Home /News /business /

ZEE ने किया EGM बुलाने से इनकार, इनवेस्को के नोटिस में बताईं कानूनी खामियां

ZEE ने किया EGM बुलाने से इनकार, इनवेस्को के नोटिस में बताईं कानूनी खामियां

ZEEL ने इनवेस्‍को की ओर से ईजीएम बुलाने की मांग को ठुकरा दिया है.

ZEEL ने इनवेस्‍को की ओर से ईजीएम बुलाने की मांग को ठुकरा दिया है.

इनवेस्‍को (Invesco) ने ईजीएम के लिए भेजे नोटिस में ज़ी एंटरटेनमेंट इंटरप्राइजेज लिमिटेड (ZEEL) के प्रबंध निदेशक व सीईओ पुनीत गोयनका समेत तीन निदेशकों को निकालने की मांग की थी. साथ ही 6 नए निदेशक नियुक्त करने की मांग भी की गई थी.

    नई दिल्‍ली. ज़ी एंटरटेनमेंट इंटरप्राइजेज लिमिटेड (ZEEL) का बोर्ड एक्स्ट्राऑर्डिनरी जनरल मीटिंग (EGM) नहीं बुलाएगा. दरअसल, ज़ील की सबसे बड़ी शेयरहोल्डर इनवेस्को डेवलपिंग मार्केट फंड्स (Invesco Developing Market Funds) ने कंपनी के प्रबंध निदेशक व सीईओ पुनीत गोयनका (MD & CEO Puneet Goyanka) को हटाने के लिए ईजीएम की मांग की थी. कंपनी ने 1 अक्टूबर को नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) के पास जमा किए दस्‍तावेजों में कहा कि कोई ईजीएम नहीं बुलाई जाएगी.

    ज़ील (ZEEL) की तरफ से यह इनकार ऐसे समय में किया गया है, जब एक दिन पहले ही एनसीएलटी ने इनवेस्को की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा था कि ZEE के बोर्ड को नियमों के तहत ईजीएम बुलाने की मांग पर विचार करना चाहिए. ज़ी ने रेग्‍युलेटर को भेजे दस्‍तावेजों में कहा है कि बोर्ड ने शेयरहोल्डरों की तरफ से एक्स्ट्राऑर्डिनरी मीटिंग की मांग को लेकर 1 अक्टूबर को बैठक की. सभी शेयरधारकों और हितधारकों समेत व्यापक रूप से कंपनी के हित को देखते हुए हम आपकी मांग पर ईजीएम बुलाने में असमर्थ हैं. कंपनी ने दावा किया कि वह इस निष्कर्ष पर लीगल एक्सपर्ट से चर्चा करने के बाद पहुंची है, जिसमें सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज भी शामिल हैं.

    ये भी पढ़ें- Bajaj Housing ने घटाईं होम लोन पर ब्याज दरें! सस्‍ते में घर खरीदने का बना मौका, जानें कैसे उठाएं फायदा

    ‘ईजीएम नोटिस वैध नहीं है, कई कानूनी खामियां भी हैं’
    ज़ी ने यह भी कहा कि इनवेस्को ने दो निदेशकों अशोक कुरियन और मनीष चोखानी समेत कंपनी के एमडी व सीईओ पुनीत गोयनका को निकालने की मांग को लेकर ईजीएम बुलाने की मांग की थी. कुरियन और चोखानी ने पहले ही पद से इस्तीफा दे दिया है. ऐसे में इनवेस्को की ईजीएम बुलाने की मांग अब गैर-जरूरी है. कंपनी बोर्ड एकमत से इस राय पर पहुंचा है कि इनवेस्को के ईजीएम बुलाने का नोटिस वैध नहीं है. साथ ही इसमें कई कानूनी खामियां भी हैं. इस मामले में प्रॉक्सी एडवाइजरी फर्म स्टेकहोल्डर्स एम्पॉवरमेंट सर्विसेज के संस्‍थापक जेएन गुप्ता का कहना है कि ईजीएम की मांग को तकनीकी आधार पर खारिज करना अच्छे गवर्नेंस का संकेत नहीं है.

    ये भी पढ़ें- Air India: सीनियर सिटिजंस को दिसंबर 2021 तक एयर टिकट में मिलेगी 50% छूट, चेक करें डिटेल्‍स

    इनवेस्‍को ने की थी 6 नए निदेशक नियुक्‍त करने की मांग
    गुप्‍ता ने कहा कि अगर इनवेस्‍को के नोटिस में खामियां दिखी थीं तो ज़ी को पहले ही सूचित करना चाहिए था. बता दें कि इनवेस्को और ओएफआई (OFI) ग्लोबल चाइना फंड के पास ज़ी एंटरटेनमेंट की करीब 17.88 फीसदी हिस्सेदारी है. दोनों शेयरहोल्डर ने 11 सितंबर 2021 को एक नोटिस भेजकर ईजीएम बुलाने की मांग की थी. प्रबंध निदेशक गोयनका समेत तीन निदेशकों को निकालने के अलावा इनवेस्को ने बोर्ड में 6 नए निदेशक नियुक्त करने की मांग भी की थी.

    Tags: Business news, Business news in hindi, Zee tv, Zee5

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर