लॉकडाउन के बाद दिल्ली सरकार के स्कूलों से 15% छात्रों का कोई अता-पता नहीं

लॉकडाउन के बाद दिल्ली सरकार के स्कूलों से 15% छात्रों का कोई अता-पता नहीं
15 फीसदी छात्र ऐसे हैं जिन्होंने स्कूल से कोई संपर्क नहीं किया है.

दिल्ली सरकार के 1100 से अधिक स्कूलों में करीब 15 लाख छात्र पंजीकृत हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 10, 2020, 6:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि राष्ट्रीय राजधानी के स्कूलों में पंजीकृत करीब 15 फीसदी छात्रों का लॉकडाउन लागू होने के बाद से ही कोई अता-पता नहीं है. ये विद्यार्थी आनलाइन कक्षाओं में भी शामिल नहीं हो पा रहे हैं.

छात्रों का पता लगाए जाने के प्रयास
सिसोदिया ने कहा कि इन छात्रों का पता लगाने के लिये प्रयास किये जा रहे हैं ताकि उन्हें प्रणाली में वापस लाया जा सके . सिसोदिया दिल्ली सरकार में शिक्षा मंत्री भी हैं.

उन्होंने न्यूज एजेंसी से कहा, 'हमलोग पूरी तरह से अध्यापन का संचालन कर रहे हैं. यह या तो आनलाइन हो रहा है अथवा फोन के माध्यम से. शिक्षकों को प्रत्येक छात्र के साथ व्यक्तिगत भागीदारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है.
15 फीसदी छात्रों का पता नहीं


अबतक अधिकतम 15 फीसदी छात्र ऐसे हैं जिनका पता नहीं चल पाया है अथवा उन्होंने स्कूल से कोई संपर्क नहीं किया है. न ही वे कक्षाओं में शामिल नहीं हो पा रहे हैं .'

छात्र पुराने पते पर नहीं रह रहे
मनीष सिसोदि ने कहा, 'मैं व्यक्तिगत रूप से इसकी समीक्षा कर रहा हूं और हमें कुछ छात्रों का पता चला है. अन्य मामलों में छात्र या तो उस पते पर नहीं रह रहे हैं. हमारे पास रिकार्ड में उनका जो फोन नंबर है, उसका कोई अता पता नहीं है. मैने स्कूल प्रबंधन समिति से कहा है कि उन विद्यार्थियों का पता लगाया जाना चाहिये.

ये भी पढ़ें-
बड़ी खबर: प्रधानमंत्री ने कहा-1 सितंबर से खुलने चाहिए देश के सभी स्कूल
इस राज्य में कोरोना योद्धाओं को मुआवजा, मरने वालों में 40% शिक्षक, उन्हें कोई मदद नहीं

1100 से अधिक स्कूलों में करीब 15 लाख छात्र पंजीकृत 
कुछ ऐसे छात्र हैं जो बिहार एवं उत्तराखंड स्थित अपने घर चले गये लेकिन हमारे संपर्क में हैं और कक्षाओं में शामिल हो रहे हैं. यह पूछे जाने पर कि कितने ऐसे विद्यार्थी हैं जिनका पता नहीं चल रहा है, सिसोदिया ने कहा, 'औसतन हर कक्षा में चार पांच विद्यार्थी हैं जो इस श्रेणी में हैं. उनमें से कई छठी कक्षा के हैं और बाकी कक्षाओं में यह संख्या बहुत कम है. दिल्ली सरकार के 1100 से अधिक स्कूलों में करीब 15 लाख छात्र पंजीकृत हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading