क्या आपकी भी नहीं आई PM Kisan की किस्त, फटाफट इन नंबरों पर करें शिकायत, तुरंत होगा समाधान

पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana)

पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana)

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) स्कीम की 8वीं किस्त के पैसे जिन किसानों को अभी तक नहीं मिले हैं वो सरकार द्वारा जारी इन नंबरों पर शिकायत कर सकते हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) स्कीम की आठवीं किस्त देशभर के करोड़ों किसानों के खाते में कल यानी शुक्रवार को भेज दी गई, लेकिन कई किसान ऐसे भी हैं जिन्हें किस्त के पैसे अभी तक नहीं मिले हैं. ऐसे में आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है. किसान भाई सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत कर सकते हैं. इसके अलावा क्षेत्र के लेखपाल और कृषि अधिकारी से भी संपर्क कर सकते हैं.

इस कारण अटक जाते हैं किस्त के पैसे

कभी-कभी तो सरकार की तरफ से अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर दिए जाते हैं, लेकिन किसानों के अकाउंट में नहीं पहुंचते हैं. इसकी सबसे वजह आपके आधार, अकाउंट नंबर और बैंक अकाउंट नंबर में गलती का होना हो सकता है.

2000 रुपये पाने के लिए यहां करें शिकायत, तुरंत होगा समाधान
सबसे पहले आपके अपने क्षेत्र के लेखपाल और कृषि अधिकारी से संपर्क करना होगा और उन्हें इसकी जानकारी देनी होगी. अगर आपकी बातें ये लोग नहीं सुनते हैं तो आप इससे जुड़ी हेल्पलाइन पर भी फोन कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: किसानों के लिए खुशखबरी! अब बिना गारंटी ले सकेंगे 1.60 लाख रुपये का लोन- जानें कैसे

इन नंबरों पर करें कर सकते हैं कॉल



किसान सम्मान निधि की किस्त नहीं मिली है तो इसकी शिकायत पीएम किसान सम्मान के हेल्पलाइन नंबर पर दर्ज करा सकते हैं। इसके लिए आप हेल्पलाइन नंबर 011-24300606 / 011-23381092 पर कॉल कर सकते हैं। इसके अलावा सोमवार से शुक्रवार तक पीएम-किसान हेल्प डेस्क (PM-KISAN Help Desk) के ई-मेल (Email) pmkisan-ict@gov.in पर संपर्क कर सकते हैं.

बता दें कि केंद्र सरकार छोटे और सीमांत किसानों को साल में 6000 रुपए आर्थिक सहायता देती है. यह राशि सीधे खातों में जमा की जाती है. 6000 रुपये की यह 2000-2000 की तीन किस्तों में जमा की जाती है. अगर किसी किसान को इस स्कीम के तहत पैसा नहीं मिला है तो आप केंद्रीय कृषि मंत्रालय की इस हेल्पलाइन पर फोन कर इसकी जानकारी ले सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज