाएंगे. यूजर्स को म्यूचुअल फंड एसआईपी का भुगतान करने के लिए जेरोधा के ट्रेडिंग अकाउंट से जुड़े बैंक खाते का इस्तेमाल करना होगा. फंड से पैसा निकालने की प्रक्रिया भी यही रहेगी और रकम सीधा बैंक अकाउंट में पहुंचेगी.

ये भी पढ़ें- विदेशी निवेशकों की निकासी जारी, जून में FII ने ₹50,203 करोड़ शेयर बाजार से निकाले

रियल टाइम इन्वेस्टमेंट का फायदा नहीं
अभी तक चले आ रहे सिस्टम में निवेशकों को यूनिट अलॉटमेंट का पता देर से चलता था. दरअसल, ब्रोकर पैसों को पूल कर फंड कंपनियों के पास भेजते थे तो कंपनियों के लिए वास्तविक खाताधारक की पहचान करना मुश्किल हो जाता था. फंड्स एक बार खाते की पहचान होने के बाद ही यूनिट अलॉट करते थे. इससे अलॉटमेंट में देरी होती थी और निवेशकों को रियल टाइम इन्वेस्टमेंट का लाभ नहीं मिल पाता था.

Tags: Business news, Business news in hindi, Investment, Mutual fund, SIP

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर