लाइव टीवी

क्या आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के तहत कोरोना वायरस का इलाज हो सकता है?

News18Hindi
Updated: March 15, 2020, 7:35 AM IST

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए क्या आपकी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी कारगर है? शायद यहीं सवाल आपके मन में भी आया होगा. अगर आया तो आज हम आपको इससे जुड़ी जानकारियां दे रहे हैं...

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 15, 2020, 7:35 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते मामलों को देखते हुए लोग पिछले कुछ दिनों से हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों को फोन कर इसकी जानकारी ले रहे हैं. वैसे तो ज्‍यादातर हेल्‍थ इंश्‍योरेंस (Health Insurance) पॉलिसीज कोरोना कवर दे रही हैं. लेकिन अगर किसी ने हाल में पॉलिसी ली है तो उसे इसका फायदा एक महीने के बाद ही मिलेगा. हेल्थ इंश्योरेंस सेक्टर (Insurance Sector) के जानकारों का कहना है कि यदि आपने पहले से ही कोई पॉलिसी ले रखी है तो फिर कोरोना वायरस उस दायरे में आएगा. हालांकि कोरोना से पीड़ित होने के बाद ही यदि आप कोई पॉलिसी लेते हैं तो फिर उसमें इसके इलाज को कवर नहीं किया जाएगा. अधिकतर हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के कवरेज में कोरोना को शामिल किया गया है. लेकिन अपनी पॉलिसी के कुछ शर्तों को आपको पढ़ लेना चाहिए.

कोरोना वायरस की वजह से हेल्थ इंश्योरेंस में बढ़ी डिमांड- जैसे-जैसे भारत में कोरोना से जुड़े मामले बढ़ते जा रहे हैं हेल्थ इंश्योरेंस की मांग भी बढ़ रही है. पॉलिसी बाजार का कहना है कि इस महामारी के बाद से करीब हेल्थ इंश्योरेंस के लेकर डिमांड में 30-40 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है .

coronavirus COVID-19, Health expenditure in india, doctor patient ratio in india, health infrastructure in india, ministry of health, death of swine flu, Harsh Vardhan, AIIMS, coronavirus, death of coronavirus, who, कोरोनावायरस, भारत में स्वास्थ्य पर खर्च, भारत में प्रति डॉक्टर कितने लोगों के ईलाज का बोझ, स्वास्थ्य मंत्रालय, स्वाइन फ्लू से मृत्यु, हर्षवर्धन, एम्स, कोरोनावायरस से भारत में मौत
जानें कोरोना वायरस से जुड़ी जरूरी बातें


क्या कोरोना का इलाज मौजूदा पॉलिसी में कवर होगा- कोरोना वायरस को भी डेंगू, मलेरिया या अन्य किसी भी अचानक होने वाली बीमारी की तरह ही कवर किया जाएगा. अधिकतर पॉलिसी में कोरोना जैसी बीमारियों के 30 दिन का वेटिंग पीरियड होता . इसके बाद ही आप इसका फायदा उठा पाएंगे .



रेलिगेयर हेल्थ के प्रोडेक्ट हेड कहते हैं कि पालिसी खरीदने के 30 दिन बाद से इस तरह की बीमारी कवर होती है. यानी कि अगर अगर उन्होंने आज पॉलिसी ली है तो आज से 30 दिन बाद से जो भी का मेडिकल का खर्चा होगा कोरोना को कवर्ड होगा.  लेकिन यहां पर मैं यह भी कहूंगा कि यह जो 30 दिन का पीरियड है यह कुछ पॉलिसी में कम या ज्यादा हो सकता है तो कस्टमर अपने पॉलिसी के दस्तावेज़ को ठीक से पढ़ें.

हेल्थ पॉलिसी में आज ही करें चेक-पॉलिसी बाजार डॉट कॉम की हेल्थ डिविजन के बिजनेस हेड अमित छाबड़ा कहते हैं कि किसी भी कस्टमर के लिए जिसके पास ऑलरेडी एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी है उनको यह देखना चाहिए कि उनकी पॉलिसी में कोई एक्सक्लूजन तो नहीं है.

कोरोना वायरस से ये है बचाव का तरीका


क्या आपकी पॉलिसी में कोई ऐसा एक्सप्लोजन तो नहीं है कि अगर कोई ग्लोबल pandemic है तो वह कवर नहीं होता .कुछ कंपनी ऐसी भी हैं जो कवर नहीं करती हैं. मगर जयदतर में कवर होता है. कोरोना वायरस को लेकर बीमा नियामक आईआरडीएआई ने कुछ निर्देश भी जारी किए हैं.

आईआरडीएआई ने बीमा कंपनियों से कोरोना से संबंधित दावों का तेजी से निपटान करने को कहा है. कोरोना जैसी बिमारियों से निपटने के लिए इंश्योरेंस काफी मददगार हो सकता है और OPD से लेकर अस्पताल में भरती होने तक के खर्च को पूरा कर सकता है लेकिन जरूरी है कि आप सही पॉलिसी की जांच कर ले .

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 15, 2020, 7:35 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर