होम /न्यूज /व्यवसाय /अब ट्रेन टिकट और होटल बुकिंग कैंसिल करने पर देना होगा ज्‍यादा चार्ज, बुकिंग कैंसिल करने पर भी लगेगा जीएसटी

अब ट्रेन टिकट और होटल बुकिंग कैंसिल करने पर देना होगा ज्‍यादा चार्ज, बुकिंग कैंसिल करने पर भी लगेगा जीएसटी

बुकिंग कैंसिल करने पर जीएसटी लगेगा या नहीं, इस पर कई दिनों से ऊहापोह की स्थिति थी.

बुकिंग कैंसिल करने पर जीएसटी लगेगा या नहीं, इस पर कई दिनों से ऊहापोह की स्थिति थी.

वित्त मंत्रालय ने स्‍पष्‍ट कर दिया है कि कैंसिलेशन, सेवा से जुड़ा है तो इस कैंसिलेशन चार्ज पर जीएसटी (GST) देना होगा. व ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

होटल बुकिंग और ट्रेन टिकट कैंसिलेशन चार्ज पर लगेगा जीएसटी.
बुकिंग करते समय जिस दर से जीएसटी दिया था वही दर यहां भी लागू होगी.
जीएसटी लागू होने से अब टिकट या कमरे की बुकिंग रद्द करने पर ज्‍यादा पैसे चुकाने होंगे.

नई दिल्‍ली. अब आपको ट्रेन टिकट और होटल में कमरा बुक काफी सोच समझकर करना चाहिए. ऐसा इसलिए है क्‍योंकि अब बुकिंग रद्द करना आपकी जेब पर काफी भारी साबित होगा. इसका कारण है बुकिंग कैंसिल करने पर लगने वाले चार्ज पर वस्‍तु एवं सेवा कर (GST)  का लागू होना. गुड्स एंड सर्विस टैक्‍स के नियमों के मुताबिक, बुकिंग कैंसिल करना एक प्रकार से डील से मुकरने जैसा है. डील कैंसिल करने पर जुर्माना भरना पड़ता है. यानी अब ग्राहक को जुर्माने पर टैक्स देना होगा.

गौरतलब है कि काफी समय से इसे लेकर विवाद भी चल रहा था. अब वित्त मंत्रालय ने स्‍पष्‍ट कर दिया है कि कैंसिलेशन सेवा से जुड़ा है तो इस कैंसिलेशन चार्ज पर जीएसटी देना होगा. वित्त मंत्रालय के टैक्स रिसर्च यूनिट ने इस संबंध में सर्कुलर भी जारी कर दिया है. इसके मुताबिक ग्राहक ने बुकिंग करते समय जिस दर से जीएसटी अदा किया था, कैंसिल करने पर उसे उसी दर से कैंसिलेशन चार्ज पर जीएसटी देना होगा.

ये भी पढ़ें-  NPS के तहत पीएफआरडीए लाएगा गारंटिड रिटर्न स्‍कीम, 30 सितंबर को हो सकती है लॉन्‍च

अनुबंध पर सहमति सेवा आपूर्ति
टैक्स रिसर्च यूनिट ने तीन सर्कुलर जारी किए हैं. इनमें से एक में कॉन्ट्रेक्ट के उल्लंघन पर शुल्क लगाए जाने की व्याख्या की गई है. इसमें कहा गया है कि होटल, एंटरटेनमेंट और ट्रेन टिकटों की बुकिंग एक कॉन्ट्रेक्ट की तरह है जिसमें सर्विस प्रोवाइडर एक सर्विस देने का वादा करता है. जब ग्राहक इस कॉन्ट्रेक्ट का उल्लंघन करता है या बुकिंग कैंसल करता है तो सर्विस प्रोवाइडर कैंसिलेशन चार्ज के रूप में एक निश्चित राशि प्राप्त करता है. चूंकि कैंसिलेशन चार्ज कॉन्ट्रेक्ट के उल्लंघन के बदले में किया गया भुगतान है इसलिए इस पर जीएसटी लगेगा.

कितना लगेगा टैक्‍स
टैक्स रिसर्च यूनिट द्वारा जारी सर्कुलर में बताया गया है कि फर्स्ट क्लास या एसी कोच टिकट के लिए कैंसिलेशन चार्ज पर 5 फीसदी जीएसटी देना होगा.  यह टिकट पर लगाया जाने वाला रेट है. इसी प्रकार से हवाई यात्रा या होटल की बुकिंग को कैंसिल करने पर बुकिंग करते समय जिस दर से जीएसटी अदा किया था, कैंसिल करने पर उसे उसी दर से कैंसिलेशन चार्ज पर जीएसटी देना होगा.

ये भी पढ़ें-  इंडियन बैंक के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, बैंक ने एफडी पर ब्याज दर बढ़ाई, चेक करें नए रेट

धार्मिक ट्रस्टों के सराय के कमरों पर जीएसटी नहीं
सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम्स (CBIC) ने स्पष्टीकरण दिया है कि धार्मिक और चैरिटेबल संस्थानों द्वारा जो सराय चलाए जाते हैं, उनके कमरों के किराए पर कोई जीएसटी नहीं लगेगी. जून महीने में जीएसटी काउंसिल ने फैसला किया था कि होटल कमरों की बुकिंग पर जिनका किराया हर दिन एक हजार रुपये से कम है, उन पर 12 फीसदी की दर से जीएसटी लगेगी.

Tags: Business news in hindi, Gst, Gst latest news, Gst latest news in hindi, Tour and Travels, Train ticket

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें