Zomato ने 541 कर्मचारियों को निकाला, बयान जारी कर बताई ये वजह

जोमैटो ने कहा कि वो बहुत जल्द एक जॉब मेला लगा सकते हैं. जिसके जरिए कर्मचारियों की इस छंटनी को भरा जा सके. साथ ही कर्मचारियों की इंश्योरेंस मदद को भी जनवरी 2020 तक बढ़ा सकेंगे.

News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 11:35 PM IST
Zomato ने 541 कर्मचारियों को निकाला, बयान जारी कर बताई ये वजह
जोमैटो का कहना है कि पिछले कुल महीनों से वो अपने उत्पाद की गुणवत्ता को बढ़ाने में टेक्निकली महत्वपूर्ण काम कर रहे हैं.
News18Hindi
Updated: September 7, 2019, 11:35 PM IST
नई दिल्ली. ऑनलाइन फूड डिलीवरी करने वाली कंंपनी जोमैटो (Zomato) को लेकर इकनॉमिक टाइम्स के हवाले से शनिवार को एक बड़ी खबर सामने आई है. कंपनी ने अपने ग्राहक सेवा टीम (Costumer Support) के 540 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है. यह संख्या कंपनी के कुल कर्मचारियों का 10 प्रतिशत है. 60 लोगों को हटाने के बाद एक महीने में यह दूसरी बार है, जब रेस्टोरेंट और फूड डिलीवरी सेवा से संबंधित कंपनी में कर्मचारियों की छंटनी की गई है.

इसकी जानकारी देते हुए जोमैटो ने कहा है कि छंटनी की यह प्रक्रिया दो से चार महीनों के बीच ऑटोमेटिकली होगी. जोमैटो का कहना है कि पिछले कुल महीनों से वो अपने उत्पाद की गुणवत्ता को बढ़ाने में टेक्निकली महत्वपूर्ण काम कर रहे हैं. जिसके तहत कंपनी क्रांतिकारी बदलाव के जरिए सेवाओं में नाटकीय सुधार होगा. जिसके बाद अब कंपनी को केवल 7.5 प्रतिशत आर्डर पर ही कर्मचारियों की मदद की आवश्यकता है.

इकोनोमिक्स टाइंस की एक पहले की रिपोर्ट के अनुसार जोमैटो का बाजार करीब 500 मिलियन डॉलर बढ़ चुका है.


जोमैटो जल्द लगाएगा जॉब मेला

जोमैटो ने कहा कि वो बहुत जल्द एक जॉब मेला लगा सकते हैं. जिसके जरिए कर्मचारियों की इस छंटनी को भरा जा सके. साथ ही कर्मचारियों की इंश्योरेंस मदद को भी जनवरी 2020 तक बढ़ा सकेंगे. कर्मचारियों की इस छंटनी को लेकर ऑनलाइन फूड डेलीवरी फर्म ने कहा है कि यह लागत को कम करने का प्रयास नहीं है. इस साल कंपनी ने लगभग 1200 लोगों को काम पर रखा है. जबकि केवल 400 लोगों को ही हटाया है.

500 मिलियन डॉलर का बाजार
हालांकि कंपनी अपनी टेक्नोलोजी, उत्पाद और डाटा सर्विसेज के लिए लोगों को नौकरी देगी.  इकोनोमिक्स टाइंस की एक पहले की रिपोर्ट के अनुसार जोमैटो का बाजार करीब 500 मिलियन डॉलर बढ़ चुका है. जबकि चाइना के इंटरनेट की बड़ी कंपनी अलीबाबा इसके आसपास भी नहीं ठहरती है. नवंबर 2018 मे जोमैटो का कारोबार 23 प्रतिशत बढ़ा. 33 प्रतिशत निवेश के साथ जोमैटो सबसे बड़ी निवेशक कंपनी बनी थी.
Loading...

गौरतलब है कि कंपनी ने कुछ दिन पहले अपने गुड़गांव ऑफिस के कस्टमर सपोर्ट टीम में छंटनी की थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंपनी ने ये फैसला खर्चों में कटौती करने की वजह से किया था. वहीं जोमैटो की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि ये छंटनी कस्मटमर सपोर्ट वर्कफोर्स में काम की अपेक्षा लोग ज्यादा होने के चलते की गई.

ये भी पढ़ें: 

मुंबई मेट्रो प्रोजेक्ट्स के उद्घाटन पर बोले PM मोदी, ISRO के वैज्ञानिकों के साहस से सीखें

NSA अजीत डोवाल बोले- आर्टिकल 370 विशेष दर्जा नहीं, लोगों के साथ भेदभाव था

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 7, 2019, 8:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...