Black Fungus के मरीजों के लिए राहत की खबर! Zydus Cadila और TLC भारत में उपलब्‍ध कराएंगी इसकी दवाई

ब्लैक फंगस के इलाज में इस्‍तेमाल होने वाले इंजेक्‍शन की काफी किल्‍लत हो रही है.

ब्लैक फंगस के इलाज में इस्‍तेमाल होने वाले इंजेक्‍शन की काफी किल्‍लत हो रही है.

जायडस कैडिला (Zydus Cadila) ने बताया कि उसने ताइवान की कंपनी टीएलसी (TLC) के साथ भारत में एम्‍फोटीएलसी (AmphoTLC) बेचने के लिए करार किया है. समझौते की शर्तों के मुताबिक, टीएलसी एम्‍फोटीएलसी को नॉन-एक्सलूसिव बेसिस पर तैयार कर जायडस को सप्लाई करेगी. इसके बाद जायडस कैडिला भारत में इसकी बिक्री करेगी.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस महामारी के साथ देश में ब्‍लैक फंगस के मामले भी लगातार तेजी से बढ़ रहे हैं. इससे इसके इलाज में इस्‍तेमाल होने वाले जरूरी इंजेक्‍शन की कमी हो गई है. इस बीच जायडस कैडिला (Zydus Cadila) और ताइवान की फार्मास्युटिकल कंपनी टीएलसी (TLC) ने ब्‍लैक फंगस के मरीजों के लिए राहतभरी घोषणा की है. दोनों फार्मा कंपनियों ने कहा कि उन्होंने भारत में म्‍यूकरमायकोसिस (mucormycosis) यानी ब्लैक फंगस का इलाज करने के लिए जरूरी ड्रग Liposomal Amphotericin B को बेचने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं. ऐसे में उम्‍मीद की जा सकता है कि अब जल्‍द ही ब्‍लैक फंगस की दवाई आसानी से मिल सकेगी.

टीएलसी बनाएगी और कैडिला भारत में बेचेगी दवा

जायडस कैडिला ने कहा कि दोनों कंपनियों ने भारत में एम्‍फोटीएलसी (AmphoTLC) को बेचने के लिए करार किया है. समझौते की शर्तों के मुताबिक, टीएलसी एम्‍फोटीएलसी को नॉन-एक्सलूसिव बेसिस पर निर्माण कर जायडस को सप्लाई करेगी. इसके बाद जायडस कैडिला भारत में इस दवाई की बिक्री करेगी. कैडिला हेल्थकेयर के प्रबंध निदेशक शारविल पटेल ने कहा कि भारत ब्लैक फंगस का इलाज करने के लिए दवाई की किल्लत का सामना कर रहा है. ऐसे समय में वह इस जरूरी ड्रग को तत्काल आधार पर उपलब्ध करा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जीवन के लिए खतरनाक संक्रमण से सुरक्षित और प्रभावी थैरेपी के साथ निपटने की जरूरत है. टीएलसी के प्रसिडेंट George Yeh ने कहा कि वह भारत को एम्‍फोटीएलसी की पहली खेप बहुत ही जल्द डिलिवर करेंगे.

ये भी पढ़ें- PFRDA का नया रिकॉर्ड! सिर्फ 7 महीने के भीतर AUM में 1 लाख करोड़ की बढ़ोतरी, संपत्ति पहुंचीं ₹6 लाख करोड़ के पार
टीएलसी की न्‍यू ड्रग एप्‍लीकेशन को मिली मंजूरी

सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन ने टीएलसी की न्यू ड्रग ऐप्लीकेशन (NDA) को Amphotericin B Liposome के लिए मंजूरी दे दी है. जायडस कैडिला ने कहा कि हाल के दिनों में ब्लैक फंगस के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए AmphoTLC देश में Liposomal Amphotericin B की कमी को पूरा करने में मदद करेगी. म्‍यूकरमायकोसिस गंभीर फंगल इन्फेक्शन है, जिसे ब्लैक फंगस भी कहा जाता है. वहीं, कोविड-19 से जुड़ा म्‍यूकरमायकोसिस जीवन के लिए खतरनाक साबित हो रहा है. इसके मुताबिक, AmphoTLC एक Liposomal Amphotericin B इंजेक्शन है, जो गंभीर सिस्टमेटिक फंगल इन्फेक्शन जैसे mucormycosis के लिए होता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज