परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 31,277 सहायक अध्यापकों की तैनाती के निर्देश जारी

26 से 28 अक्टूबर, 2020 तक जनपदों में काउंसलिंग होगी. (फाइल फोटो)
26 से 28 अक्टूबर, 2020 तक जनपदों में काउंसलिंग होगी. (फाइल फोटो)

किसी भी स्थिति में नवचयनित अध्यापकों की तैनाती ऐसे विद्यालयों में नहीं की जायेगी, जहां पूर्व से ही नियमावली 2011 के मानकों के अनुरूप अध्यापक तैनात हों.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2020, 3:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69,000 पदों के सापेक्ष चयनित 31,277 सहायक अध्यापकों की तैनाती समयबद्ध रूप से एक समय-सारिणी के अनुसार किये जाने के निर्देश दिये गये हैं.

26 से 28 अक्टूबर, 2020 तक जनपदों में काउंसलिंग 
समय-सारिणी के अनुसार 26 से 28 अक्टूबर, 2020 तक जनपदों में काउंसलिंग का आयोजन, 29 से 30 अक्टूबर, 2020 तक नवचयनित सहायक अध्यापकों को विद्यालय आवंटन की कार्यवाही तथा 31 अक्टूबर, 2020 से 03 नवम्बर, 2020 तक अध्यापकों द्वारा विद्यालय में कार्यभार ग्रहण किया जाएगा.

समस्त जिलाधिकारियों, महानिदेशक स्कूल शिक्षा को निर्देश
एक सरकारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार इस सम्बन्ध में अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा द्वारा एक पत्र के माध्यम से समस्त जिलाधिकारियों, महानिदेशक स्कूल शिक्षा, उत्तर प्रदेश तथा महानिदेशक बेसिक शिक्षा उत्तर प्रदेश को निर्देश दिये गये हैं.



छात्र-अध्यापक अनुपात के अनुसार ही अध्यापकों की तैनाती 
पत्र में कहा गया है कि इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखा जाये कि किसी भी विद्यालय में निःशुल्क एवं अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार नियमावली, 2011 में निहित छात्र-अध्यापक अनुपात के अनुसार ही अध्यापकों की तैनाती की जाये. किसी भी स्थिति में नवचयनित अध्यापकों की तैनाती ऐसे विद्यालयों में नहीं की जायेगी, जहां पूर्व से ही नियमावली 2011 के मानकों के अनुरूप अध्यापक तैनात हों.

ये भी पढ़ें-
BPSC 66th Prelims 2020: प्री एग्‍जाम के लिए आवेदन की तारीख बढ़ी, रिक्तियों की संख्या भी बढ़ाई
12th supplementary result : मध्य प्रदेश बोर्ड ने जारी किया 12वीं सप्लीमेंट्री का रिजल्ट, यहां करें चेक

काउंसलिंग स्थल पर  कोविड-19 दिशा-निर्देशों का अनुपालन
काउंसलिंग स्थल पर केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 के सम्बन्ध में जारी दिशा-निर्देशों का भी पूर्ण अनुपालन सुनिश्चित किया जाये और इस संबंध में समस्त आवश्यक तैयारियां पूर्व से ही करा ली जायें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज