यूपी बोर्ड दिलचस्प किस्से : देश के सबसे बड़े हिंदीभाषी प्रदेश में 11 लाख छात्र हिंदी में ही हुए फेल

यूपी बोर्ड दिलचस्प किस्से : देश के सबसे बड़े हिंदीभाषी प्रदेश में 11 लाख छात्र हिंदी में ही हुए फेल
कोरोना वायरस की वजह से देश के अधिकतर राज्यों में परीक्षाएं स्थगित कर दी गईं थीं.

UP Board Results : हैरान करने वाली बात तो ये है कि पिछले साल दसवीं की परीक्षा देने वाले कुल बच्चों में से 25 फीसदी हिंदी में फेल हो गए थे.

  • Share this:
नई दिल्ली. आमतौर पर जिस क्षेत्र में जो भाषा बोली जाती है, वहां अधिकतर लोगों की उस पर अच्छी पकड़ और अच्छी समझ मानी जाती है. लेकिन अगर आप यूपी बोर्ड 2018 (UP Board 2018) के नतीजों पर नजर डालेंगे तो शायद अपने हाथों से अपना सिर ही पकड़ लें. जी हां, साल 2018 में यूपी बोर्ड के दसवीं और बारहवीं के नतीजों को देखकर हर कोई हैरान था. हैरानी की वजह दिलचस्प थी, इतनी दिलचस्प कि देश के सबसे बड़े हिंदीभाषी राज्य उत्तर प्रदेश के बोर्ड एग्जाम में 11 लाख से अधिक स्टूडेंट्स हिंदी (Hindi) विषय में ही फेल हो गए थे.

यूपी बोर्ड रिजल्ट से जुड़ी जानकारी सबसे पहले पाने के लिए यहां रजिस्टर करें-


दसवीं में 25 फीसदी तो 12वीं में 13 फीसदी छात्र हिंदी में फेल

दरअसल, यूपी बोर्ड 2018 (UP Board 2018) में दसवीं के एग्जाम में 30,28,767 स्टूडेंट्स ने हिस्सा लिया था. कमाल की बात है कि इनमें से करीब 25 फीसदी यानी 7,80,582 स्टूडेंट्स हिंदी (Hindi) में फेल हो गए. वहीं 12वीं के एग्जाम में 26,04,93 स्टूडेंट्स बैठे, जिनमें से करीब 13 फीसदी यानी 3,38,776 स्टूडेंट्स हिंदी तक में पास नहीं हो सके. साल 2018 में जब यूपी बोर्ड के नतीजे घोषित हुए, तो सबसे बड़ा सवाल यही था कि आखिर हिंदी में इतने छात्र कैसे फेल हुए. आखिर बोर्ड परीक्षाएं देने वाले 56 लाख से ज्यादा छात्रों में से 11 लाख से ज्यादा छात्र हिंदी में फेल जो हो गए थे.



पेरेंट्स से लेकर टीचर्स तक हैरान
यूपी बोर्ड 2018 (UP Board 2018) में 11 लाख छात्रों के हिंदी (Hindi) में फेल होने से हर कोई हैरान था. पेरेंट्स तो परेशान थे ही, टीचर्स भी कम अचंभित नहीं थे. टीचर्स ने तो यहां तक कहा कि हिंदी भाषा की उपेक्षा की ही परिणाम है कि इतनी बड़ी संख्या में छात्र इस विषय में फेल हो गए. बदलते वक्त के साथ हिंदी भाषा को लेकर छात्रों में उदासिनता आई है. जिसकी वजह से ही साल 2018 का रिजल्ट खराब रहा था.

ये भी पढ़ेंः
देशभर में बोर्ड एग्जाम को लेकर आज होगा अहम फैसला! जानिए आप पर होगा क्या असर
बड़ी बात : 30 साल पुराने तरीके से होगी अब 10वीं क्लास में पढ़ाई!

यूपी बोर्ड 2020 के नतीजे जल्द होंगे घोषित
यूपी बोर्ड 2020 (UP Board 2020) के नतीजे जून के अंत तक घोषित किए जाएंगे. माना जा रहा है कि इस बार दसवीं और बारहवीं के नतीजे अलग-अलग घोषित किए जा सकते हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से देश में लागू किए गए लॉकडाउन (Lockdown) से पहले ही यूपी बोर्ड की दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं आयोजित की जा चुकी थीं. हालांकि लॉकडाउन के चलते मूल्यांकन के काम में थोड़ी देरी हुई, लेकिन अब बोर्ड नतीजे घोषित करने की पूरी तैयारी कर रहा है.

Global Ranking 2021 : IIT बांबे चुनी गई भारत की सर्वश्रेष्ठ यूनिवर्सिटी

सरकार अगर परमिशन दे तो भी बच्चों को स्कूल भेजने को तैयार नहीं पैरेंट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज