CBSE स्टूडेंट्स दें ध्यान! अगर नहीं किया ये काम तो परीक्षा में शामिल होना मुश्किल

इतना ही नहीं इस बार ये उम्मीद जताई जा रही है कि सीबीएसई के प्रैक्टिकल एग्जाम्स पिछले साल से पहले करवाएं जाएंगे.

News18Hindi
Updated: December 4, 2018, 5:24 PM IST
CBSE स्टूडेंट्स दें ध्यान! अगर नहीं किया ये काम तो परीक्षा में शामिल होना मुश्किल
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: December 4, 2018, 5:24 PM IST
अगर आप सीबीएसई स्टूडेंट हैं और इस बार 10वीं या 12वीं की बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले हैं तो ये खबर आपके लिए बहुत जरूरी है. सीबीएसई स्टूडेंट्स का 75 प्रतिशत अटेंडेंस जरूरी है. ऐसा नहीं होने पर उन्हें परीक्षा में बैठने से रोका जा सकता है. सीबीएसई ने सारे स्कूल प्रशासन को निर्देश दिया है कि वे 10वीं और 12वीं बोर्ड के स्टूडेंट्स की उपस्थिति की गणना शुरुआत से लेकर 1 जनवरी 2019 तक करें. सीबीएसई ने कहा कि 15 जनवरी के बाद किसी तरह के एप्लीकेशन पर गौर नहीं किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- CBSE स्टूडेंट्स के लिए जरूरी खबर, इस दिन जारी होगी बोर्ड परीक्षा की डेटशीट

क्यों किया गया ये बदलाव
दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले की वजह से सीबीएसई ने ये कदम उठाया है. दरअसल हाईकोर्ट ने सीबीएसई को आदेश दिया था कि दिल्ली एडमिशन प्रोसेस से पहले रि-चेकिंग के नतीजे भी जारी किए जाएं. ऐसे में सीबीएसई को डीयू एडमिशन प्रक्रिया से पहले रिजल्ट जारी करना होगा. इतना ही नहीं इस बार ये उम्मीद जताई जा रही है कि सीबीएसई के प्रैक्टिकल एग्जाम्स पिछले साल से पहले करवाएं जाएंगे.

ये भी पढ़ें- CBSE स्टूडेंट्स ऐसे करेंगे पढ़ाई तो मैथ्स में मिलेंगे फुल मार्क्स!

पास होने के नियमों में भी हुआ बदलाव
इससे पहले सीबीएसई ने स्टूडेंट्स के पास होने के नियमों में भी बदलाव किया था. अगले साल से किसी भी विषय में थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों को मिलाकर 33 फीसदी नंबर पाने वाले स्टूडेंट्स को पास माना जाएगा. इससे पहले स्टूडेंट्स को थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों में अलग-अलग न्यूनतम अंक लाकर पास होना होता था. सीबीएसई के इस फैसले से अब स्टूडेंट्स के लिए बोर्ड परीक्षा में पास होना और आसान हो गया है.
Loading...

एजुकेशन की दूसरी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर