Home /News /business /

जेरोधा सीईओ नीतिन कामत को क्‍यों लगता है कि इस साल IPO मार्केट में नहीं आयेगा उबाल!

जेरोधा सीईओ नीतिन कामत को क्‍यों लगता है कि इस साल IPO मार्केट में नहीं आयेगा उबाल!

नितिन कामत के अनुसार, आज भी शेयर मार्केट निवेश के लिहाज से सबसे अच्‍छी जगह है.

नितिन कामत के अनुसार, आज भी शेयर मार्केट निवेश के लिहाज से सबसे अच्‍छी जगह है.

Zerodha के फाउंडर नीतिन कामत (Nithin Kamath) का कहना है कि क्रिप्‍टो में अब ठहराव आ सकता है. सरकार इसे रेगूलेट करने के लिये जरूर कानून बनायेगी. वहीं, इस साल आईपीओ (IPO) में भी ज्‍यादा उछाल देखने को नहीं मिलेगा, जैसा पिछले साल देखने को मिला था.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. जेरोधा (Zerodha) के फाउंडर और सीईओ नीतिन कामत (Nithin Kamath) का मानना है कि साल 2022 में आईपीओ मार्केट (IPO) में बहुत ज्‍यादा उबाल नहीं आयेगा. वहीं क्रिप्‍टोकरेंसी (Cryptocurrency) की ग्रोथ पर भी वो अब ब्रेक लगता देख रहे हैं. नीतिन कामत का कहना है कि आज भी शेयर मार्केट निवेश के लिहाज से सबसे अच्‍छी जगह है. अगले 20 सालों में अगर भारत का विकास अच्‍छी गति पकड़ता है तो उसमें इक्विटी सबसे बढ़िया एसेस्‍ट क्‍लास होगी.

देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन ब्रोकरेज फर्म के सीईओ ने लाइव मिंट को बताया कि जहां से भी अच्‍छा रिटर्न आता है, एक बार लोग वहीं पर ज्‍यादा निवेश करना शुरू कर देते हैं. पिछले दो सालों में शेयर मार्केट ने अच्‍छा रिटर्न दिया तो लोग स्‍टॉक मार्केट (Stock Market) की ओर तेजी से आ‍कर्षित हुये हैं. अब पिछले कुछ समय से क्रिप्‍टोकरेंसी से शानदार रिटर्न मिला तो क्रिप्‍टो में निवेश बढ़ गया है.

ये भी पढ़ें :   Mutual Funds SIP : एक्सपर्ट के बताए इस फॉर्मूले को अपनाएं और कम रिस्क में ज्यादा मुनाफा कमाएं

क्रिप्‍टो है वाइल्‍ड कार्ड

नीतिन कामत (Nithin Kamath) ने लाइव मिंट को बताया कि क्रिप्‍टो वाइल्‍ड कार्ड है. इसमें भविष्‍य में अच्‍छा रिटर्न मिलेगा, ऐसा मुझे नहीं लगता. नीतिन का कहना है कि आगे क्रिप्‍टो में निवेश कम हो जायेगा, क्‍योंकि सरकार इसे रेगूलेट करने के लिये जरूर नियम-कायदे बनायेगी. ऐसा होते ही क्रिप्‍टो की ग्रोथ रुक जायेगी. सोने (Gold) को लेकर भी पूरे विश्‍व में फिलहाल अनिश्चितता है. इसलिये इसमें निवेश कितना फायदेमंद होगा, यह कहना मुश्किल है.

IPO में कम उबाल

नीतिन कामत का कहना है कि इस साल देश की आईपीओ मार्केट हॉट नहीं रहेगी. इसमें वह भयंकर उबाल देखने को नहीं मिलेगा, जो पिछले साल मिला था. ऐसा होना आम निवेशक के लिये ठीक भी है. अगर मार्केट बहुत तेज होती है तो हर कोई इसमें निवेश करता है. अगर आईपीओ मार्केट में हद से ज्‍यादा उबाल नहीं होगा तो लोग आईपीओ का मूल्‍यांकन (IPO valuation) बहुत तार्किक ढंग से करेंगे और ज्‍यादा वैल्‍यू रिटेल इन्‍वेस्‍टर (Retail Investor) के लिये बचेगी. नीतिन का कहना है कि फिलहाल रिटर्न के लिहाज से रियल एस्‍टेट (Real Estate) वो सेक्‍टर है, जिसमें फिलहाल रिटर्न की कोई गुंजाइश नहीं है.

इक्विटी मार्केट सबसे सही

नीतिन कामत (Nithin Kamath) का मानना है कि निवेश के लिहाज से इक्विटी मार्केट (Equity Market) ही सबसे सही जगह इस वक्‍त लग रही है. अगर भारत अगले 20 सालों में आर्थिक रूप से अच्‍छा प्रदर्शन करता है तो इसमें इक्विटी सबसे शानदार प्रदर्शन करने वाली एसेस्‍ट क्‍लास (Asset Class) होगी. भारत में कॉर्पोरेट गर्वनेंस (Corporate Governance) एक समस्‍या रही है. इसमें पिछले कुछ सालों से लगातार सुधार हो रहा है. अगर कॉर्पोरेट गर्वनेंस में और सुधार होता है तो इक्विटी मार्केट में भी ग्रोथ होगी.

ये भी पढ़ें :  इस ऑटो रिक्‍शा ड्राइवर को आनंद महिंद्रा ने बताया मैनेजमेंट प्रोफेसर, अपने CEO से बोले- कुछ सीखो इससे

वैल्‍यू स्‍टॉक खोजना मुश्किल

जेरोधा के फाउंडर और सीईओ नीतिन कामत (Nithin Kamath) का कहना है कि कैपिटल मार्केट के बारे में सूचनायें आसानी से मिल जाती हैं. इन्‍वेस्‍टमेंट टिप्‍स (Investment Tips) की यहां भरमार है. लेकिन इतना सब होने के बावजूद एक वैल्‍यू स्‍टॉक (Value Stock) ढूंढना आसान काम नहीं है. निवेश का सार केवल वैल्‍यू या ग्रोथ नहीं है. इसका मतलब पोर्टफोलियो डाइवर्सिफिकेशन है. किसी भी स्‍टॉक, सेक्‍टर या देश में बहुत ज्‍यादा निवेश ठीक नहीं है. रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स के लिये विविधिकरण बहुत फायदेमेंद है. एक ही समय में सारा निवेश कर डालने से अच्‍छा है कि समय लेकर धीरे-धीरे लगातार निवेश किया जाये.

Tags: Investment tips, Stock market

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर