होम /न्यूज /व्यवसाय /Zomato का सफाई अभियान, ऑनलाइन ऑर्डर से दूर होंगे खराब खाना परोसने वाले रेस्टोरेंट

Zomato का सफाई अभियान, ऑनलाइन ऑर्डर से दूर होंगे खराब खाना परोसने वाले रेस्टोरेंट

जोमैटो ने अपनी नई 'फूड क्वालिटी पॉलिसी' का पालन नहीं करने वाले रेस्टोरेंट को हटाने की योजना बनाई है.

जोमैटो ने अपनी नई 'फूड क्वालिटी पॉलिसी' का पालन नहीं करने वाले रेस्टोरेंट को हटाने की योजना बनाई है.

फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो ने सेहत के लिए हानिकारक फूड की सप्लाई देने वाले रेस्टोरेंट के खिलाफ सख्त रवैया अपनाने जा ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो (Zomato) सेहत के लिए हानिकारक फूड की सप्लाई देने वाले रेस्टोरेंट के खिलाफ सख्त रवैया अपनाने जा रहा है. कंपनी फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी एफएसएसएआई (FSSAI) अप्रूव थर्ड पार्टी निरीक्षण होने तक रेस्टोरेंट को अस्थायी तौर पर ऑनलाइन ऑर्डर से दूर रखेगी. कंपनी ने यह भी कहा है कि गंभीर और बार-बार अपराध करने की स्थिति में रेस्टोरेंट ऑनलाइन ऑर्डर से दूर हो जाएंगे.

प्लेटफॉर्म ने प्रत्येक पार्टनर रेस्टोरेंट को 18 अप्रैल तक का समय दिया है, इससे पहले कि वह उन्हें खराब खाना मुहैया कराने के लिए अयोग्य घोषित करना शुरू कर दे. जोमैटो ने सफाई अभियान के तहत में अपनी नई ‘फूड क्वालिटी पॉलिसी’ का पालन नहीं करने वाले रेस्टोरेंट को हटाने की योजना बनाई है. यह कस्टमर्स की ओर से की जाने वाली शिकायतों को दूर करने की नई नीति का हिस्सा है.

ये भी पढ़ें- Russia-Ukraine War : संकट में सहारा बने भारतीय किसान, भूखी दुनिया को खिला रहे रोटी, निर्यात भी बढ़ा

जोमैटो ने कहा, “फूड क्वालिटी से संबंधित गंभीर शिकायतों वाले रेस्टोरेंट को हमारे प्लेटफॉर्म से हटा दिया जाएगा.” कंपनी ने कहा है कि जब तक एफएसएसएआई की ओर से अप्रूव्ड थर्ड पार्टी जांच नहीं हो जाती, जोमैटो रेस्टोरेंट को ऑनलाइन ऑर्डर लेने से इनकार करेगा. साथ ही जोमैटो ने यह भी कहा है कि निरीक्षण की लागत रेस्टोरेंट वहन करेगी. इसने यह भी कहा कि गंभीर और बार-बार अपराध करने पर रेस्टोरेंट जोमैटो पर ऑनलाइन ऑर्डर लेने से अक्षम हो जाएंगे.

ये भी पढ़ें- Business Idea: सहजन की खेती में होती है भरपूर कमाई, एक बार लगाएं और चार साल पाएं फल

पार्टनर रेस्टोरेंट को भेजा नोट
पार्टनर रेस्टोरेंट को भेजे गए एक नोट में कंपनी ने कहा, “फूड क्वालिटी पर की गई कोई भी शिकायत जिससे कस्टमर्स के स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान हो सकता है, उसे गंभीर खाद्य गुणवत्ता शिकायत के रूप में वर्गीकृत किया जाएगा.” नोट में कहा गया है कि उदाहरण के तौर पर भोजन में कीड़े, एक्सपायर्ड भोजन, शाकाहारी के बजाय मांसाहारी भोजन परोसना आदि इसमें शामिल हैं. कंपनी ने कहा है कि कस्टमर्स की शिकायत मिलने पर वह मामले की पूरी जांच करेगा.

Tags: Business news in hindi, Food diet, Online Order, Zomato

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें