• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Zomato Share Price: जोमैटो की वैल्यूएशन और शेयरों की कीमत को लेकर क्यों है मतभेद? जानिए असली रेट

Zomato Share Price: जोमैटो की वैल्यूएशन और शेयरों की कीमत को लेकर क्यों है मतभेद? जानिए असली रेट

Zomato IPO

Zomato IPO

शेयर बाजार में शेयर लिस्ट होते ही जोमैटो एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा वैल्यूएशन (Valuation) वाली कंपनी बन गई. एक ही झटके में यह इंडियन ऑयल (IOC), भारत पेट्रोलियम (BPCL), टाटा मोटर्स (Tata Motors), इंडसइंड बैंक (IndusInd Bank), कोल इंडिया (CIL) और वेदांता से बड़ी कंपनी बन गई है.

  • Share this:
    मुंंबई . जोमैटो (Zomato) के शेयरों की लिस्टिंग के बाद इसके वैल्यूएशन और शेयरों की असल कीमत को लेकर चर्चा का बाजार गर्म है. जौमैटो के शेयर शुक्रवार को 53 फीसदी प्रीमियम (Premium) पर लिस्ट हुए थे. कंपनी ने 76 रुपए इसका इश्यू प्राइस रखा था. जौमैटो के शेयर लिस्टिंग के बाद एनएसई में 135 रुपए पहुंचने के बाद 125.25 रुपए के स्तर पर बंद हुए.



    लिहाजा आईपीओ में पैसा लगाने वाले निवेशक पहले ही दिन अच्छे खासे मुनाफे में आ गए. हालांकि इसके इश्यू प्राइस जारी होने के बाद से ही इसके शेयरों की कीमत को लेकर बहस हो रही है. वहीं, कुछ विशेषज्ञ इसके शेयरों की असल कीमत और वैल्यूएशन को लेकर सावधान कर रहे हैं.



    लिस्ट होते ही जोमैटो  का वैल्यूएशन एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा



    शेयर बाजार में शेयर लिस्ट होते ही जोमैटो एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा वैल्यूएशन (Valuation) वाली कंपनी बन गई. एक ही झटके में यह इंडियन ऑयल (IOC), भारत पेट्रोलियम (BPCL), टाटा मोटर्स (Tata Motors), इंडसइंड बैंक (IndusInd Bank), कोल इंडिया (CIL) और वेदांता से बड़ी कंपनी बन गई है. इनमें से कई कंपनियां निफ्टी 50 इंडेक्स का हिस्सा हैं.

    यह भी पढ़ें - Payment Card कितने तरह के होते हैं, जानिए इनसे जुड़ी सभी महत्वपूर्ण बातें और इनके फायदें

    असल कीमत



    ईटी की रिपोर्ट के मुताबिक, इसके बावजूद वैल्यूएशन गुरु अस्वथ दामोदरन (Aswath Damodaran) का मानना है कि जोमैटो के एक शेयर की असल कीमत 41 रुपये से ज्यादा नहीं है. एनएसई (NSE) पर कंपनी का शेयर शुक्रवार को 125.25 रुपये पर बंद हुआ. इस तरह कंपनी के शेयर की असल कीमत करीब 60 फीसदी तक कम है. कंपनी ने निवेशकों को आईपीओ (IPO) में 76 रुपये के भाव पर शेयर जारी किया था. इस तरह इस शेयर की असल कीमत इश्यू प्राइस के मुकाबले भी करीब आधी है.

    यह भी पढ़ें- Rakesh Jhunjhunwala ने जून तिमाही में अब इस कंपनी के एक करोड़ शेयर खरीदे, जानिए डिटेल



    दामोदरन ने अपने ब्लॉग में कहा है, "मैंने जो वैल्यूएशन (Valuation) निकाली है, उसके मुताबिक इसकी कीमत करीब 39,400 करोड़ रुपये बैठती है. हाल के साल में 2,000 करोड़ रुपये से कम रेवेन्यू वाली कंपनी के लिए यह ज्यादा लग सकता है. लेकिन, हां आगे इसके वैल्यूएशन में इजाफा होने की संभावना है. इस तरह इस शेयर के लिए 72-75 रुपये की कीमत बहुत ज्यादा लगती है."

    बाजार में लिक्विडिटी बहुत ज्यादा 



    आईपीओ के इश्यू प्राइस को लेकर हैरान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि दुनियाभर में वैल्यू निवेशकों का मानना है कि आईपीओ में अक्सर शेयर की कीमत ज्यादा रखी जाती है. इसके बावजूद जोमैटो के आईपीओ में जिस तरह से निवेशकों ने दिलचस्पी दिखाई है, उससे पता चलता है कि बाजार में कितनी ज्यादा लिक्विडिटी है.

    दामोदरन न्यूयॉर्क के स्टर्न स्कूल ऑफ बिजनेस (Stern School of Business) में फाइनेंस के प्रोफेसर हैं. उन्होंने जोमैटो के शेयर की असल वैल्यूएशन निकालने के लिए फूड डिलीवरी मार्केट के कुल आकार और इसमें जोमैटो की हिस्सेदारी को ध्यान में रखा है. उन्होंने कंपनी की मुनाफा बनाने की क्षमता, नया निवेश और इस वैल्यूएशन से जुड़े जोखिम पर भी गौर किया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन