होम /न्यूज /व्यवसाय /बाजार गिरा, लेकिन ZEEL के शेयर आज 16% से अधिक उछले, जानिए इसके पीछे की वजह

बाजार गिरा, लेकिन ZEEL के शेयर आज 16% से अधिक उछले, जानिए इसके पीछे की वजह

Zee और Sony के मर्जर के बाद से ही इन्वेस्को EGM बुलाकर 6 इंडिपेंडेंट डायरेक्टर नियुक्त करने की बात कर रहा था.

Zee और Sony के मर्जर के बाद से ही इन्वेस्को EGM बुलाकर 6 इंडिपेंडेंट डायरेक्टर नियुक्त करने की बात कर रहा था.

ज़ी इंटरनेटमेंट इंटरप्राइजेज़ लिमिटेड (ZEEL) के शेयर आज 16.74 फीसदी चढ़ गए. ZEEL के शेयर में इतना ज्यादा उछाल आने के पी ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. ज़ी इंटरनेटमेंट इंटरप्राइजेज़ लिमिटेड (ZEEL) के शेयर आज 16.74 फीसदी चढ़ गए, जबकि बाजार लाल निशान पर बंद हुआ है. ZEEL के शेयर में इतना ज्यादा उछाल आने के पीछे वजह है इन्वेस्को (Invesco) द्वारा एक्स्ट्राऑर्डेनरी जनरल मीटिंग (EGM) न बुलाने की बात कहना. Zee और Sony के मर्जर के बाद से ही इन्वेस्को EGM बुलाकर 6 इंडिपेंडेंट डायरेक्टर नियुक्त करने की बात कर रहा था. यदि आप नहीं जानते कि इन्वेस्को क्या है तो बता दें कि इन्वेस्को का पूरा नाम इन्वेस्को डेवलपिंग मार्केट्स फंड (Invesco Developing Markets Fund) है और ये कंपनी के पास Zee में सबसे बड़ी शेयरहोल्डिंग है.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर गुरुवार की क्लोजिंग पर ZEEL के शेयर 16.74 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 298.90 रुपये पर बंद हुए. कल बुधवार को ये स्टॉक 256.05 पर बंद हुआ था. आज की ट्रेडिंग में जबरदस्त वॉल्यूम में देखने को मिली. कल 18.17 मिलियन के मुकाबले आज 86.77 मिलियन का वॉल्यूम रिकॉर्ड किया गया.

" isDesktop="true" id="4133034" >

ये भी पढ़ें – Share Market : बाजार पर Bears की पकड़, बैंकों में बिकवाली तो मेटल हुआ मजबूत

उठी थी पुनीत गोयनका को हटाने की मांग
इनवेस्को ने सितंबर 2021 में ज़ी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स (Zee Board of Directors) को एक असाधारण आम बैठक (EGM) आयोजित करने का अनुरोध किया था. मीटिंग इस आधार पर बुलाने की मांग की गई थी कि इन्वेस्को को लग रहा था कि कंपनी उस तरीके से सुचारू रूप से नहीं चल रही है, जिस तरीके से चलनी चाहिए. फर्म ने Zee के बोर्ड से 3 डायरेक्टर्स को हटाने की मांग की, जिसमें मैनेजिंग डायरेक्टर और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) पुनीत गोयनका शामिल थे.

मंगलवार को बॉम्बे हाईकोर्ट की एक खंडपीठ ने इनवेस्को की अपील पर सुनवाई करने के लिए नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) को प्रतिबंधित करने वाले अपने पहले के आदेश को रद्द कर दिया.

ये भी पढ़ें – बिजनेस की खबरों का Live Blog, क्लिक करें और पढ़ें

नए आदेश के अनुसार, ज़ी (Zee) के पास हाईकोर्ट के निर्णय को सुप्रीम कोर्ट में अपील करने के लिए 3 सप्ताह का समय है. यदि कंपनी ऐसा करने में विफल रहती है, तो NCLT की मुंबई पीठ के पास मामले को फिर से खोलने का अधिकार है. पिछले साल नवंबर में हाईकोर्ट में दायर अपील के बाद पैनल ने अपनी सुनवाई टाल दी थी. ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज (Zee Entertainment Enterprises) को इन्वेस्को ने शेयरहोल्डर्स की एक EGM बुलाने का निर्देश दिया था.

Tags: Sony TV, Zee tv

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें