होम /न्यूज /व्यवसाय /डॉलर के मुकाबले रसातल में रुपया, नितिन कामथ बोले- 82 का लेवल इतना खराब नहीं, बताई इसकी वजह

डॉलर के मुकाबले रसातल में रुपया, नितिन कामथ बोले- 82 का लेवल इतना खराब नहीं, बताई इसकी वजह

बृहस्पतिवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 35 पैसे बढ़कर 81.58 पर पहुंच गया

बृहस्पतिवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 35 पैसे बढ़कर 81.58 पर पहुंच गया

Dollar-Rupee:  ब्रोकिंग फर्म जिरोधा के को-फाउंडर नितिन कामथ ने इस पर रिएक्शन दिया. उन्होंने कहा कि डॉलर की तुलना में रु ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

81 का लेवल टच करने के बाद अब रुपया 82 की ओर बढ़ रहा है.
डॉलर की तुलना में रुपये का 82 का स्तर उतना खराब नहीं है- नितिन कामथ
डॉलर की तुलना में सबसे बड़ी गिरावट 29.77 फीसदी की गिरावट जापानी की मुद्रा येन में आई है.

मुंबई. अमेरिकी में ब्याज दरों की बढ़ोतरी के बाद डॉलर मजबूत हो रहा है और इसके मुकाबले रुपया लगातार गिर रहा है. 81 का लेवल टच करने के बाद अब रुपया 82 की ओर बढ़ रहा है. रुपये में जारी इस गिरावट से हर कोई परेशान है लेकिन ब्रोकिंग फर्म जिरोधा के को-फाउंडर नितिन कामथ ने इस पर रिएक्शन दिया. उन्होंने कहा कि डॉलर की तुलना में रुपये का 82 का स्तर उतना खराब नहीं है.

ऑनलाइन डिस्काउंट ब्रोकिंग फर्म जिरोधा के को-फाउंडर नितिन कामथ ने गुरुवार को इस बारे में ट्वीट किया. इसमें उन्होंने डॉलर के मुकाबले में रुपये में आई गिरावट की तुलना दुनिया की अन्य करेंसी में आई गिरावट के साथ की.

डॉलर के मुकाबले रुपया अन्य करेंसी के मुकाबले कम गिरा
नितिन कामथ ने ट्वीट के जरिए एक इंफोग्राफिक शेयर किया, जिसे देखकर पता चलता है कि रुपया पिछले एक साल में डॉलर के मुकाबले के सबसे कम गिरने वाली करेंसी में शामिल है. वहीं डॉलर की तुलना में सबसे बड़ी गिरावट 29.77 फीसदी की गिरावट जापानी की मुद्रा येन में आई है.

ये भी पढ़ें- डॉलर की मजबूती और मंदी की आशंका से सहमे एशियाई बाजार, लंबा चल सकता है गिरावट का दौर

नितिन कामत ने कहा कि अगर डॉलर में मजबूती जारी रहती है तो बड़ी कंपनियों को प्रतिस्पर्धा में बने रहने के लिए अमेरिका से बाहर जाना पड़ेगा. दरअसल डॉलर की मजबूती से दुनियाभर में कारोबार करने वाली अमेरिकी कंपनियों को दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है. क्योंकि उनके उत्पाद महंगे होने से उनकी प्रतिस्पर्धी क्षमता घटेगी.

रुपये में जारी गिरावट आज थमी
हालांकि आज अमेरिकी मुद्रा में कमजोरी के चलते रुपया को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 35 पैसे बढ़कर 81.58 पर पहुंच गया. रुपये ने पिछले बंद भाव के मुकाबले 35 पैसे की बढ़त दर्ज की. शुरुआती सौदों में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 81.75 के स्तर पर पहुंच गया था.

ये भी पढ़ें- भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में फिर आ सकती है गिरावट, 2008 के आर्थिक संकट की यादें हो जाएंगी ताजा

बता दें कि भारतीय मुद्रा रुपये में डॉलर के मुकाबले लगातार गिरावट जारी है. अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 81.93 के नए सर्वकालिक निचले स्तर पर पहुंच चुका है. रुपये में जारी इस गिरावट के कारण कच्चे तेल और अन्य कमोडिटी का आयात महंगा हो जाएगा, जिससे मुद्रास्फीति और बढ़ जाएगी. महंगाई पहले से ही भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के अधिकतम सुविधाजनक स्तर छह फीसदी से ऊपर बनी हुई है.

Tags: Dollar, Rupee weakness

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें