लाइव टीवी

8 साल की बच्ची ने बनाया आधुनिक मास्‍क, प्रधानमंत्री को लिखा ये खास संदेश

News18Hindi
Updated: November 15, 2019, 8:52 AM IST
8 साल की बच्ची ने बनाया आधुनिक मास्‍क, प्रधानमंत्री को लिखा ये खास संदेश
पर्यावरण को बचाने के लिए 8 साल की बच्ची ने उठाया ये कदम, प्रधान मंत्री के लिए लिखा खास संदेश

मण‍िपुर की रहने वाली लिसीप्रिया कंगुजम (Licypriya Kangujam) ने एक खास तरह का मास्‍क तैयार कि‍या है, जो साफ हवा देगा. ल‍िसीप्र‍िया ने प्रधानमंत्री के नाम ये खास संदेश भी द‍िया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 8:52 AM IST
  • Share this:
इरादे अगर नेक हों तो उम्र कोई मायने नहीं रखती और मण‍िपुर की रहने वाली लिसीप्रिया कंगुजम (Licypriya Kangujam) ने ये साबित कर दिया. पर्यावरण के दिन ब दिन बिगड़ते हालातों को देखते हुए एक 8 साल की बच्ची ने इसके खिलाफ लड़ने का फैसला किया है. लिसीप्रिया कंगुजम का कहना है कि वैश्‍व‍िक नेताओं (global leaders) को अपनी कही गई बातों पर अमल करना चाहिए. जून में जब पूरे देश में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा था, उस दिन दूसरी कक्षा की लिसीप्रिया सांसद भवन के बाहर खड़े होकर प्राधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जलवायु परिवर्तन कानून बनाने की अपील कर रही थींं.

तैयार किया आधुनिक पॉल्यूशन मास्क
इतना ही नहीं, लिसीप्रिया बहुत कम उम्र से ही पर्यावरण संरक्षण के लिए होने वाली अवेयरनेस कैंपेन, रैलीज और नेचुरल डिजास्टर से पीड़ित लोगोंं की मदद में अपना योगदान देना शुरू कर दिया था. इसके अलावा हाल ही में उन्होंने एक ऐसा मास्क तैयार किया है जो भविष्य में लोगों को प्रदूषण के प्रभाव से बचाएगा. इसे इस मास्क का नाम ‘survival kit for the future’ (SUKIFU) रखा गया, जिसे लिसीप्रिया ने इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (Indian Institute of Technology ), जम्मू में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स की मदद से बनाया है. इस किट में कांच के एक बॉक्स में पौधा लगाया होता है, जो मास्क से जुड़ा होता है और इससे साफ हवा ले सकते हैं.

यूएन में भारत को रिप्रजेंट करने वाली सबसे छोटी उम्मीदवार बनीं 

उन्होंने कई अंतरराष्ट्रीय मंचों पर वैश्‍व‍िक नेताओं से जलवायू परिवर्तन के मुद्दे पर विचार करने और नेचुरल डिजास्टर्स को कम करने के लिए काम करने की गुजारिश की. लिसीप्रिया ने 7 साल की उम्र में ही पर्यावरण को बचाने के लिए अवाज उठाई और यूनाइटेड नेशन, हेडक्वाटर, न्यूयॉर्क में भारत को रिप्रजेंट करने वाली सबसे छोटी उम्मीदवार बनीं.

इन पुरिस्कारों से हुई सम्मानित
उनकी कोशिशों के लिए उन्हें बहुत से अवार्ड्स भी मिले जिसमें डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम चिल्ड्रन अवार्ड ( Dr APJ Abdul Kalam Children Award ) 2019, इंडिया पीस प्राइज 2019 ( India Peace Prize) और वर्ल्ड चिल्ड्रन पीस प्राइज 2019 (World Children Peace Prize 2019) शामिल हैं. ग्रेटा थनबर्ग के साथ लिसीप्रिया ने भी यूएन जनरल असेंबली 2019 में भाग लिया था.ये भी पढ़ें :
Children's day special: क्या आपको पता है क्यों मनाया जाता है बाल दिवस
IIT और IIM से निकले युवाओं ने शुरू किया स्टार्टअप, कमाई पहुंची 100 करोड़
Nursery admissions 2020: इस तारीख से शुरू हो रहा है दिल्‍ली में नर्सरी एडमिशन

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए करियर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 8:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर