लाइव टीवी

त्रिपुरा सरकार ने स्कूली शिक्षा में सुधार के लिए 23 महीने में लागू की 21 योजना

News18Hindi
Updated: February 14, 2020, 11:27 AM IST
त्रिपुरा सरकार ने स्कूली शिक्षा में सुधार के लिए 23 महीने में लागू की 21 योजना
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री विप्लव कुमार देब .

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री विप्लव कुमार देब (Biplab Kumar Deb) ने योजनाओं की जानकारी देते हुए राज्य की पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 14, 2020, 11:27 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. त्रिपुरा के मुख्यमंत्री विप्लव कुमार देब (Biplab Kumar Deb ) ने राज्य की शिक्षा व्यवस्था (Education system) को सुधारने के लिए कुल 21 योजनाएं (plans) लागू की हैं. योजनाओं को लॉन्च करते हुए मुख्यमंत्री विप्लव देब ने राज्य की पूर्ववर्ती सरकारों पर बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया. देब ने दावा किया कि उनकी लागू की गई योजनाओं से राज्य की शिक्षा व्यवस्था में सुधार होगा और राज्य का बच्चा-बच्चा तरक्की करेगा.

बुधवार को एक आधिकारिक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री विप्लब कुमार देव ने कहा कि मेरी जानकारी में अभी तक कोई ऐसा राज्य नहीं हैं, जिसमें 23 महीने में 21 योजनाएं सिर्फ शिक्षा में सुधार के लिए लागू किया हो.

देव ने कहा कि हमारी सरकार ने 23 महीने में स्कूली शिक्षा में सुधार के लिए 21 योजनाएं लागू की हैं. पूर्वी त्रिपुरा के खोवाई में कल्याणपुर हायर सेकेंड्री स्कूल का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री विप्लव कुमार देब ने नए एनसीईआरटी करिकुलम से लोगों को परिचय कराया.

21 new schemes, Tripura government, quality of education, Tripura government, Chief Minister Biplab Kumar Deb, carrer त्रिपुरा सरकार, एजुकेशन सिस्टम, 21 योजनाएं, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री, विप्लब देव कुमार, शिक्षा व्यवस्था, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री विप्लव देव कुमार
पूर्वी त्रिपुरा के खोवाई में कल्याणपुर हायर सेकेड्री स्कूल का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री विप्लव देब ने नए एनसीईआरटी करिकुलम से लोगों को परिचय कराया.


मुख्यमंत्री ने बताया कि स्कूली शिक्षा में सुधार की दिशा में काम करते हुए हमने करीब 50 नए स्कूल खोले. इसके साथ ही हमने 28 बंगाली और अंग्रेजी मीडियम स्कूल खोला. इन स्कूलों में अच्छी शिक्षा के लिए प्रशिक्षित और कुशल टीचरों की भर्ती की. इन सभी स्कूलों में मॉर्डन लाइब्रेरी, प्रयोगशाला और अन्य जरूरी सुविधाएं प्रदान की.

पूर्ववर्ती सरकारों पर लगाया आरोप
मुख्यमंत्री विप्लब कुमार देव ने कहा कि भाजपा सरकार के पहले राज्य में जो भी सरकारें थीं उन्होंने बच्चों के शिक्षा पर कोई ध्यान नहीं दिया. क्योंकि उन सरकारों को बच्चों के भविष्य से कोई मतलब नहीं था. देब ने कहा कि पिछली सरकारें नहीं चाहती थीं कि राज्य का बच्चा पढ़ें और लायक बने, लेकिन भाजपा सरकार सभी के हित के लिए काम करती है. खासकर उन बच्चों और युवाओं को अच्छी शिक्षा देने के पक्ष में है जो आगे देश के भविष्य हैं. देश की कमान उनके हाथों में जाने वाली हैं. इसलिए जरूरी है कि बच्चे पढ़ें.ये भी पढ़ें- CBSE अध्‍यक्ष ने ल‍िखा बोर्ड परीक्षार्थ‍ियों और अभ‍िभावकों के नाम लेटर, कहा- बोर्ड के अंक नहीं ज‍िंदगी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2020, 11:07 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर