UPSC Civil Services Exam 2019 में जामिया की आवासीय कोचिंग अकादमी के 30 छात्र सेलेक्ट

UPSC Civil Services Exam 2019 में जामिया की आवासीय कोचिंग अकादमी के 30 छात्र सेलेक्ट
30 उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा 2019 में सेलेक्ट हुए हैं.

साल, 2010-2011 में अपनी स्थापना से वर्ष 2019 तक आरसीए ने 230 सिविल सेवक बनाए हैं, जिनमें कई आईएएस, आईएफएस और आईपीएस शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 7:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जामिया मिलिया इस्लामिया की आवासीय कोचिंग अकादमी (आरसीए) में कोचिंग देने और प्रशिक्षण पाने वालों में से 30 उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा 2019 में सेलेक्ट हुए हैं. इनमें से 25 आरसीए में रह कर प्रशिक्षित हुए और 05 का मॉक साक्षात्कार कार्यक्रम में प्रशिक्षिण हुआ. देश के किसी भी सार्वजनिक कोचिंग सेंटर से यह सबसे बड़ा चयनित समूह है.

30 में से 06 लड़कियां
चयनित 30 उम्मीदवारों में से 06 के आईएएस, 08 के आईपीएस बनने की उम्मीद है. बाकी उम्मीदवारों को उनकी रैंकिंग और विकल्पों के अनुसार आईआरएस, आडिट एंड अकाउंट सेवा, आईआरटीएस तथा ग्रुप-ए की अन्य सेवाएं मिलेंगी. इस साल आरसीए से कोचिंग पाने वालों में से रूचि बिंदल का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा, जिन्होंने 39 वां रैंक हासिल किया. आरसीए के कामयाब 30 उम्मीदवारों में से 06 लड़कियां हैं.

साल दर साल लगातार अच्छा प्रदर्शन
जामिया की कुलपति प्रो नजमा अख्तर ने कहा कि यूपीएससी परीक्षाओं में, विश्वविद्यालय की आरसीए ने साल दर साल लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है, जो जामिया के लिए बहुत गर्व और संतोष की बात है. हमें आने वाले वर्षों में और भी बेहतर नतीजों की उम्मीद है.



आरसीए के अच्छे प्रदर्शन के लिए, प्रो अख्तर व्यक्तिगत रूप से मार्गदर्शन कर रही हैं और आरसीए को उत्कृष्टता की ओर ले जाने के लिए उसे हर मुमकिन सहायता प्रदान करा रही हैं. उन्होंने सभी कामयाब छात्रों और उनके परिवार को बधाई दी. पिछले साल यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में तीसरा रैंक पाने वाले जुनैद अहमद आरसीए, जेएमआई से स्टार परफार्मर थे.

2019 तक आरसीए ने 230 सिविल सेवक दिए
साल, 2010-2011 में अपनी स्थापना से वर्ष 2019 तक आरसीए ने 230 सिविल सेवक बनाए हैं, जिनमें कई आईएएस, आईएफएस और आईपीएस शामिल हैं. इसके अलावा, 285 से अधिक छात्रों को विभिन्न अन्य केंद्रीय और राज्य सेवाओं यानी सीएपीएफ, आईबी, आरबीआई (ग्रेडबी), एपीएफ, बैंक पीओ और पीसीएस आदि में भी चुना गया है. इस साल आरसीए के 14 छात्र जम्मू-कश्मीर की सीविल सेवाओं में शामिल हुए. 24 छात्र यूपीपीएससी साक्षात्कार के क्वालिफाई हुए और 15 छात्र बीपीएससी साक्षात्कार के लिए.

2010 में स्थापना
यूजीसी ने 2010 में सेंटर फॉर कोचिंग एंड करियर प्लानिंग (सीसीएंडसीपी), के तत्वावधान में आरसीए, जामिया की स्थापना की थी. इसके तहत एससी, एसटी छात्रों, महिलाओं और अल्पसंख्यकों को सिविल सेवा और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुफ्त कोचिंग और आवासीय सुविधाएं मुहैया कराई जाती हैं. अखिल भारतीय लिखित परीक्षा और व्यक्तिगत साक्षात्कार के बाद छात्रों को आरसीए की व्यापक कोचिंग के लिए चुना जाता है.

ये भी पढ़ें-
मिसाल:कम उम्र में शादी की वजह से छूटी थी पढ़ाई,मां बेटे ने साथ में पास की 10th
दिल्ली सरकार से फंडिड DU कॉलेजों के स्टाफ को तीन महीने से नहीं मिली सैलरी

इंटरव्यू के लिए 500 घंटों की कक्षाएं
आरसीए छात्रों के लिए बहुत ही व्यवस्थित और बहुमुखी कोचिंग एवं व्यक्तित्व विकास कार्यक्रम प्रदान कराता है. इसमें सीविल सेवाओं की परीक्षाओं के विभिन्न चरणों यानी प्रीलिम्स, मेन और इंटरव्यू के लिए कुल मिला कर 500 घंटों से अधिक समय की कक्षाआएं और साक्षात्कार प्रशिक्षण दिया जाता है. इसमें प्रख्यात विद्वानों और वरिष्ठ सिविल सेवकों के विशेष व्याख्यान, समूह चर्चा, टेस्ट श्रृंखला और मॉक-साक्षात्कार शामिल हैं. इसके अलावा, यह अकादमी छात्रों को चैबीसों घंटे की वातानुकूलित पुस्तकालय सुविधा और मुफ्त वाई-फाई भी प्रदान करती है. अकादमी सुरक्षित और सुविधाजनक छात्रावास सुविधाएं भी देती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज